7 Days NSS Camp Valedictory Function


जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के एनएसएस शिविर का विधिवत् समापन
वर्तमान में भारत की सबसे बड़ी ताकत है इसकी युवाशक्ति – डॉ.मलिक

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित मैमोरियल कॉलेज की एन.एस.एस. इकाई द्वारा गांव वेदवाला में आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर का विगत दिवस विधिवत् रूप से समापन हुआ। इस मौके पर शिक्षण महाविद्यालय के सभागार में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। वहीं इस मौके पर जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ जयप्रकाश एवं रेडक्रास सोसाइटी के प्रशिक्षण अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार विशेष रूप से उपस्थित हुए। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.प्रदीप स्नेही द्वारा की गई जिन्होंने आए हुए अतिथिगणों को फूलों के गुलदस्ते भेंट करके उनका स्वागत किया। वहीं कार्यक्रम का मंच संचालन प्रो.सविता व प्रो.पूनम द्वारा किया गया। इसकी शुरुआत अतिथिगणों ने सरस्वती देवी की प्रतिमा के आगे दीप प्रज्ज्वलित करके की।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ.आर.आर.मलिक ने इस कार्यक्रम के आयोजन हेतु आयोजकों एवं स्वयंसेवकों की पीठ थपथपाते हुए अपने संबोधन में कहा कि आज भारत की सबसे बड़ी ताकत इसकी युवा शक्ति है, क्योंकि सम्पूर्ण विश्व की यदि बात कि जाए तो भारत ही एकमात्र देश है जिसमें युवाओं की तादाद सबसे ज्यादा है, यकीनन भारत में विश्व व्यवस्था को संचालित करने की अपूर्व क्षमता है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति और इतिहास से जुड़कर रहने का भी आह्वान किया क्योंकि संस्कृति और इतिहास ही व्यक्ति का वजूद बताता है, जिससे मन में देशभक्ति की भावना निहित होती है। डॉ.मलिक ने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ नैतिकता एवं सामाजिकता का पाठ पढ़ाना है, जिसमें ऐसे कार्यक्रम अपनी अह्म भूमिका अदा करते हैं।

डॉ.जयप्रकाश ने अपने संबोधन में सभी स्वयंसेवकों को ज्ञान,निष्ठा,शारीरिक स्वास्थ्य व योग का महत्व बताते हुए कहा कि एक युवा को इन्हें अपने जीवन में अपनाना चाहिये तथा जनसेवा हेतु अपने कर्तव्य को पूरी निष्ठा एवं लग्र के साथ निभाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सामाजिक हैं इसलिए सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए।

इस अवसर पर स्वयंसेवकों का हौंसला बढ़ाते हुए कॉलेज प्राचार्य डॉ.प्रदीप स्नेही ने कहा कि नि:स्वार्थ भाव से दूसरों की सेवा करना ही राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ का उद्देश्य होता है इसलिए स्वयंसेवकों को अपने कार्य एवं कर्तव्य को ध्यान में रखकर कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस सात दिवसीय एन.एस.एस कैम्प के दौरान संचालित होने वाली गतिविधियों ने विद्यार्थियों को जीवन के वो मायने सिखाएं हैं जो कि कॉलेज के प्रांगण में वे शायद ना सीख पाते। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवकों को इस प्रकार के कैंपों को केवल प्रमाण-पत्र प्राप्त करने का जरिया ना समझते हुए जो वास्तविकता में इन सात दिनों में जो स्वयं के अनुभव द्वारा जो सीखा है, चाहे वो स्वच्छता अभियान हो या बेटी बचाने की मुहिम, स्वास्थ्य के प्रति गाँव के लोगों को जागरूक करना हो या खुले में शौच-मुक्त समाज अभियान हो, को उन्हें अपने स्वयं के जीवन में अपनाना भी जरूरी है ताकि सही मायने में समाज में परिवर्तन लाया जा सकें।

इस कैम्प के कार्यकारी अधिकरी प्रो.सुधीर दगेलिया ने कैम्प की गतिविधियों के बारे में बताते हुए कहा कि ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ विषय को ध्यान में रखते हुए गांव वेदवाला में इस सात दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें स्वयंसेवकों ने स्वच्छता,जल संरक्षण,साक्षरता,शौच-मुक्त समाज जैसे विषयों को लेकर भी जागरूकता अभियान चलाया तथा ग्रामीणों को इनके बारे में जानकारी प्रदान की। इस कैंप के दौरान विद्यार्थियों हेतु प्राथमिक उपचार व होम नर्सिग की ट्रेनिंग हेतु रेडक्रास सोसाइटी के ट्रेनिंग अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार द्वारा किसी दुर्घटना के वक्त घायल व्यक्ति के लिए जीवनदाता की भूमिका अदा करने बारे जानकारी भी प्रदान की गई। वहीं इस मौके पर गांव के अनपढ़ व्यक्तियों के लिए साक्षरता अभियान,राष्ट्रीय एकता,सामाजिक भाईचारा जैसे विषयों पर जानकारी तथा विद्यार्थियों द्वारा स्वच्छता अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश भी प्रदान किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान स्वयंसेवकों ने समाजहित की भलाई हेतु कार्य कर रही संस्था भाई कन्हैया आश्रम का भ्रमण करके कुछ समय वहां के दिव्यांगों के साथ बिताकर उन्हें फल,मूँगफली रेवड़ी इत्यादि बांटकर उनके साथ दु:ख सांझा किया। रेडकॅ्रास सोसाइटी के द्वारा आयोजित रक्तदान कैम्प मे युवाओं द्वारा रक्तदान भी किया गया। इस कैम्प में बेस्ट कैम्परस के तौर पर सुरेन्द्र कुमार एवं मनदीप कुमार को चुना गया।

इस शिविर के समापन अवसर पर जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्रो.मंजू गोदारा,प्रो.सोमवीर,प्रो.सविता,प्रों कमलदीप के अलावा समूचा स्टाफ तथा संस्थान के सभी विद्यार्थियों सहित अनेक गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

