Weekly-course-of-ITC-Programme-photos-(2)

One Week ICT Training Programme by NITTTR – JCDM College of Engineering

To introduce about various processes involved in the development of curriculum and to discuss various methods for its effective implementation, one-week short term course on “Curriculum Development Processes” organized for the faculty members in JCDM College of Engineering, Sirsa (Haryana). The course was conducted under the scheme of faculty induction training of MHRD, Govt. of India and was organized under the supervision of Dr. A.B. Gupta, Prof & Head Curriculum development center, National Institute of Technical Teachers Training and Research, Chandigarh via video conferencing. Dr. Dinesh Kumar Gupta, Principal JCDM College of Engineering, Sirsa informed that 26 faculty members from various institutes participated in the course. In the one week course, participants learned about the need for curriculum development, design processes, implementation methods and outcome-based curriculum. The curriculum must be developed by keeping in view the expectations of the industry so that students can be made more employable, as discussed by Er. S. K. Gupta, an eminent speaker in the course. The participants were also informed about “Rubric Tool” for effective evaluation of the performance of students. The tool is much better than ordinary marks or CGPA based system of performance evaluation.

Other eminent speakers in the course included Dr. Anil Kumar (NITTTR, Bhopal), Er. P. K. Singla (NITTR, Chandigarh) and Er. V P Puri (NITTR, Chandigarh) as well. In each and every session, the keynote speakers enlightened various aspects of effective implementation of curriculum development with the help of interactive presentations. Dr. Dinesh Kumar Gupta, Principal JCDM College of Engineering thanked the Professors of NITTTR, Chandigarh for organizing such a fruitful course. The participants also provided their feedbacks to course coordinators at NITTTR, Chandigarh in the valedictory session of one week course. The course was organized under the supervision of Er. Veena Rani, HOD ECE. All the Heads of Department, teaching faculty and participants were present on the occasion.

सिरसा 16 जुलाई, 2018 : जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज में एनआईटीटीटीआर चंडीगढ़ के सौजन्य से विडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा साप्ताहिक इंडकशन ट्रेनिंग कोर्स का आयोजन करवाया गया, जिसमें सिरसा के विभिन्न संस्थानों से 26 से अधिक शिक्षकों द्वारा हिस्सा लिया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन राष्ट्रीय तकनीकि शिक्षक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान चंडीगढ़ के पाठ्यक्रम निर्धारण विभाग के प्रोफेसर डॉ. ए.वी. गुप्ता की देखरेख में किया गया था। वहीं इस कार्यक्रम में भोपाल से डॉ. अनिल कुमार, डॉ. पी.के. सिंगला, डॉ. एस.के.गुप्ता व डॉ. वी.पी. पुरी ने भी मुख्य वक्ता की भूमिका निभाते हुए अपने-अपने विषय से सम्बन्धित जानकारियां प्रदान करके प्रतिभागियों का ज्ञानवद्र्धन किया गया। इंजी. कॉलेज की ओर से इस कार्यक्रम की देखरेख इलैक्ट्रॉनिक्स विभाग की अध्यक्ष इंजी. वीना रानी द्वारा की गई।

जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य डॉ. दिनेश कुमार गुप्ता ने इस कार्यक्रम के बारे में जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि छात्रों के सम्पूर्ण विकास में पाठ्यक्रम संयोजन की भूमिका अह्म होती है, जिससे वे पढ़ाई के साथ-साथ नवीनतम तकनीकों से भी रूबरू हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि एक सर्वे के अुनसार भारत में प्रत्येक वर्ष स्नातक होने वाले छात्रों में केवल 15-20 प्रतिशत छात्र ही इंडस्ट्री के मानकों पर खरा उतर पाते हैं, इसलिए पाठ्यक्रम निर्धारण करते समय इंडस्ट्री की अपेक्षाओं को भी ध्यान में रखना बहुत जरूरी हो जाता है। उन्होंने कहा कि इस साप्ताहिक कोर्स के दौरान इन्हीं सब पहलुओं पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई तथा शिक्षकों को पाठ्यक्रम क्रियान्वयन के विभिन्न तरीकों पर जानकारी भी प्रदान की गई। डॉ. गुप्ता ने कहा कि शिक्षकों को सर्वप्रथम प्रत्येक छात्र की मनोदशा के अनुरूप ही उन्हें पढ़ाना चाहिए क्योंकि सभी की मनोदशा भिन्न-भिन्न होती है, इसलिए हमें पहले उनके स्तर को समझ लेना चाहिए तथा उसके अनुरूप ही शिक्षण प्रक्रिया को चलाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर शिक्षक केवल अपना लेक्चरर सम्पूर्ण करके चला जाए तथा विद्यार्थियों को उसकी समझ ना आए तो उसका कोई औचित्य नहीं रह जाता है।

इस कार्यक्रम के सफलत आयोजन के लिए प्राचार्य एवं अन्य को बधाई प्रेषित करते हुए जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी. आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक ने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल जी ने सिरसा जैसे शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़े हुए क्षेत्र को ऊंचाइयों पर पहुंचाने का जो सपना देखा था वो साकार रूप ले रहा है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी इस संस्थान में बेहतर शिक्षा हासिल करके अपने जिला के साथ-साथ सम्पूर्ण हरियाणा का नाम रोशन करने का काम कर रहे हैं। उन्होंने विडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से विख्यात विद्वानों से रूबरू करवाने और उनसे ज्ञान हासिल करवाने के लिए एनआईटीटीटीआर चण्डीगढ़ की सराहना करते हुए विद्यार्थियों को विश्वास दिलाया कि निकट भविष्य में भी ऐसे आयोजनों के माध्यम से आपके ज्ञान स्तर को ओर अधिक बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारे शिक्षक इस कोर्स को पूरी लग्र एवं मेहनत से करके उसका प्रयोग विद्यार्थियों के बीच में करेंगे ताकि इसका लाभ विद्यार्थियों को भी हो सके।

इस अवसर पर सिरसा जिला एवं आसपास के क्षेत्र से 26 से अधिक प्रतिभागी शिक्षकों ने हिस्सा लिया तथा कॉलेज के सभी विभागाध्यक्ष एवं अन्य शिक्षक भी उपस्थित रहे।

m.ed-excellent-results

Outstanding Performance by Students of JCD PG College of Education

Outstanding Performance of students of JCD PG College of Education in CRSU Jind Exam Results. M.Ed. Student Shaina Sethi found the third place in third-semester exam results.

