Follow us:-
Valedictory Function of National Seminar – JCD Memorial College, Sirsa
  • By
  • February 22, 2020
  • No Comments

Valedictory Function of National Seminar – JCD Memorial College, Sirsa

जेसीडी मैमोरियल कॉलेज में राष्ट्रीय संगोष्ठी का विधिवत् समापन।

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित स्नातकोत्तर महाविद्यालय द्वारा वीरवार को एक दिवसीय मानविकी,वाणिज्य,विज्ञान और प्रौद्योगिकी के नए युग का अन्वेषण ,मुद्दे ओर चुनौतियाँ:विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, मानविकी व वाणिज्य के संदर्भ में विभिन्न विषयों पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसके समापन समारोह में मुख्यातिथि जेसीडी की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा व विशिष्ट आतिथि डॉ.आशा गर्ग रहीं।सर्वप्रथम कॉलेज के प्राचार्य डॉ जयप्रकाश द्वारा मुख्य अतिथि व अन्य अतिथियों का स्वागत किया गया।

इस अवसर पर दो तकनीकी सत्रों का आयोजन किया गया जिसमें पहले सत्र का विषय विज्ञान ओर शिक्षा रहा और दूसरे सत्र का विषय मानविकी ओर वाणिज्य रहा। इस दौरान चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय से व अन्य महाविद्यालयों से डॉ.निवेदिता,डॉ.गीता रानी,डॉ.धर्मवीर,डॉ.आर के सलार, डॉ.अमित सागवान डॉ.आशा गर्ग,डॉ.शिखा गोयल व डॉ.अभिलाषा द्वारा शोधार्थियों के शोध पत्र का मूल्यांकन किया गया।इस अवसर पर 22 शोधार्थियों ने अपने अपने शोध पत्र पढ़े जिन पर उपस्थित विशेषज्ञों ने अपने विचार प्रस्तुत किये और उनसे संबंधित सवाल किये।

वहीं इस पूरे कार्यक्रम पर सह संयोजक डॉ.अनिता मक्कड़ ने अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की और यथासंभव पूरे कार्यक्रम पर प्रकाश डाला।इस संगोष्ठी के संयोजक डॉ.जय प्रकाश ने सभी उपस्थितजन का आभार प्रकट करते हुए संगोष्ठी के सफल संचालन हेतु सभी के सहयोग के लिए धन्यवाद किया।उन्होंने कहा की हमारी निरन्तर कोशिश रहेगी के हम समय समय पर ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करवाते रहें ताकि सभी शिक्षा प्रेमियों को अधिक से अधिक ज्ञान अर्जित करने का अवसर प्राप्त हो।

इस मौके पर वशिष्ट आतिथि डॉ.आशा गर्ग ने अपने संबोधन में जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति एवं जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के समूचे स्टाफ को इस कार्यक्रम के सफलतम आयोजन के लिए बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि आज के आधुनिकता एवं तकनीकी युग में ऐसे आयोजन काफी सहायक सिद्ध होते हैं जो विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों के मध्य यह एक पुल का काम करते हैं। उन्होंने कहा के आज के सेमिनार में जिन ज्वलंत मुद्दों को लिया गया वो आज के समय में बड़े की कारगर सिद्ध होंगे

समापन समारोह में मुख्यतिथि डॉ.शमीम शर्मा ने कहा के जो लोग पूरी शिद्दत से किसी काम में संलग्न हो जाते हैं वो कामयाब जरूर होते हैं।उन्होंने एक सफल व्यक्ति की कामयाबी के पीछे जुझारू ओर भावात्मक परवरिश की बात करते हुए कहा की आज के प्रतिस्पर्धात्मक युग में माता पिता भी अपने बच्चे के साथ उनकी कड़ी मेहनत का बराबर हिस्सा बनते हैं जो एक सकारात्मक पक्ष है।

संगोष्ठी के अंत में सभी प्रतिभागियों को सार्टिफिकेट वितरित किये गए ओर राष्ट्र गान के साथ इस कार्यक्रम का समापन हुआ।