NSS-Camp

JCD Memorial College – NSS Camps Ends

जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के एनएसएस शिविर का विधिवत् समापन
– वर्तमान में भारत की सबसे बड़ी ताकत है इसकी युवाशक्ति – डॉ. मलिक

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित मैमोरियल कॉलेज की एन.एस.एस. इकाई द्वारा गांव वेदवाला में आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर का विगत दिवस विधिवत् रूप से समापन हुआ। इस मौके पर शिक्षण महाविद्यालय के सभागार में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। वहीं इस मौके पर जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ जयप्रकाश एवं रेडक्रास सोसाइटी के प्रशिक्षण अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार विशेष रूप से उपस्थित हुए। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ. प्रदीप स्नेही द्वारा की गई

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ. आर.आर. मलिक ने इस कार्यक्रम के आयोजन हेतु आयोजकों एवं स्वयंसेवकों की पीठ थपथपाते हुए अपने संबोधन में कहा कि आज भारत की सबसे बड़ी ताकत इसकी युवा शक्ति है, क्योंकि सम्पूर्ण विश्व की यदि बात कि जाए तो भारत ही एकमात्र देश है जिसमें युवाओं की तादाद सबसे ज्यादा है, यकीनन भारत में विश्व व्यवस्था को संचालित करने की अपूर्व क्षमता है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति और इतिहास से जुड़कर रहने का भी आह्वान किया क्योंकि संस्कृति और इतिहास ही व्यक्ति का वजूद बताता है, जिससे मन में देशभक्ति की भावना निहित होती है। डॉ. मलिक ने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ नैतिकता एवं सामाजिकता का पाठ पढ़ाना है, जिसमें ऐसे कार्यक्रम अपनी अह्म भूमिका अदा करते हैं।

डॉ. जयप्रकाश ने अपने संबोधन में सभी स्वयंसेवकों को ज्ञान, निष्ठा, शारीरिक स्वास्थ्य व योग का महत्व बताते हुए कहा कि एक युवा को इन्हें अपने जीवन में अपनाना चाहिये तथा जनसेवा हेतु अपने कर्तव्य को पूरी निष्ठा एवं लग्र के साथ निभाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सामाजिक हैं इसलिए सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए।

इस अवसर पर स्वयंसेवकों का हौंसला बढ़ाते हुए कॉलेज प्राचार्य डॉ. प्रदीप स्नेही ने कहा कि नि:स्वार्थ भाव से दूसरों की सेवा करना ही राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ का उद्देश्य होता है इसलिए स्वयंसेवकों को अपने कार्य एवं कर्तव्य को ध्यान में रखकर कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस सात दिवसीय एन.एस.एस कैम्प के दौरान संचालित होने वाली गतिविधियों ने विद्यार्थियों को जीवन के वो मायने सिखाएं हैं जो कि कॉलेज के प्रांगण में वे शायद ना सीख पाते। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवकों को इस प्रकार के कैंपों को केवल प्रमाण-पत्र प्राप्त करने का जरिया ना समझते हुए जो वास्तविकता में इन सात दिनों में जो स्वयं के अनुभव द्वारा जो सीखा है, चाहे वो स्वच्छता अभियान हो या बेटी बचाने की मुहिम, स्वास्थ्य के प्रति गाँव के लोगों को जागरूक करना हो या खुले में शौच-मुक्त समाज अभियान हो, को उन्हें अपने स्वयं के जीवन में अपनाना भी जरूरी है ताकि सही मायने में समाज में परिवर्तन लाया जा सकें।

इस कैम्प के कार्यकारी अधिकरी प्रो. सुधीर दगेलिया ने कैम्प की गतिविधियों के बारे में बताते हुए कहा कि ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओÓ विषय को ध्यान में रखते हुए गांव वेदवाला में इस सात दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें स्वयंसेवकों ने स्वच्छता, जल संरक्षण, साक्षरता, शौच-मुक्त समाज जैसे विषयों को लेकर भी जागरूकता अभियान चलाया तथा ग्रामीणों को इनके बारे में जानकारी प्रदान की। इस कैंप के दौरान विद्यार्थियों हेतु प्राथमिक उपचार व होम नर्सिग की ट्रेनिंग हेतु रेडक्रास सोसाइटी के ट्रेनिंग अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार द्वारा किसी दुर्घटना के वक्त घायल व्यक्ति के लिए जीवनदाता की भूमिका अदा करने बारे जानकारी भी प्रदान की गई। वहीं इस मौके पर गांव के अनपढ़ व्यक्तियों के लिए साक्षरता अभियान, राष्ट्रीय एकता, सामाजिक भाईचारा जैसे विषयों पर जानकारी तथा विद्यार्थियों द्वारा स्वच्छता अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश भी प्रदान किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान स्वयंसेवकों ने समाजहित की भलाई हेतु कार्य कर रही संस्था भाई कन्हैया आश्रम का भ्रमण करके कुछ समय वहां के दिव्यांगों के साथ बिताकर उन्हें फल, मूँगफली रेवड़ी इत्यादि बांटकर उनके साथ दु:ख सांझा किया। रेडकॅ्रास सोसाइटी के द्वारा आयोजित रक्तदान कैम्प मे युवाओं द्वारा रक्तदान भी किया गया। इस कैम्प में बेस्ट कैम्परस के तौर पर सुरेन्द्र कुमार एवं मनदीप कुमार को चुना गया।

इस शिविर के समापन अवसर पर जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्रो. मंजू गोदारा, प्रंो. सोमवीर, प्रो. सविता, प्रों कमलदीप के अलावा समूचा स्टाफ तथा संस्थान के सभी विद्यार्थियों सहित अनेक गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

Road Safety Quiz Competition at JCDV

जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में सड़क सुरक्षा प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित
यातायात के नियमों का पालन दिल से करें भय से नहीं : अजय कुमार शर्मा