सिरसा 08 जुलाई, 2018 : जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय के एम.एड. तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों ने जननायक चौ. देवीलाल जी के सपनों को साकार करते हुए अपनी बेहतर, गुणवत्तायुक्त एवं संस्कारों से ओतप्रोत शिक्षा की अमिट छाप छोड़ते हुए चौ. रणबीर सिंह विश्वविद्यालय जीन्द द्वारा विगत दिवस घोषित परीक्षा परिणामों में परचम लहराया है। इसमें विद्यार्थियों द्वारा विश्वविद्यालय स्तर पर प्रथम तथा महाविद्यालय स्तर पर द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर अपना कब्जा जमाते हुए यह साबित कर दिया है कि जेसीडी विद्यापीठ में शिक्षा में गुणवत्ता विद्यमान है।

इस बारे विस्तापूर्वक जानकारी देते हुए कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश ने बताया कि इन परीक्षा परिणामों में कॉलेज की छात्रा शाइना सेठी सुपुत्री श्री अनिल सेठी ने एम.एड. की तृतीय सेमेस्टर की परीक्षाओं में 449 अंक हासिल करके विश्वविद्यालय में प्रथम स्थान अर्जित किया है। वहीं छात्रा प्रीति मैहता ने 421 अंक के साथ महाविद्यालय में द्वितीय तथा शीनू मित्तल एवं छात्र सन्नी दयाल ने 415 अंकों के साथ महाविद्यालय स्तर पर तृतीय स्थान हासिल करके अपना दबदबा कायम रखा है। इस मौके पर सभी विद्यार्थियों को बधाई प्रेषित करते हुए डॉ. जयप्रकाश ने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ शिक्षा के साथ-साथ सांस्कृतिक एवं खेल प्रतिस्पर्धाओं में भी अपना कोई सानी नहीं रखते हैं तथा समय-समय पर ऐसे नतीजो से अपना लोहा मनवाने में भी पीछे नहीं रहते हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणवत्ता प्रदान करने एवं बेहतर परीक्षा परिणामों का श्रेय जेसीडी विद्यापीठ के वातावरण के साथ-साथ सभी प्राध्यापकों की मेहनत एवं प्रबंधन समिति को जाता है। उन्होंने कहा कि चौ. देवीलाल जी का सपना था कि सिरसा जैसे शिक्षा में पिछड़े इलाके में शिक्षा की अलख लगाई जाए ताकियहां के विद्यार्थियों को इसके लिए शहर से बाहर न जाना पड़े और इसीलिए जेसीडी विद्यापीठ का निर्माण किया गया। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ उच्च संस्कार एवं नैतिकता भी प्रदान करके उनका सर्वांगीण विकास करना है, जिसके लिए हम सदैव प्रयास करते रहते हैं।

विद्यार्थियों की इस ऐतिहासिक सफलता के लिए जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी. आकाश चावला, शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक एवं रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता ने विद्यार्थियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा कि हम सभी को मिलकर चौ. देवीलाल जी द्वारा देखे गए बेहतर शिक्षा के स्वप्र को साकार करना है, जिसके लिए हमें मिल-जुलकर प्रयास करना होगा। उन्होंने सभी विद्यार्थियों की हौंसलाफजाई करते हुए कहा कि आपके इस प्रदर्शन के माध्यम से अन्य विद्यार्थियों को भी प्रेरणा हासिल होगी और इससे आपके माता-पिता, शिक्षकगण एवं संस्थान के साथ-साथ आपके शहर का भी नाम रोशन होगा, इसलिए सभी विद्यार्थी खूब लग्र एवं परिश्रम के साथ प्रयास करें। उन्होंने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ में समय-समय पर विद्यार्थियों के लिए विशेषज्ञों को आमंत्रित करके उन्हें उनसे रूबरू करवाया जाता है ताकि विद्यार्थी स्वयं को अपडेट रख सकें।

सभी विद्यार्थियों ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, जेसीडी विद्यापीठ की मैनेजमेंट, शिक्षकगणों व अन्य सहयोगियों को देते हुए सभी का आभार प्रकट किया।

jcd-memorial-college-admissions

JCD Memorial College is going to be the first choice of students for admission

दाखिले के लिए जेसीडी मैमोरियल कॉलेज बन रहा है विद्यार्थियों की पहली पसंद
हरियाणा उच्चतर शिक्षा विभाग की स्कीम साथर्क शिक्षा-सक्षम युवा की तर्ज पर होगी दाखिला प्रक्रिया

सिरसा 28 जून, 2018 : शैक्षणिक गुणवत्ता एवं विशाल भव्य भवन एवं अन्य सुविधाओं के कारण जेसीडी मैमोरियल कॉलेज बन रहा है विद्यार्थियों की पहली पसंद। इस कॉलेज की स्थापना की नींव के समय यही आकांक्षा थी कि सर्वसुविधा सम्पन्न एक ऐसा महाविद्यालय स्थापित हो जिसमें पढ़ाई के साथ-साथ उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ-साथ युवाओं को सांस्कृतिक विरासत, अनुशासित माहौल एवं भारतीय संस्कृति के संस्कार भी प्रदान किये जा सकें, जिस पर यह संस्थान खरा उतरता है। इस संस्थान का हरा-भरा एवं भव्य विशाल कैम्पस अपनी बेहतर पहचान बना चुका है, जिसके चलते विद्यार्थी काफी हद तक इसी संस्थान में दाखिला लेने की इच्छा प्रकट कर रहे हैं। विद्यार्थियों की अभी तक मैरिट सूची चस्पा किए जाने से पूर्व ही विद्यार्थियों का एक हुजूम उमड़ पड़ा और विद्यार्थियों में सबसे पहले दाखिला लेने के लिए जदोजहद देखी गई। यह केवल कॉलेज की लोकप्रियता तथा यहां पर व्याप्त अनुशासित, संस्कारित एवं स्वच्छ वातावरण में प्रदान की जाने वाली शिक्षा के कारण ही है। आज जहां कुछ विद्यार्थियों के चेहरों पर मुस्कान खिली वहीं कुछ विद्यार्थियों का इस अच्छे संस्थान में दाखिला न हो पाने की निराशा भी साफ देखी गई।