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय में हरियाणा पुलिस विभाग की ओर से जिला स्तर पर यातायात के नियमों व सड़क सुरक्षा नियमों पर प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें बतौर मुख्यातिथि सिरसा के डीएसपी श्री अजय कुमार शर्मा उपस्थित रहे। इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला ने विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश द्वारा की गई। यह प्रतियोगिता विभाग द्वारा लगातार 5 वर्षों से आयोजित की जा रही है, जिसमें स्कूल व कॉलेज के विद्यार्थियों में ग्रामीण, ब्लॉक, जिला स्तर, रेंज स्तर व राज्य स्तर पर यातायात नियमों सम्बन्धी प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। इस प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता कार्यक्रम का सफलतम मंच संचालन डॉ.राजेन्द्र कुमार द्वारा किया गया।

सर्वप्रथम प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने अपने संबोधन में समस्त अतिथियों का स्वागत करते हुए इस प्रश्रोतरी प्रतियोगिता में हिस्सा लें रहे प्रतिभागियों को अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की। उन्होंने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ सदैव प्रशासन के साथ है तथा उन्हें यह भरोसा दिलाता है कि हम आपको हरसंभव सहयोग प्रदान करते रहेंगे क्योंकि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा देना ही नहीं बल्कि उनको नैतिक मूल्यों तथा सामाजिक बनाना भी है।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डीएसपी श्री अजय कुमार शर्मा ने सर्वप्रथम प्राचार्य महोदय तथा जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति का आभार प्रकट करते हुए कहा कि सभी को यातायात नियमों की पालना मन से करनी चाहिए ना कि किसी के भय से क्योंकि अगर हम ट्रेफिक नियमों की पालना करते हैं तो इससे स्वयं का ही जीवन सुरक्षित होता है तथा दूसरें लोगों को भी होने वाले नुकसान से बचाया जा सकता है। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे जागरूक नागरिक बनें तथा पुलिस प्रशासन को सहयोग प्रदान करें ताकि नागरिकों एवं पुलिस के आपसी संबंध बेहतर बने रह सकें।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर अपने संबोधन में इंजी.आकाश चावला ने मुख्यातिथि एवं अन्य का स्वागत करते हुए कहा कि पुलिस एवं आम नागरिक के मध्य सांमजस्य स्थापित करने हेतु ऐसे कार्यक्रम एक पुल का कार्य करते हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में अधिकतर दुर्घटनाओं के शिकार यातायात नियमों की पालना न करने वाले ही होते हैं, इसलिए अपने जीवन के महत्व को समझें तथा इनकी मन से पालना करें, वहीं यह हमारा नैतिक कर्तव्य भी बनता है। उन्होंने कहा कि जिस इंसान में अपने देश के प्रति भक्ति की भावना निहित है वह इसे उजागर करें तथा अपडेट रहते हुए समस्त नियमों की पालना करके पुलिस प्रशासन का सहयोग करें।

इस मौके पर जिला स्तर में स्कूल स्तर पर 108 विद्यालयों की टीमों को आमंत्रित किया गया, जिसमें से 91 स्कूलों की टीमों द्वारा हिस्सा लिया गया व 15 कॉलेज स्तर पर टीमों को आमंत्रित किया गया जिसमें से 11 टीमों ने हिस्सा लिया। इसमें फाइनल में कुल 4 टीमों का चयन किया गया। इनमें पहले लेबल पर महाराजा अग्रसैन सी.सै.स्कूल, सिरसा, दूसरे लेबल पर सतलुल पब्लिक स्कूल, मण्डी डबवाली, तीसरे लेबल पर स्वामी विवेकानंद सी.सै.स्कूल अरनियांवाली एवं चौथे लेबल पर जेसीडी आईबीएम कॉलेज को चयनित किया गया, जिसे मुख्यातिथि एवं अन्य द्वारा पुरस्कार एवं प्रमाण-पत्र प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस प्रतियोगिता में क्वीज मास्टर के रूप में मुकेश जालन्धरिया ने अपनी भूमिका निभाई। वहीं इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु पुलिस विभाग की ओर से एसएचओ ट्रेफिक अनिल कुमार, एएसआई ट्रैफिक थाना सिरसा राजकुमार, एएसआई कालांवाली राजकुमार, आरएसओ सौरभ रोहिल्ला, आरएसओ शशिकांत ने अपना अमूल्य योगदान प्रदान किया। इस मौके पर शिक्षण महाविद्यालय का समूचा स्टॉफ तथा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

Celebration of Lohri and Makar Sankaranti


जेसीडी विद्यापीठ प्रांगण में हर्षोल्लास से मनाया गया लोहड़ी एवं मकर संक्राति का पावन पर्व
– संस्थान में स्थापित जेसीडी डेन्टल कॉलेज के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में,इंजीनियरिंग,आईबीएम,मैमोरियल,शिक्षण महाविद्यालय,फार्मेसी व महिला एवं पुरूष छात्रावास के विद्यार्थियों ने भी डाली पावन अग्रि में आहूति

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित डेन्टल कॉलेज के सौजन्य से अन्य सभी कॉलेजों के सांझा सहयोग सहित लोहड़ी एवं मकर संक्रांति का पावन पर्व के अवसर पर मस्ती का आलम रहा तथा विद्यार्थियों ने मनोरंजक प्रस्तुतियों के माध्यम से खूब वाहवाही लूटी तथा इस त्यौहार को धूमधाम से मनाया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ बतौर मुख्यातिथि शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में जेसीडी डेन्टल कॉलेज के प्रबंधक प्रतिनिधि श्री सिद्धार्थ झींझा द्वारा पावन अग्रि में तिल व मूंगफली डालकर किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. राजेश्वर चावला द्वारा की गई। वहीं इस अवसर पर उनके साथ जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता के अलावा विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ.जयप्रकाश, डॉ.विनय लाठर, डॉ.प्रदीप स्नेही, डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.हिमांशु मोंगा व इंजी.आर.एस.बराड़ सहित अनेक अधिकारीगण,स्टॉफ सदस्य एवं गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर विभिन्न कॉलेजों के विद्यार्थियों द्वारा संयुक्त रूप से एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें कार्यक्रम का प्रारंभ लोहड़ी से जुड़े लोकगीत द्वारा किया गया तथा इसके पश्चात् विभिन्न छात्र-छात्राओं ने अपनी प्रस्तुति देकर अपनी प्रतिभा का विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से प्रदर्शन किया तथा लोहड़ी को यादगार बनाया। वहीं जेसीडी डेन्टल कॉलेज के विद्यार्थियों ने भी विभिन्न गीतों पर नृत्य,भंगड़ा एवं लोहड़ी के गीतों पर गिद्दा इत्यादि प्रस्तुत किया।

इस मौके पर बतौर मुख्यातिथि डॉ.आर.आर.मलिक ने सभी विद्यार्थियों एवं अतिथियों को लोहड़ी एवं मकर संक्रांति की बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि लोहड़ी का त्यौहार सम्पूर्ण उत्तर भारत में मनाया जाने वाला प्रसिद्ध त्यौहार है,जिसे सभी लोग बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं। उन्होंने कहा कि इस त्यौहार का सम्बन्ध खेतों की खुशहाली, सम्बन्धों में गर्माहट और शीत ऋतु के सम्मान का प्रतीक है। उन्होंनेे कहा कि आजकल की युवा पीढ़ी पाश्चात्य सभ्यता को अपनाती जा रही है और हमारी पौराणिक संस्कृति से जुड़े तीज-त्यौहारों को भुलती जा रही हैं, जिससे हमारी संस्कृति का हनन हो रहा है। उन्होंने कहा कि आप सभी युवा है तथा आपमें जिस प्रकार किसी सांस्कृतिक कार्यक्रम को लेकर जो उत्साह देखने को मिलता है,उसी प्रकार का उत्साह अपने शिक्षण एवं खेलों में भी दिखाए तथा अपने देश को आगे बढ़ाएं तथा देशहित के लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर श्री सिद्धार्थ झींझा ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम सभी को लोहड़ी एवं मकर संक्राति की बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि त्यौहार हमारी भारतीय संस्कृति के प्रतीक हैं ओर हमारी भारतीय सभ्यता की इनसे ही पहचान है। त्योहार हमें उम्मीद,उत्साह एवं हौंसला प्रदान करते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाबी लोगों का यह त्यौहार गर्मजोशी के साथ एवं अनुशासित माहौल में मनाया जाना चाहिए ताकि इससे हमारे आपसी सम्बन्ध ओर बेहतर बन सकें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक त्योहार की अपनी एक अहमियत है, गरिमा है इसलिए हमें उन्हें मनाने के साथ-साथ उनके पीछे निहित इतिहास को जानना चाहिए तथा उनसे शिक्षा भी हासिल करनी चाहिए।

वहीं डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.राजेश्वर चावला ने अपने संबोधन में सभी को इन पावन त्योहारों की बधाई प्रेषित करते हुए सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि हमें अनुशासन में रहते हुए प्रत्येक त्यौहार को हर्षोल्लास के साथ मनाना चाहिए ताकि हमारी संस्कृति एवं संस्कारों को बचाया जा सके।

इस कार्यक्रम में सभी कॉलेजों के प्राचार्यों ने भी विद्यार्थियों को अपनी बधाई प्रेषित की और तिल और देसी घी से लोहड़ी के उपलक्ष्य में अग्रि की पूजा की गई और उपस्थित सभी को मूंगफली,रेवड़ी व गज्जक आदि भी वितरित किये गए। सभी कार्यक्रमों में सभी कॉलेजों के स्टॉफ सदस्य एवं समस्त विद्यार्थीगण भी उपस्थित रहे। वहीं सांध्यकालीन जेसीडी के महिला एवं पुरूष छात्रावास में भी कार्यक्रम आयोजित करके विद्यार्थियों द्वारा पावन पर्व को मनाया गया।

Swami Vivekanand Ji Jayanti Celebration – 12/01/2018

स्वामी विवेकानंद जी आज भी युवाओं के आदर्श – डॉ.आर.आर.मलिक
शहीदों की जीवनी को स्कूली पाठ्यक्रम में किया जाए शामिल ताकि विद्यार्थी बेहतर ज्ञान प्राप्त कर सकें

सिरसा 12 जनवरी,2018 : जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय एवं दैनिक जागरण समूह के संयुक्त तत्वावधान में कॉलेज के सभागार कक्ष में स्वामी विवेकानंद जी के 155वें जन्मदिन के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में एक सेमिनार का आयोजन किया गया,जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की,वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश द्वारा की गई। इस सेमिनार में मुख्य वक्ता के रूप में श्रीमती गीता कथूरिया,जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.प्रदीप स्नेही एवं श्रीमती कविता शर्मा ने उपस्थित होकर अपने विचार प्रस्तुत किए। इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश,अन्य अतिथियों,समस्त स्टाफ सदस्य एवं विद्यार्थियों ने केक काटकर स्वामी जी के जन्मदिवस को हर्षोल्लास से मनाया।

सर्वप्रथम अपने संबोधन में डॉ.जयप्रकाश ने सभी वक्ताओं एवं अतिथियों का स्वागत करते हुए सभी विद्यार्थियों को स्वामी विवेकानन्द जी के जीवन का संक्षिप्त परिचय प्रदान करते हुए बताया कि उनका जीवन सादा तथा विचार उच्च थे तथा उन्होंने एक प्रेरणा प्रदान की थी जागो,उठो,आगे बढ़ो और तब तक बढ़ते रहो जब तक लक्ष्य हासिल न हो जाए। उन्होंने कहा कि स्वामी जी के जीवन में विवेक सूत्र,बल,श्रद्धा,सेवा,त्याग,आत्मसंयम इत्यादि गुणों को अपने आचार-विचार में समाहित किया हुआ था। स्वामी जी की ओजस्वी वाणी युवाओं के मन में एक नई ऊर्जा का संचार करती थी। डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि उनका जीवन युवाओं को आगे बढऩे की प्रेरणा देने के साथ-साथ अंतर्निहित आत्मविश्वास,साहस,स्वावलम्बनप्रेमभाव, सहानुभूति एवं नैतिकतापूर्ण अपना जीवनयापन करने की क्षमता प्रदान करता है। उनका जीवन हमें कठिनाइयों और असहाय परिस्थितियों के समय सही पथ-प्रदर्शन करने में भी सहायक है। स्वामी जी का योगदान बेजोड़ है,उनका योगदान प्रत्येक कार्य में अविस्मरणीय है।