JCD-college-admissions-2इस बारे विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए कॉलेज के प्राचार्य ने बताया कि हरियाणा सरकार उच्चतर विभाग द्वारा सभी विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा हेतु एक पोर्टल पर आवेदन करने के निर्देश प्रदान किए गए थे, जिसके तहत विद्यार्थी 6 जून से अपने आवेदन प्रथम चरण हेतु विद्यार्थी जमा करवा सकते थे तथा उनके इस चरण के अंतर्गत पहली मैरिट सूची प्रथम जुलाई को चस्पा की जाएगी तथा द्वितीय राऊंड का प्रारंभ 7 जुलाई 2018 को होगा एवं द्वितीय मैरिट सूची 12 जुलाई तक ऑनलाईन बैबसाईट पर डाल दी जाएगी। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे शीघ्र अति शीघ्र अपने दाखिले करवाएं अन्यथा देरी होने पर उन्हें नुकसान उठाना पड़ सकता है। वहीं डॉ. स्नेही ने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ जैसाकि आप सभी की पहली पसंद हैं परंतु इस बारे कई बच्चों को जिन्हें यहां दाखिला न मिलने के कारण निराश होना पड़ता है तो हम सरकार से बातचीत करके उन्हें बेहतर संस्थान में अपना भविष्य बनाने हेतु पुरजोर कोशिश करेंगे। उन्होंने आगे संस्थान के नंबर वन होने के कुछ टिप्स निम्रानुसार सुझाए हैं :-

कैसे बन रहा है कॉलेज विद्यार्थियों की पहली पसंद?

डिग्री और मेडल से भी पहले जो चीज सबसे आवश्यक है अनुशासन, संस्कार और भयमुक्त माहौल, जिसके लिए जेसीडी विद्यापीठ पूरे भारतवर्ष में बेजोड़ है क्योंकि 180 एकड़ जमीन पर स्थित यह विशाल संस्थान मूलभूत आवश्यकताओं – भव्य-विराट प्रयोगशालाओं एवं योग्य स्टाफ के कारण अपनी तरह की अनूठी संस्था है। जहां डिग्री से पहले अनुशासन के साथ-साथ भारतीय परम्पराओं का अनुसरण भी होता है। इस संस्थान द्वारा समय-समय पर राष्ट्रीय स्तर की अनेक कांफ्रेंसों के माध्यम से विद्यार्थियों को अत्याधुनिक जानकारियां प्रदान की जाती है, वहीं खेलों की सुविधाओं में यह कॉलेज अपना सानी नहीं रखता। कॉलेज द्वारा योग्य एवं जरूरतमंद विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। स्मार्ट क्लास रूम, लैंग्बेज लैब, एंयर कंडीशन सभागार कक्ष, कम्प्यूटर लैब, कम्प्यूटराईज़ड लाइब्रेरी व बुक बैंक सुविधा के साथ-साथ वाई-फाई कैम्पस सुविधा, स्वच्छ पेयजल सुविधा, 24 घंटे विद्युत सप्लाई तथा सोलर पैनल द्वारा ििवद्युत सप्लाई व नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा भी उपलब्ध है। वहीं छात्र-छात्राओं के लिए अलग-अलग विशाल छात्रावास सुविधा भी उपलब्ध है, जिसके कारण यह संस्थान अभिभावकों की भी पहली पसंद है। इसी के साथ-साथ इस संस्थान में कैफेट एरिया सहित शॉपिंग काम्पलैक्स इत्यादि की सुविधा विशेष रूप से उपलब्ध है। इस संस्थान में आने वाला हर व्यक्ति एक वाक्य दावे से कह सकता है-‘इतना सुंदर, स्वच्छ व हरा-भरा और अनुशासित कैम्पस हमनें कहीं नहीं देखा।Ó जेसीडी मैमोरियल कॉलेज की एक विशेषता यह भी है कि विद्यार्थी के पूर्ण व्यक्तित्व विकास हेतु यहां समय-समय पर पर्सनेलिटी डिवलेपमेंट कक्षाएं, सांस्कृतिक समारोह के साथ-साथ विद्यार्थियों को प्रेरित करने के लिए अपने-अपने क्षेत्र के उच्चकोटि के विशेषज्ञों से मिलने का अवसर उपलब्ध करवाया जाता है।

काऊंसलिंग सुविधा उपलब्ध है-

JCD-college-admissions-3जेसीडी मैमोरियल कॉलेज में विद्यार्थियों को काऊंसलिंग सुविधा प्रदान की जा रही है, जिसके अंतर्गत विद्यार्थी की रूचि के अनुसार निर्धारित करती है कि विद्यार्थी को किस कोर्स में दाखिला लेना है। दाखिला लेने आने वाले विद्यार्थियों एवं अभिभावकों को पूर्ण सुविधाएं प्रदान की जाती है एवं प्रत्येक कोर्स की जानकारी के लिए अलग-अलग कमेटियां गठित की गई है, जो विद्यार्थियों को फार्म भरने तथा अन्य जानकारी प्रदान करने का कार्य करती है तथा विद्यार्थी की पूरी मदद करती है ताकि विद्यार्थी को कोई परेशानी न हो।

जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला, इंजी. आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक ने विद्यार्थियों एवं अभिभावकों के नाम संदेश में उन्हें आश्वासित करते हुए कहा कि हम झूठे दावो में विश्वास नहीं करते तथा बेहतर एवं उच्च गुणवत्तायुक्त एवं अनुशासित तथा संस्कारयुक्त शिक्षा विद्यार्थियों को प्रदान करते हैं, जिसके आधार पर ही थोड़े ही समय में मैमोरियल कॉलेज ने अपनी एक अलग पहचान कायम की है। उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणवत्ता होने की वजह से ही हमारा संस्थान विद्यार्थियों की पहली पसंद बन रहा है। उन्होंने कहा कि हम बेहतर सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए कृतसंकल्प है, जिस पर हम पूर्ण रूप से खरे उतरेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अभिभावक दाखिला लेने से पूर्व एक बार संस्थान में अवश्य आकर देखें ताकि उन्हें हमारी गुणवत्ता, अनुशासन एवं यहां के वातावरण का दृष्टांत हो सकें। उन्होंने विश्वास दिलाया कि संस्थान द्वारा हरसंभव सुविधा मुहैया करवाई जाएगी ताकि उन्हें और अधिक बेहतर शिक्षा प्रदान की जा सकें तथा समय-समय पर अनेक पर्सनेलिटी डेवेलपमेंट एवं अन्य कोर्सों के माध्यम से विद्यार्थियों की प्रतिभाओं में निखार लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी व अभिभावक यहां दाखिला लेने से पूर्व इसे देखिए, परखिए तथा दाखिला लीजिए तथा चौ. देवीलाल जी के इस स्वपन साकार रूप का लाभ होगा।