श्रीमती गीता कथूरिया ने अपने वक्तव्य में कहा कि युवाशक्ति समाज को सही दशा व दिशा प्रदान करता है तथा सच्चे अर्थों में युवा ही समाज सुधारक एवं राष्ट्र निर्माता होते हैं, इसलिए युवाओं को सदैव राष्ट्रहित के बारे में सोचना चाहिए तथा अपने लक्ष्य को हासिल करने हेतु ईमानदारी एवं निष्ठापूर्वक प्रयास करने चाहिए। युवाओं को निरर्थक बातों की ओर ध्यान न देते हुए सदा सकारात्मक रवैया अपनाते हुए बेहतर प्रयास करने चाहिए।

श्रीमती कविता शर्मा ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम सभी को बधाई प्रेषित की तथा कहा कि आज का युवा अपनी दिशा भटक चुका है इसलिए उनको सही दशा व दिशा प्रदान की जानी चाहिए ताकि वे राष्ट्र के हित में सही-गलत की बेहतर पहचान करके अपना अमूल्य योगदान प्रदान कर सकें तथा सच्चे अर्थों में राष्ट्र निर्माण में अपना सहयोग दे सकें। उन्होंने कहा कि युवाओं को अपनी ऊर्जा की पहचान करनी चाहिए तथा उसका बेहतर उपयोग करना चाहिए।

अपने वक्तव्य में डॉ.प्रदीप स्नेही ने सर्वप्रथम सभी को एक महान शक्सियत एवं युवाओं के प्रेरणास्त्रोत के जन्मोत्सव की हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद जी हमारे आध्यात्मिक गुरु रहे हैं तथा उन्होंने विश्वभर के युवाओं को प्रेरित करने का कार्य किया था। स्वामी जी के माता-पिता के अच्छे संस्कारों और परवरिश के कारण ही उनको बेहतर संस्कार व उच्चकोटि की सोच प्राप्त हुई। उनकी रूचि युवा दिनों से ही आध्यात्मिकता के क्षेत्र में रूचि थी, वे हमेशा भगवान की तस्वीरों जैसे: शिव,राम और सीता के सामने ध्यान लगाकर साधना की। स्वामी विवेकानंद जी ने सदैव युवाओं को शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य हेतु प्रेरित करने का प्रयास किया था,जिसके चलते वे सदैव ही युवाओं के प्रेरणास्त्रोत रहे थे।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में सर्वप्रथम डॉ.आर.आर.मलिक ने समस्त युवाओं को स्वामी जी के जन्मदिवस की बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि युवा वास्तव में वही है जो देश के मान-सम्मान एवं राष्ट्रहित में अपनी सोच रखता है तथा अपनी शक्ति की वास्तविकता में पहचान करके बेहतर कार्य करता है। उन्होंने कहा कि देश के लिए अपनी जान न्यौछाबर करने वाले क्रांतिकारियों के बारे में ज्ञान प्रदान करके जागरूकता लानी चाहिए। डॉ.मलिक ने कहा कि स्वामी जी द्वारा स्थापित किया गया शांति निकेतन संस्थान सर्वश्रेष्ठ शिक्षण संस्थान है। उन्होंने कहा कि शहीदों की जीवनी को विद्यालयी पाठ्यक्रम में लागू किया जाना चाहिए ताकि विद्यार्थी उनके बारे में बेहतर जान सकें। युवाओं में देशभक्ति,कर्तव्य परायणता की भावना जागृत करनी चाहिए क्योंकि युवा ही हमारी संस्कृति की पहचान तथा राष्ट्र निर्माण में अह्म भूमिका अदा करते हैं। उन्होंने कहा कि स्वामी जी धैर्य,त्याग व साहस की प्रतिमूर्ति थे। उन्होंने विदेशों में तत्वज्ञान की अद्भुत ज्योति प्रदान की तथा अध्यात्म विद्या और भारतीय दर्शन की शिक्षा विश्व को प्रदान करने का कार्य किया था इसलिए वे विश्वगुरु कहलाए थे।

इस अवसर पर कॉलेज के समूचे स्टाफ सदस्य एवं समस्त विद्यार्थीगण भी उपस्थित रहे तथा स्वामी जी के जीवन से प्रेरणा हासिल की।

7 Days NSS Camp Inaugural – 11/01/2018


चौ. देवीलाल मेमौरियल कॉलेज की एन.एस.एस यूनिट के द्वारा वेदवाला गांव में सात दिवसीय विशेष शिविर का शुभ-आरम्भ किया

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित चौ देवीलाल मेमौरियल कॉलेज की एन.एस.एस इकाई ने वेदवाला गांव में सात दिवसीय विशेष शिविर का आयोजन किया। कैम्प के शुभ अवसर पर चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय के एन.एस.एस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रो.(डॉ.) विष्णु भगवान ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ प्रदीप स्नेही ने मुख्यातिथि को फूलों का गुलदस्ता भेंट करके उनका स्वागत किया। मंच का संचालन प्रो.सुमन व प्रो.कमलदीप ने किया।