International Yoga Day celebrated at JCDV

JCD Vidyapeeth organized One day-long yoga training camp. The program was celebrated under auspices of the Education College. Detailed information about the importance of yoga and its usefulness in everyday life is shared with Students and Staff. Dr.R.R. Malik, Academic Director of JCD Vidyapeeth, joined as the chief guest.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय के तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में एक दिवसीय योग प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया जिसमें छात्र-छात्राओं को योग की महत्ता एवं आम जीवन में इसकी उपयोगिता के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की गई। इस योग शिविर में जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस अवसर पर कार्यक्रम के संयोजक एवं शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने सर्वप्रथम आए हुए अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि भारत सरकार द्वारा शरीर को स्वस्थ बनाने हेतु जो यह कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है वह काफी सराहनीय है, क्योंकि योग हमारी जीवनशैली में काफी महत्व रखता है तथा इससे एक नवीन ऊर्जा का संचार होता है और हम व्यस्त समय के बावजूद अपने आपको चिंतामुक्त रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि अब पूरी मानव जाति योग की महत्ता को समझ रही है।योग एक विज्ञान है और इसके सिद्धांत पूरी दुनिया के लिए सम्मान योग्य है। आज की दुनिया में लोग जहां आर्थिक रूप से संपन्न हुए हैं वहीं लोगों में अशांति भी बढ़ी है इसलिए योग की जरूरत आज पहले से कहीं ज्यादा है।

इस अवसर पर बतौर मुख्यातिथि डॉ.आर.आर.मलिक ने अपने संबोधन में कहा कि योग शब्द संस्कृत धातु ‘युज्य’ से निकला है, जिसका मतलब है व्यक्तिगत चेतना या आत्मा का सार्वभौमिक चेतना या रूह से मिलन। योग, भारतीय ज्ञान की पांच हजार वर्ष पुरानी शैली है। उन्होंने कहा कि योग हमारे शरीर के लिए सबसे लाभदायक है इसलिए हमें चाहिए कि हमें इसे अपनी जीवनशैली का हिस्सा बनाना चाहिए। डॉ.मलिक ने बताया कि योग से आंतरिक शांति व खुशी की प्राप्ति होती है तथा योग केवल एक आसन न होकर यह जीवन जीने का एक बेहतर तरीका है। शरीर, मन व आत्मा में संतुलन बनाने के लिए यह बहुत जरूरी है इसीलिए लोग किसी भी व्यवसाय या कार्य में हो पर वे योग से जुड़कर अपने जीवन में परिवर्तन लायें। उन्होंने बताया कि योग के माध्यम से पूरे विश्व में शांति और सौहाद्र्र का वातावरण निहित होता है। हालांकि कई लोग योग को केवल शारीरिक व्यायाम ही मानते हैं। योग यानि दो को जोडऩा उसी प्रकार योग में भी हम अपनी आत्मा को प्रमात्मा से जोडऩे का प्रयास करते हैं। केवल मनुष्य के मन और आत्मा की अनंत क्षमता का खुलासा करने वाला यह गहन विज्ञान है, योग विज्ञान में जीवन शैली का पूर्ण सार आत्मसात किया गया है। उन्होंने कहा कि योग को हमें दैनिक जीवन में शामिल किया जाना चाहिए जिससे शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का काम होता है। योग के माध्यम से शरीर, मन और मस्तिष्क को पूर्ण रूप से स्वस्थ किया जा सकता है। योग के जरिए न सिर्फ बीमारियों का निदान किया जाता है, बल्कि इसे अपनाकर कई शारीरिक और मानसिक तकलीफों को भी दूर किया जा सकता है। योग प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाकर जीवन में नव-ऊर्जा का संचार करता है। योग शरीर को शक्तिशाली एवं लचीला बनाए रखता है साथ ही तनाव से भी छुटकारा दिलाता है जो रोजमर्रा की जि़न्दगी के लिए आवश्यक है। डॉ.मलिक ने कहा कि योग को एक नई पहचान मिली है वर्तमान में योग को केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर में अपनी विशेषताओं के लिए अपनाया जा रहा है तथा प्रत्येक वर्ष 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है, जिसकी शुरूआत 21 जून 2015 से हुई थी। उन्होंने कहा कि हमारी युवा पीढ़ी की सोच में जो विकृतियां उत्पन्न हो रही है उसे केवल योग के माध्यम से ही दूर किया जा सकता है।

इस एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य पर योग प्रशिक्षक अशोक कुमार ने जेसीडी विद्यापीठ के समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों, छात्र-छात्राओं एवं अन्य स्टॉफ सदस्यों को योग के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देने के साथ-साथ योग करवाया। इस मौके पर उन्होंने सूर्य नमस्कार के 12 आसनों के साथ अन्य आवश्यक योग क्रियाएं करवाई तथा इनके लाभ बारे बताया। उन्होंने कहा कि आसन एवं योग क्रियाएं हमारे पौराणिक ऋषि-मुनियों की दी हुई एक अमूल्य धरोहर है, जिसे हमें सदैव सहज कर रखना चाहिए तथा आज प्रत्येक देश हमारी इस पद्धति को अपना कर इसका लाभ उठा रहा है परंतु हमारे ही देश में इसे पूर्ण अधिकार प्राप्त नहीं हो पा रहा इसलिए सरकार द्वारा उठाएं गए इस सराहनीय कदम का सभी को लाभ उठाना चाहिए तथा अपनी जीवनशैली को बेहतर बनाने के लिए प्रात:काल योग अवश्य करना चाहिए।

इस कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि महोदय द्वारा प्रशिक्षकों को समृति चिहृन प्रदान करके सम्मानित किया गया, इस मौके पर सभी महाविद्यालय के प्राचार्य, शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक स्टाफ, छात्र एवं छात्राएं उपस्थित रहे।

UG/PG ADMISSIONS 2018-19

As per the instructions of Director, General Higher Education, Haryana, Panchkula, admissions to all the UG/PG courses will be made online for the session 2018-19.

Online Registration Process Start Date: 06/06/2018
Online Registration Process End  Date: 22/06/2018 (12:00 Midnight)
Link for Registration: http://admission.highereduhry.com/web/index.php/registration

For filling Application Form, following documents are required:

We will help you & provide the facility of filling the registration form at the campus. Please come at JCDV Admission Cell & take part in the counseling & registration process.

  • Photograph Scanned
  • Signature Scanned
  • Copy of 10th Certificatehttp://admission.highereduhry.com/web/index.php/registration
  • Copy of 12th Certificate
  • Copy of Graduation Certificate (For PG Courses only
  • Caste Certificate
  • Weightage Certificate
  • Copy of Aadhar Card
  • Copy of Bank Account
  • Mobile No.

Further information, please contact at 94163-79248, 01666-238120, 70159-88970.

Following UG/PG Courses are available for Session 2018-19: 

  • M.Sc.(Physics), M.Sc.(Chemistry), M.Sc.(Mathematics), M.Sc.(Botany), M.Sc.(Zoology), M.Sc.(Computer Science)
  • M.Com
  • MA (English)
  • B.Sc.(Medical), B.Sc.(Non-Medical), B.Sc.(Computer Science), B.Sc (Honors) – Physics, Chemistry, Maths
  • B.Lib
  • BA
  • BMC
  • BCA
  • B.Com (General), B.Com (Honors), B.Com (Vocational)

Farewell Party – B.Ed. and M.Ed. Students – JCD PG College of Education

जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में जूनियर्स ने दी अपने सीनिसर्य को विदाई पार्टी
बी.एड. एवं एम.एड. के विद्यार्थियों ने अपनी सांस्कृतिक गतिविधियों के माध्यम से लूटी वाहवाही

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय में विगत दिवस बी.एड. के द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को उनके जूनियर्स द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर विदाई पार्टी दी गई, जिसमें बतौर मुख्यातिथि जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी. आकाश चावला तथा रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता ने शिरकत की। वहीं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश द्वारा की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के चरणों में द्वीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया, जिसमें गिद्दा, भंगड़ा, हरियाणवीं, राजस्थानी व वेस्टर्न डांस प्रस्तुत करके दर्शकों की खूब वाहवाही लूटी।

इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने मुख्यातिथि एवं जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण एवं विद्यापीठ के रजिस्ट्रार महोदय का स्वागत करते हुए उनका अभिनंदन किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि विद्यार्थी जीवन में आज के दिन का बड़ा महत्व होता है एवं विद्यार्थी को इस दिन का इंतजार रहता है, वह अपने कॉलेज में व्यतीत किए गए दिनों को याद करके अपनी यादें को तरोताजा करते हैं तथा उन्हें संजोकर संस्थान से ले जाते हैं। डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि मैं स्वामी विवेकानन्द जी के द्वारा कहे गए कुछ शब्दों को कहना चाहता हूँ: एक विचार लो और उस विचार को अपने जीवन का सार बना लो- उसी को सोचो और उसी के स्वप्न देखो। उस विचार से अपने मस्तिष्क, पेशियों, कोशिकाओं, शरीर के हरेक भाग को उससे भरने दो और दूसरे अन्य विचारों को अकेला छोड़ दो। यही सफलता का मूलमंत्र तथा रास्ता है।

इस मौके पर बतौर मुख्यातिथि इंजी.आकाश चावला ने अपने संबोधन में कहा कि मुझे खुशी है कि बीएड के छात्रों ने आत्म अनुशासन का परिचय दिया है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन में सफ लता के लिए अनुशासन और परिश्रम का बड़ा महत्व होता है और इन दोनों का परिचय आप सभी विद्यार्थियों ने बड़ी बखूबी से दिया जो आगे चलकर आपके जीवन को सफ ल बनाने में काफी सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने अनेक सफल व्यक्तियों के जीवन की चर्चा करते हुए कहा कि साहसी लोग हार कर भी जीतने का हौंसला दिलाते हैं जिसको पाकर ही उन्हें कामयाबी प्राप्त हुई है। उन्होंने बताया कि अगर कोई विद्यार्थी किसी प्रतियोगी परीक्षा मे पहली बार में सफ ल नहीं हुए तो उन्हें घबराना नहीं चाहिए बल्कि पूर्व की अपेक्षा अधिक मेहनत करके कृत संकल्पित बनने का प्रयास करना चाहिए। इंजी.चावला ने कहा कि विद्यार्थी को चाहिए कि शिक्षा और उपाधि लेने के बाद वह समाज उपयोगी कार्य करें, जिससे स्वयं का, उनके माता-पिता व देश का नाम रोशन हो सके। उन्होंने कहा कि मेरी दृष्टि से शिक्षित व्यक्ति वही है जो नैतिक मूल्यों के साथ समाज के लिए बेहतरीन कार्य करें जो एक बेहतर अध्यापक ही कर सकता है क्योंकि अध्यापक के अंदर सहनशीलता, सीखने, सुनने की कला है और वही कला उसकी पहचान बन जाती है। उन्होंने सभी भावी अध्यापकों से अनुरोध किया कि वह अपने जीवन में समाज के लिए समर्पित संस्कारिक कार्य करें और विश्व विजेता बने।

निर्णायक मण्डल द्वारा बीएड (सामान्य) की छात्राओं में मिस बीएड स्नेहपाल, मिस फेयरवेल पवनदीप कौर, मिस प्रतिभाशाली प्रियंका व नवप्रीत, मिस पर्सनैलिटी कोमल तथा छात्रों में मिस्टर बीएड शुभम, मिस्टर फेयरवेल विनोद कुमार, मिस्टर पर्सनैलिटी शांतनु को चुना गया। इसी तरह बीएड (स्पेशल) की छात्राओं में मिस बीएड स्पेशल लिंनकोन, मिस बीएड स्पेशल सुमन एवं लड़कों में मिस्टर फेयरवेल ईशकुमार का चयन किया गया। एम एड प्रथम वर्ष से मिस प्रतिभाशाली पूजा व एम एड द्वितीय वर्ष से मिस्टर सुरेश कुमार तथा मि.फेयरवेल एमएड देवेंद्र कुमार व मिस पर्सनैलिटी पवनदीप को चयनित किया गया। इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, विद्यापीठ के रजिस्ट्रार महोदय, शिक्षण महाविद्यालय के शिक्षक एवं गैर शिक्षक सदस्यों सहित समस्त छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Tree Plantation on the occasion of World Environment Day – JCDV, Sirsa

Planting program was organized under the aegis of HDFC Bank Sirsa under the auspices of World Environment Day at JCD University, which was inaugurated by JCD Vidyapeeth’s Management Coordinator, Mr. Akash Chawla, and Registrar Mr. Sudhanshu Gupta as Chief Minister, by placing a plant in his hands.