इस शिविर का शुभारंम्भ कॉलेज के प्राचार्य डॉ.प्रदीप स्नेही,मुख्यातिथि डॉ.विष्णु भगवान,एन.एस.एस के कार्यकारी अधिकारी सुधीर दगेलिया व अन्य प्राध्यापकों ने सरस्वती देवी की प्रतिभा के आगे दीप प्रज्ज्वलित करके किया। डॉ स्नेही ने एन.एस.एस के वॉलंटियर्स को सम्बोधित करते हुए कहा कि निस्वार्थ भाव से दूसरों की सेवा करना ही एन.एस.एस का सही मायनों में अर्थ है। उन्होंने कहा कि एन.एस.एस कैम्प के दौरान संचालित होने वाली गतिविधियाँ हमें जीवन के वो मायने भी सिखाती है जो कि कॉलेज के प्रांगण में शायद ना सिखा पाये। मुख्यधिकारी डॉ.विष्णु भगवान ने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि एन.एस.एस के वॉलंटियर्स इस सात दिवसीय कैम्प को केवल सर्टिफिकेट प्राप्त करने का जरिया ना समझे बल्कि,सामाजिक भाव से सेवा करे। उन्होंने अपने अनुभव एन.एस.एस के वॉलंटियर्स के साथ सांझा करते हुए कहा कि मैने यह अनुभव किया है कि आज का युवा सामाजिक गतिविधियों से दूर होता जा रहा है और हकीकत यह है कि आज के युग में युवा पीढ़ी को अच्छे कार्य के लिए प्रेरित करना अपने आप में एक चुनौती है,आज हर कोई निस्वार्थ भाव से सेवा करने से बच रहा है वही जेसीडी मैमोरियल कॉलेज की एन.एस.एस यूनिट अपने समाजिक कार्य के उददेश्य को विशेष शिविरों के माध्यम से प्राप्त करती जा रही है,इसलिए ये बधाई के पात्र है।

एन.एस.एस के कार्यकारी अधिकरी प्रो.सुधीर दगेलिया ने कैम्प की गतिविधियों के बारे मे विस्तारपूर्वक बताते हुए कहा कि सात दिवसीय एन.एस.एस कैम्प ”बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ थीम” के साथ वेदवाला गांव में 9 अगस्त से 15 अगस्त तक चलेगा। इस कैम्प के दौरान बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वच्छता,जल संरक्षण,साक्षरता जैसे विषयों को लेकर अभियान चलाया जाएगा। रैडक्रॉस सोसाईटी की तरफ से श्रीमान् राजेन्द्र वॉलंटियर्स को कैम्प के दौरान सात दिन तक प्राथमिक उपचार के गुर भी सिखायेंगे। वॉलंटियर्स के लिए होम नर्सिग का विशेष ट्रेनिंग केम्प का आयोजन भी किया जाएगा ताकि किसी दुर्घटना के वक्त ये वॉलंटियर्स घायल व्यक्ति के लिए जीवनदाता की भूमिका अदा कर सके। गांव के अनपढ़ व्यक्तियों के लिए साक्षरता अभियान चलाया जाऐगा। राष्ट्रिय एकता,समाजिक भाई-चारा जैसे सामाजिक विषयों पर विशेष जागरूकता रैली पूरे गाँव में निकाली जाएगी। गंदगी हटाओं स्वास्थ बनाओं जैसे विषयों पर ना केवल लोगों को जागरूक किया जाऐगा बल्कि वॉलंटियर्स खुद भी सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का संदेश देंगे। इस अवसर पर प्रो.सुमन,प्रो.अरूण,प्रो.मंजू गोदारा,प्रो.पूनम,प्रो.दीपिका, प्रो.सोमवीर,प्रो.सविता,प्रो.कमलदीप व वॉलंटियर्स मौजूद थे।

NSS special camp – 28/12/2017

राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवक व सेविकाओं ने चलाया स्वच्छता व साक्षरता अभियान

28 दिसंबर 2017 : जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय,सिरसा की राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत सात दिवसीय नियमित शिविर का आयोजन किया जा रहा है,इस शिविर के तृतीय व चतुर्थ दिवस राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नेजाडेला कला के परिसर में गत दिवस डॉ रोशन लाल प्रिंसिपल जेसीडी आई बी एम व आज डॉ. प्रदीप स्नेही प्रिंसिपल जे सी डी मेमोरियल कॉलेज एवं श्री शमशेर सिंह गुप्ता पूर्व सरपंच पनिहारी ने शिरकत की। सर्वप्रथम कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर जयप्रकाश ने आए हुए अतिथियों का स्वागत किया उन्होंने स्वयंसेवी छात्र-छात्राओं को राष्ट्रीय सेवा योजना के महत्व की जानकारी देते हुए उनके कर्तव्यों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत का उद्देश्य जहां शौचालय के निर्माण के माध्यम से खुले में शौच को कम करना या समाप्त करना है वही पूर्ण स्वच्छताअभियान के द्वारा शहरों,कस्बा व गांव को पूरी तरह स्वच्छ करना भी इसका उद्देश्य है। इस दौरानस्वयं-सेवी छात्र-छात्राओं ने गांव नेजाडेला कला में स्वच्छता एवं साक्षरता अभियान चलाया गया। साक्षरता अभियान के तहत 25 प्रोढ़ व्यक्तियों का चयन चयन करके उनको पढ़ा रहे हैं। इसके साथ-साथ 10 दिव्यांगविद्यार्थियों की भी पहचान की गई,जिनको इस शिविर में विशेष कक्षाओं के माध्यम से स्वयं-सेवीछात्र-छात्राओं द्वारा पढ़ाया गया। डॉक्टर डॉ रोशन लाल ने अपने संबोधन में कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग निवास करता है उन्होंने बताया कि बच्चे के विकास में तथा वातावरण दोनों का प्रभाव होता है उन्होंने अपने संबोधन में आईक्यू को बढ़ाने के तरीके के बारे में बताया उन्होंने कहा कि बच्चों को अच्छी कहानियां सुनाने चाहिए और हमें सभी का आदर करना चाहिए,कर्म ही हमारा धर्म है तथा पूजा है उन्होंने कहा कि हमें वातावरण के अनुसार अपनी आदतों को भी बदल लेना चाहिए।

आज डॉक्टर प्रदीप स्नेही ने अनुशासन में रहने मोरल वैल्यू के बारे में,लाइब्रेरी के महत्व के बारे में,नारी सशक्तिकरण के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान ! उन्होंने बताया कि हमें लाइब्रेरी प्रतिदिन प्रयोग करनी चाहिए तथा प्रतिदिन कुछ समय अखबार व मैगजीन को पढ़ने में भी लगाना चाहिए और उन्होंने अपने से बड़ों का आदर करने पर भी जोर दिया !