On this occasion, HDFC Bank Branch Manager Ravi Kakad and Regional Manager Anil Sethi attended as special guests. On this occasion the plants were planted by the officials of various colleges of JCD University, other officials of JCD and students and staff members with their hands.

जेसीडी विद्यापीठ में विगत दिवस विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में एचडीएफसी बैंक सिरसा के तत्वावधान में पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसका शुभारंभ जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला एवं रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता द्वारा बतौर मुख्यातिथि स्वयं के हाथों एक पौधा लगाकर किया गया। वहीं इस मौके पर एचडीएफसी बैंक के ब्रांच मैनेजर रवि क्ककड़ एवं रिजनल मैनेजर अनिल सेठी ने विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिरकत की। इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, जेसीडी के अन्य अधिकारियों एवं विद्यार्थियों व स्टाफ सदस्यों द्वारा भी अपने-अपने हाथों से पौधे रोपित किए गए।

इस मौके पर उपस्थितजनों को अपने संबोधन में इंजी.आकाश चावला एवं श्री सुधांशु गुप्ता ने कहा कि हमारा लक्ष्य जेसीडी विद्यापीठ सहित सिरसा जिला को हरियाली को ओर अधिक बढ़ाने हेतु अधिक से अधिक पौधे लगाकर वातावरण को स्वच्छ बनाने का है, जिस पर हम सदैव खरा उतरते हैं। उन्होंने कहा कि पेड़-पौधों का हमारे जीवन में बहुत महत्व है तथा यह हमें प्रकृति को हरा-भरा बनाने व स्वच्छ रखने हेतु सहायक सिद्ध होते हैं इसलिए हमें अपने जीवनकाल में एक पौधा अवश्य लगाना चाहिए तथा उसे उचित देखभाल करते हुए पेड़ बनाना चाहिए ताकि उसका उपयोग हमारी आने वाली पीढिय़ां कर सकें। उन्होंने इस मौके पर समस्त मालियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि यह आपकी मेहनत से ही संभव हो पाया कि आज जेसीडी विद्यापीठ का सम्पूर्ण कैम्पस इतना हरा-भरा है तथा आगे भी आप अथक मेहनत करके इन पौधों को पेड़ बनाने के लिए प्रयास करेंगे ताकि इन पर लगने वाले फल लोग खा पाएं व इनकी छाया समस्त लोगों को शकुन प्रदान कर सकें। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में वाहनों की संख्या बढऩे तथा अनेक प्रकार के प्रदूषणों के कारण वातावरण अस्वच्छ हो चुका है जिसे स्वच्छ बनाने हेतु पौधे लगाना अनिवार्य है इसलिए हमें प्रत्येक स्थान पर संभव हो सके तो जहां पर पौधे नहीं लगे हैं वहां पर भी इन्हें लगाना चाहिए तथा देखभाल करनी चाहिए ताकि यह आगे चलकर छांव प्रदान करने के लिए पेड़ बन सकें ।

इस मौके पर अपने संबोधन में रवि कक्कड़ एवं अनिल सेठी ने सर्वप्रथम जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति का इस कार्य हेतु सहयोग करने के लिए आभार प्रकट करते हुए कहा कि केवल पौधा लगा देने मात्र से ही पेड़ नहीं बनता है उसकी बेहतर परवरिश तथा समय-समय पर उसकी उचित देखभाल की भी आवश्यकता होती है, जिसमें यह संस्थान खरा उतरेगा हमें यह आशा है। उन्होंने सभी से आह्वान किया कि हमें सामाजिक उत्सवों, शादी-विवाह, जन्मदिवस तथा अन्य मौकों पर एक पेड़ अवश्य लगाना चाहिए ताकि इससे पौधारोपण को बढ़ावा मिल सकें और हमारी प्रकृति स्वच्छ तथा हरी-भरी हो सके।

इस अवसर पर एचडीएफसी बैंक से कुलविन्द्र सिंह, सुनील वर्मा, राजेश कुमार तथा कृषि विभाग सिरसा से सुरेश कुमार एवं प्रदीप दुहन के अलावा जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण, कॉलेजों के स्टाफ सदस्यों एवं विद्यार्थियों ने भी अपना-अपना एक पौधा लगाया तथा संकल्प लिया कि वे इस पौधे को पेड़ बनने तक इसकी उचित देखभाल करेंगे।

War Trophy T-55 Tank Inaugural Function held at JCDV

A Cultural patriotic program “Salute to the martyrs” was organized to unveil the war trophy T-55 tank provided by the Indian Army at JCDV, Sirsa

Former chief minister of Haryana Ch. Om Prakash Chautala, Commander Brigadier Ajay Singh Mahajan, Commander, 57th Ommer Bigred of Hisar Cantt and Group Caption Vishal Malhotra, Chief Operations Officer of Air Force Station, Sirsa have attended the program as chief guests.

On this occasion, the widows of martyrs who sacrificed their lives for the freedom of the freedom fighters, the nation’s freedom for the country and the soldiers in Sirsa district and its surroundings, who received the medal for their better works in the Indian Army, were honored by Chief and other.

Jagbir Rathi looted lots of applause, guests, and others through his productions.

जेसीडी विद्यापीठ में बुधवार को देर सायं शहीदों को नमन् करने एवं उनको सच्चे अर्थों में श्रद्धांजलि अर्पित करने हेतु भारतीय सेना द्वारा प्रदान किए गए वार ट्राफी टी-55 टैंक का अनावरण के लिए सांस्कृतिक देशभक्ति कार्यक्रम ‘शहीदों को सलाम’ का आयोजन किया गया, जिसमें हिसार कैंट के 57 ऑमर्ड बिग्रेड के कमांडर ब्रिगेडियर अजय सिंह महाजन तथा एयर फोर्स स्टेशन के चीफ ऑप्रेशन अधिकारी गु्रप कैप्टन विशाल मल्होत्रा एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरियाणा चौ.ओमप्रकाश चौटाला जी ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। वहीं इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के संस्थापक अध्यक्ष डॉ.अजय सिंह चौटाला एवं चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला ने विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिरकत की। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक के अलावा जेसीडी डेन्टल कॉलेज के प्रबंधन एक्सीक्यूटिव श्री सिद्धार्थ झींझा के अलावा सिरसा के सांसद श्री चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक सिरसा मक्खन लाल सिंगला, विधायक रानियां रामचंद्र कं बोज, विधायक प्रो.रविन्द्र सिंह बलियाला, श्री पदम चंद जैन के अलावा अनेक गणमान्य लोग एवं अतिथिगणों के अलावा जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण व शहर के मौजिजगण मौजूद रहे। वहीं इस अवसर पर स्वतंत्रता सेनानियों के परिवार वालों, देशहित के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों की विधवाओं एवं भारतीय सेना में अपने बेहतर कार्यों के लिए मेडल हासिल करने वाले सिरसा जिला एवं इसके आसपास के सैनिकों को मुख्यातिथि एवं अन्य द्वारा सम्मानित किया गया। इस मौके पर निदेशक युवा कल्याण विभाग महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक श्री जगबीर राठी एवं उनकी टीम ने अपनी प्रस्तुति के माध्यम से जहां देशभक्ति का जज्बा फूंका वहीं उन्होंने अपने लतीफों के माध्यम से उपस्थितजनों का मनोरंजन किया।

सर्वप्रथम जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला ने विद्यापीठ के सभी कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण एवं अन्य के साथ सभी अतिथियों का गुलदस्ते प्रदान करके स्वागत किया गया। डॉ.आर.आर.मलिक द्वारा इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ की उपलब्धियों एवं चलाएं जा रहे सभी कोर्सों के बारे में मुख्यातिथि महोदय एवं अन्य को अवगत करवाया गया। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर सुविधाओं के माध्यम से अच्छी शिक्षा प्रदान करके देशहित में सच्चे नागरिक बनाना है, जिस पर हम सदैव खरा उतरने का प्रयास कर रहे हैंं।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में ब्रिगेडियर अजय महाजन ने सर्वप्रथम जेसीडी विद्यापीठ प्रबंधन समिति का आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि उनको युवा पीढ़ी के समक्ष अपने विचार रखने का अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण देश में हरियाणा ने सबसे अधिक सेना में जाने वाले युवाओं की श्रेणी में प्रथम नंबर पर आता है। वहीं हरियाणा के युवाओं का देशहित में अमूल्य योगदान रहा है। उन्होंने इस अवसर पर शहीदों को नमन् करते हुए उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें सेल्यूट किया तथा उनके अमूल्य बलिदान को व्यर्थ न जाने की बात कही।

इस अवसर पर अपने संबोधन में श्री विशाल मल्होत्रा ने कहा कि यह कार्यक्रम शहीदों को सच्चे अर्थों में श्रद्धासुमन अर्पित करने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि सेना के जवान ही राष्ट्र के सच्चे हीरों है, इसलिए उनको सदैव स्मरण रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जवान को अपनी मातृभूमि से लगाव है तथा वह उसके लिए अपने प्राणों तक की परवाह नहीं करता है तथा देश के विकास के लिए सदैव तत्पर रहता है। उन्होंने कहा कि इस आयोजन से विद्यार्थियों को भारतीय सेना तथा अन्य सेनाओं में जाने की प्रेरणा प्राप्त होगी जो एक बेहतर कार्य है।

श्री दिग्विजय सिंह चौटाला ने अपने संबोधन में बताया कि इस कार्यक्रम के आयोजन का मुख्य उद्देश्य शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने तथा उनके परिवारों को सम्मानित करने हेतु तथा भारतीय सेना के प्रति अपनी सच्ची निष्ठा एवं देशहित में किए जा रहे उनके कार्य को सलाम करना है। वहीं उन्होंने इस अवसर पर अनावरण किए गए टैंक के बारे में कहा कि जेसीडी विद्यापीठ में इस टैंक की स्थापना सिरसा एवं आसपास के क्षेत्रों के युवाओं को भारतीय सेना में जाने के लिए प्रेरणा प्रदान करने का काम करेगा, वहीं भारतीय सेना एवं सैनिकों के प्रति सच्ची श्रद्धा के भाव जगाने में भी यह आयोजन अपनी अह्म भूमिका अदा करेगा। उन्होंने कहा कि चौ.देवीलाल जी ने सदैव स्वप्र देखा था कि सिरसा जिला में बेहतर शिक्षा, रोजगार एवं यहां के युवाओं को उचित मार्गदर्शन के तहत देशहित में उनका योगदान संभव हो सके, जिसमें यह कार्यक्रम मुख्य भूमिका अदा करेगा। उन्होंने कहा कि चौ.देवीलाल जी ने जो रास्ता दिखाया है उसी पर हम सभी चलने का प्रयास कर रहे हैं ताकि युवाओं को एक बेहतर भविष्य प्राप्त हो सके।

इस अवसर पर अपने संबोधन में चौ.ओम प्रकाश चौटाला ने सभी उपस्थितजनों को कहा कि चौ. देवीलाल जी ने सदैव यही स्वप्र संजोया था कि युवा पीढ़ी को बेहतर शिक्षा, रोजगार तथा देशहित में उनका अमूल्य योगदान हो, जिसे जेसीडी विद्यापीठ के तौर पर साकार रूप प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि यह सिरसा जिला एवं आसपास के क्षेत्र के लोगों के लिए बहुत ही बेहतर समय है कि उन्हें एक ही छत के नीचे अनेक कोर्सों को करने का अवसर मिल रहा है। चौ.ओमप्रकाश जी ने कहा कि युवा पीढ़ी को इस कार्यक्रम से प्रेरणा के साथ-साथ भारतीय सेना में जाने हेतु मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के शिक्षकगणों, स्टाफ सदस्यों एवं अन्य की टीमों का गठन किया गया। इस अवसर पर जगबीर राठी एवं उनकी सम्पूर्ण टीम को मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया गया।