पूर्व सरपंच पनिहारी शमशेर सिंह गुप्ता ने अपने संबोधन में स्वयंसेवक व सेविकाओं को इ लाइब्रेरी के महत्व को समझाया था उन्होंने सर्व शिक्षा अभियान की भी प्रशंसा की तथा उन्होंने स्वयं सेवक व सेविकाओं को सामाजिक कार्यों के लिए प्रेरित किया। स्कूल के अध्यापक अमित ने अपने संबोधन में स्वयंसेवक व सेविकाओं से आह्वान किया कि वह अपने अध्यापन में डिजिटल टेक्नोलॉजी का प्रयोग करें तथा उन्होंने कहा कि जब अध्यापक का लेवल ऊपर उठेगा तो बच्चे का लेवल अपने आप ही उठ जाएगा। डॉक्टर सत्यनारायण एन एस एस ऑफिसर ने आए हुए सभी अतिथियों का धन्यवाद किया। इस मौके पर स्कूल के अध्यापक अशोक,अमित व संतोष आदि उपस्थित रहे। अंत में प्राचार्य डॉक्टर जयप्रकाश द्वारा आए हुए अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया

NSS Special Camp – 26/12/2017

​सिरसा 26 दिसंबर 2017 : जेसीडी कॉलेज ऑफ एजुकेशन के शिक्षकों का एक दल राष्ट्रीय सेवा योजना के अंतर्गत सात दिवसीय सफाई अभियान की शुरुआत स्थानीय नेजा डेला कला गांव में स्थापित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में जाकर की गई !​

यह सभी स्वयंसेवक इन सात दिनों के दौरान इस स्कूल व गांव में अपनी सेवा प्रदान करेंगे !​ इस सात दिवसीय शिविर के आयोजक डॉक्टर सत्यनारायण ने विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए बताया कि शिविर के दौरान सेवकों द्वारा ​दूसरे दिन स्कूल में सफाई अभियान तथा एडल्ट एजुकेशन के अंतर्गत बीस अनपढ़ व्यक्तियों की पहचान की गई ! इसके इलावा उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में अनेक सामाजिक जागरूकता संबंधी कार्यों को अंजाम देंगे !

कालेज के प्राचार्य डॉक्टर जयप्रकाश ने विद्यार्थियों को इस एनएसएस शिविर हेतु रवाना करते हुए अपने संबोधन में कहा कि सामाजिक सेवा प्रत्येक व्यक्ति का धर्म तथा कर्म होना चाहिए जिसके लिए हमारे हमारे कालेज की एनएसएस यूनिट ने इस शिविर का आयोजन किया है इस अवसर पर निस्वार्थ भाव से सेवा करने के लिए जा रहे सभी स्वयंसेवकों को अपना आशीर्वाद प्रदान करके रवाना किया !​

Inauguration of NSS special camp – 25/12/2017 To 31/12/2017

25,दिसंबर 2017 : जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में दिनांक 25 दिसंबर 2017 को एनएसएस स्पेशल कैंप का शुभारंभ किया गया जिसमे मुख्य अतिथि के रुप में डॉ.दिलबाग सिंह निदेशक छात्र कल्याण अधिष्ठाता एवं चेयर पर्सन कंप्यूटर साइंस,केमिस्ट्री एवं मैथमेटिक्स डिपार्टमेंट चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी सिरसा को आमंत्रित किया गया व विशिष्ट अतिथि के रुप में डॉ आर आर मलिक शैक्षणिक निदेशक जेसीडी विद्यापीठ सिरसा ने शिरकत की एवं डॉ जयप्रकाश कन्वीनर व प्रिंसिपल शिक्षण महाविद्यालय ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की

इस कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के सामने दीप प्रज्वलित करके किया गया डॉ जयप्रकाश ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि यह कैंप नेजा डेला कलां गांव में 25 दिसंबर से 31 दिसंबर 2017 तक चलेगा तथा उन्होंने एनएसएस स्पेशल विस्तार से बताया इस कैंप का मुख्य उद्देश्य ग्रामीणों को शिक्षित करना,जागृत करना,सफाई का प्रचार करना स्वास्थ्य की देखभाल करना रहेगा ! इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर दिलबाग सिंह ने बीएड के स्वयंसेवकों को मानवता की सेवा व कुर्बानी के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि हमारे देश की अधिकतम संख्या युवकों की है इसलिए स्कूल व कॉलेज के विद्यार्थियों को समाज हित के विभिन्न कार्यों के लिए आगे आना चाहिए ताकि हम अपने देश को विश्व गुरु बना सके उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में वह सब बातें हैं जो भारत को विश्व गुरु बना सकता है उन्होंने कहा कि बीएड 2 वर्ष की हो चुकी है वह बी.एड.की विद्यार्थियों को एनएसएस स्वयंसेवकों बनकर ही केवल समाज की सेवा की जा सकती है इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के डायरेक्टर डॉ आर आर मलिक ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी ने अपने बुजुर्गों का सम्मान करना चाहिए व अपने परिवार की सेवा के साथ साथ समाज में समुदाय की सेवा में भी अपना योगदान दें वह अपने आस-पास के गांव में गरीब परिवारों के पास जाकर उनकी हर क्षेत्र में मदद करें यही सच्ची मानवता होगी उन्होंने कहा कि सरकार ने तकनीक के क्षेत्र में विद्यार्थियों के लिए यह जरुरी कर दिया है कि प्रत्येक विद्यार्थी को तकनीकी डिग्री जब मिलेगी जब विद्यार्थी एनएसएस का सर्टिफिकेट प्राप्त कर लेगा इस कार्यक्रम में जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के एनएसएस प्रोग्राम ऑफिसर डॉक्टर सतनारायण ने विस्तार से एनएसएस के उद्देश्यों तथा 7 दिन के कार्यक्रमों का विस्तार पूर्वक जानकारी दी प्राचार्य डॉक्टर जयप्रकाश द्वारा मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया इस कार्यक्रम के अंत में डॉक्टर राजेंद्र कुमार ने सभी अतिथियों व स्वयंसेवकों का इस कार्यक्रम में पधारने पर धन्यवाद किया

2 students of JCDV selected in India Camp Shooting Competition – 24/12/2017

जेसीडी विद्यापीठ के दो विद्यार्थी राष्ट्रीय स्तर पर निशानेबाजी का लोहा मनवाकर इंडिया कैम्प हेतु हुए चयनित
ध्यान-साधना के समान है निशानेबाजी विद्यार्थियों में आती एकाग्रता की भावना : डॉ.मलिक

सिरसा 24 दिसम्बर 2017: जेसीडी विद्यापीठ में जहां एक ओर बेहतर शिक्षा के साथ-साथ संस्कारित शिक्षा प्रदान की जाती है, वहीं संस्थान में विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास पर भी पूरा-पूरा ध्यान दिया जाता है। इसी कढ़ी में विद्यार्थियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की अन्य सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए भी संस्थान के अधिकारी प्रयासरत्त है,जिसके अंतर्गत ही विद्यापीठ के चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला के अथक प्रयासों से 10 मीटर की अंतर्राष्ट्रीय स्तर की शूटिंग रेंज की स्थापना जेसीडी विद्यापीठ में करवाई गई है। यहां यह भी ज्ञातव्य रहे कि सिरसा व इसके आसपास के क्षेत्रों में जेसीडी विद्यापीठ के अलावा अन्य किसी भी संस्थान में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की शूटिंग रेंज स्थापित नहीं है,जो अपने आप में ही एक महान उपलब्धि है तथा इसमें विद्यार्थियों का भी रूझान बढ़ा है। इस रेंज में विद्यार्थियों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए बेहतर कोच को लगाया गया है ताकि विद्यार्थी बेहतर निशानेबाजी सीखकर अपने जिला ही नहीं अपितु सम्पूर्ण हरियाणा का नाम रोशन कर सकें।

इस बारे विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करते हुए जेसीडी विद्यापीठ के शूटिंग कोच गुरप्रताप सिंह एवं खेल अधिकारी मि.अमरीक सिंह गिल ने बताया कि विद्यार्थियों की मेहनत के चलते ही केरला के तिरूवंतपुरम में 11 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक आयोजित हो रही निशानेबाजी के मुकाबलों में जेसीडी विद्यापीठ के दो विद्यार्थियों द्वारा भी हिस्सा लिया गया तथा अपना बेहतर प्रदर्शन करते हुए आगामी 11 जनवरी 2018 में दिल्ली में आयोजित होने जा रही राष्ट्रीय स्तरीय इंडिया कैम्प में अपनी टिकट पक्की की है। उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता में कुल 3 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया था,जिसमें से निशानेबाज सचिन न्योल एवं केशव शर्मा का इंडिया कैम्प हेतु चयन हुआ है,जिसके लिए इन्होंने क्रमश: 612.4 व 606.3 सिरिज में अंक हासिल करके जीत दर्ज की है।

इस अवसर पर चयनित विद्यार्थियों को बधाई प्रेषित करते हुए तथा उन्हें मेडल पहनाकर सम्मानित करते हुए जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला व शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने खिलाडिय़ों के संस्थान में पधारने पर दोनों विद्यार्थियों को अपना आशीर्वाद प्रदान किया व उनका मुंह मीठा करवाया व मेडल पहनाकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास करना है ताकि वह खेलों,सांस्कृतिक तथा शिक्षा में बेहतर से बेहतर प्रदर्शन कर सकें। उन्होंने कहा कि निशानेबाजी एक काफी रोचक खेल है,जिसमें हमारे देशवासियों ने अनेक मैडल हासिल किए हैं,इसलिए ही जेसीडी विद्यापीठ में इस शूटिंग रेंज का निर्माण करवाया गया है ताकि हमारे विद्यार्थी अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक निशानेबाजी में हिस्सा लेकर संस्थान का नाम रोशन कर सकें। डॉ.मलिक ने कहा कि यह एक प्रकार की ध्यान साधना है,जिसमें पूर्ण ध्यानपूर्वक अपने निशाने को बेदना होता है,इससे विद्यार्थियों में एकाग्रता की भावना भी जागृत होगी जो उन्हें कामयाब होने में काफी सहयोग प्रदान करेगी। उन्होंने अपने संबोधन में विद्यापीठ के चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला का इस शूटिंग रेंज के लिए प्रयास करने के लिए आभार प्रकट किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला ने बताया कि विद्यार्थियों के लिए यहां बेहतर कोच का प्रबंध किया गया है,इसलिए विद्यार्थी अधिक से अधिक संख्या में इस शूटिंग रेंज में दाखिला लें तथा राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर की निशानेबाजी का हुनर हासिल करें। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में भी ऐसी अनेक प्रयोजनाएं लाई जाएंगी,जिससे विद्यार्थियों को लाभ हो।

दोनों चयनित विद्यार्थियों ने अपना अनुभव सांझा करते हुए बताया कि उनको यहां पर हर प्रकार की सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही है,जिसके लिए वे जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति तथा चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला सहित कोच एवं अन्य अधिकारियों के हार्दिक आभारी है,जिन्होंने इस शूटिंग रेंज को स्थापित करके हमें चंडीगढ़ तथा दिल्ली जैसे शहरों की सुविधा सिरसा जिला में प्रदान करवाने का कार्य किया है, जिसके कारण आज हमें यह सफलता हासिल हो पाई है। उन्होंने विश्वास दिलाया कि वे निकट भविष्य में भी अपने बेहतर प्रदर्शन के माध्यम से संस्थान के साथ-साथ सम्पूर्ण जिला व राज्य का नाम रोशन करने हेतु प्रयास करेंगे।

Page 1 of 1712345...10...Last »