Unveiling of the war trophy T-55 tank at JCDV on 30 May at 5 PM

जन नायक चौधरी देवीलाल विद्यापीठ सिरसा में भारतीय सेना द्वारा प्रदान किए War Trophy T-55 टैंक के अनावरण के अवसर पर शहीदों को नमन व उनको सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए एक सांस्कृतिक संध्या का आयोजन दिनांक 30 मई 2018 बुधवार शाम को 5:00 बजे (PM) जेसीडी विद्यापीठ में हो रहा है जिसमें हास्य कलाकार जगबीर राठी अपनी टीम के साथ ‘शहीदों को सलाम’ सांस्कृतिक संध्या में अपनी प्रस्तुति देंगे तथा वे अपनी हास्य कला से सभी का मनोरंजन करेंगे अतः आप सभी सादर आमंत्रित हैं ​

JCDM College of Engineering- Farewell Party

Juniors of B.Tech of And M.Tech. of the Engineering College of JCD Vidyapeeth. Organized a Farewell party ‘Sionara’ in the auditorium of the Vidyapeeth Through the various productions of students, Miss Manju and Dishaball became Miss. And Mr. Fairwell

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित इंजीनियरिंग कॉलेज के बी.टैक. एवं एम.टैक. के अपने सीनियर्स हेतु जूनियर्स द्वारा विद्यापीठ के सभागार में विदाई पार्टी ‘सायोनारा’ का आयोजन किया गया, जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला एवं विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता द्वारा की गई। इस कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि महोदय, जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण एवं अन्य अधिकारीगणों द्वारा विधिवत् रूप से मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया।

इस अवसर पर सर्वप्रथम कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता ने अपने वक्तव्य में आए हुए सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि आप इस संस्थान से जा रहे हैं परंतु जो संस्कार एवं गुणवत्तायुक्त शिक्षा यहां से लेकर जा रहे हो उसका उचित प्रयोग करके संस्थान व अपने माता-पिता के नाम को रोशन करने का कार्य करें, जिससे आपकी इस शिक्षा का उद्देश्य सफल हो जाए। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रतिस्पर्धात्मक युग में आपको अपडेट रहकर कार्य करना होगा ताकि आप बेहतर प्रदर्शन कर सकें। उन्होंने सभी विद्यार्थियों को उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए अपना आशीर्वाद प्रदान किया।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में इंजी.आकाश चावला एवं श्री सुधांशु गुप्ता ने अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना प्रदान करते हुए कहा कि संस्थान से पास होकर निकलने के पश्चात् आपके समक्ष अनेक चुनौतियां आएंगी जिनका हल खोजने के लिए आप तैयार रहें व संस्थान द्वारा प्राप्त बेहतर ज्ञान का प्रदर्शन करके अपने जिला ही नहीं अपितु राष्ट्रीय स्तरीय पहचान कायम करने का काम करें। उन्होंने कहा कि अगर आप ईमानदारी, निष्ठा, कर्मठता एवं लग्र से कार्य करेंगे तो आपको कामयाब होने से कोई भी नहीं रोक सकता इसलिए अपनी ओर से अच्छा प्रयास करें क्योंकि आपके बेहतर कार्य ही आपकी पहचान बनाएंगे। वहीं उन्होंने कहा कि आप पर अनेक देश के प्रति जिम्मेवारियां है इसलिए कर्तव्यनिष्ठापूर्ण कार्य करके देशहित में कार्य करें।

इस मौके पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम के शुभारंभ छात्र सचिन ने अपनी सुरीली आवाज में ‘सोच न सके’ गीत की प्रस्तुति द्वारा किया। वहीं दान सिंह द्वारा गतका कला का प्रदर्शन करके पंजाबी सभ्यता का स्मरण करवाया। उधर अमन शर्मा व मनपिन्द्र द्वारा भंगड़ा की प्रस्तुति द्वारा सभी को अपने संग झूमने पर विवश किया। छात्रा मंजू ने ‘बलात्कार’ जैसे गंभीर मुद्दे पर अपनी प्रस्तुति के माध्यम से माहौल को संजिदा करके सभी को इस बारे सोचने पर विवश किया गया। छात्र कौशल ने कॉलेज में बिताए अपने समय को कविता के माध्यम से प्रस्तुत किया गया। वहीं छात्रा अर्पना ने राजस्थानी संस्कृति को प्रस्तुत करता ‘घूमर’ गीत पर नृत्य प्रस्तुत करके सभी को थिरकने पर विवश किया। इस मौके पर बतौर निर्णायक मण्डल इंजी.वीना रानी, इंजी.अंकिता चावला, इंजी.विक्रम ढिल्लो, इंजी.शशि शर्मा ने विद्यार्थियों की विभिन्न प्रस्तुतियों के आधार पर मंजू व दिशाबल को क्रमश: मिस एवं मि फेयरवेल के खिताब से नवाजा गया। वहीं गार्गी व मनपिंद्र को मिस एवं मि. टैलेंट चुना गया। छात्रा अर्पना व दान सिंह को मिस. एवं मि. ईव चयनित किया गया। इन सभी विजेता प्रतिभागियों को मुख्यातिथि एवं अन्य द्वारा कार्यक्रम के अंत में सम्मानित किया गया।

इस सांस्कृतिक कार्यक्रम का मंच संचालन दिशाबल, मंजू, शुभम नागपाल एवं पियूष द्वारा बखूबी किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के इंचार्ज इंजि.तरूण आनंद के मार्गदर्शन में विभिन्न समितियों द्वारा इस कार्यक्रम का सफल आयोजन किया गया। इस अवसर पर इंजीनियरिंग कॉलेज के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष, सभी कॉलेजों के प्राचार्य, अधिकारीगण एवं इंजीनियरिंग कॉलेज के समस्त स्टाफ सदस्य व विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

Page 1 of 2312345...1020...Last »
  • ADMISSIONS OPEN

  • Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On Google PlusVisit Us On PinterestVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram