JCD IBM College

Inter College CDLU Cricket Tournament – JCD Vidyapeeth, Sirsa

Inter College of CDLU Cricket competition organized in the Cricket field of JCDV, Sirsa. On closing ceremony, the Principal of the Education College, Dr. Jai Prakash, encouraged the players, In addition to the Vidyapeeth, students of all other colleges shown their talent by participating with full enthusiasm.

जेसीडी मैमोरियल कॉलेज ने जीता इंटर कॉलेज यूनिवर्सिटी क्रिकेट टूर्नामेंट
खेल को खेल भावना एवं पूरी ईमानदारी के साथ खेलना ही एक खिलाड़ी का धर्म

जेसीडी विद्यापीठ के क्रिकेट मैदान में विगत दिवस इंटर कॉलेज ऑफ सीडीएलयू क्रिकेट प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसके समापन अवसर पर शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने उपस्थित होकर खिलाडिय़ों का हौंसलाफजाई करते हुए फाईनल में पहुंची टीमों के मध्य टॉस करवाया। इस क्रिकेट टूर्नामेंट में विद्यापीठ के अलावा सिरसा शहर के अन्य कॉलेजों के विद्यार्थियों ने पूरे जोश एवं उत्साह के साथ हिस्सा लेकर अपनी खेल प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

टूर्नामेंट के समापन अवसर पर विद्यार्थियों का उत्साह व द्र्धन करने के लिए डॉ.जयप्रकाश ने सर्वप्रथम स्वयं खेलकर फाइनल मैच प्रारंभ करवाया। उन्होंने कहा कि खेलकूद हमारी जिंदगी का महत्वपूर्ण अंग है तथा प्रत्येक छात्र-छात्राओं को अपने जीवन में किसी न किसी खेल को अवश्य अपनाना चाहिए ताकि वह मानसिक एवं शारीरिक रूप से सुदृढ़ बन सकें। उन्होंने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है, इसलिए हमें अपनी दिनचर्या में खेलों को शामिल करना अतिआवश्यक है क्योंकि इससे एक टीम बनाकर कार्य करने का जज्बा प्राप्त होता है। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि इस प्रकार प्रतिस्पर्धाओं में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए ताकि आपकी समन्वय एवं आत्मविश्वास पैदा हो सकें। डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि किसी भी खेल को खेल की भावना तथा ईमानदारी के साथ खेलने से ही उसमें कामयाबी हासिल होती है। वहीं उन्होंने अपने संबोधन में जेसीडी के चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला एवं प्रबंधन समिति का आभार प्रकट किया जिन्होंने विद्यापीठ में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की क्रिकेट अकादमी की स्थापना करके यहां के विद्यार्थियों को एक बेहतर विकल्प प्रदान किया।

इस बारे विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए जेसीडी विद्यापीठ के स्पोटर्स अधिकारी एवं शारीरिक शिक्षा के सहायक प्रोफेसर अमरीक सिंह गिल ने बताया कि इस क्रिकेट प्रतियोगिता के शुरूआती मैचों में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों को सम्मानित किया गया। वहीं इस टूर्नामेंट के प्रदर्शन के आधार पर जेसीडी मैमोरियल कॉलेज एवं शाह सतनाम सिंह कॉलेज की टीमों के मध्य फाइनल मुकाबला खेला गया, जिसमें अपना पूरा दमखम लगाते हुए बेहतर प्रयास करते हुए जेसीडी मैमोरियल कॉलेज की टीम रनर-अप रही तथा सिल्वर मेडल एवं ट्राफी पर कब्जा जमाया। इस मुकाबले में मैमोरियल कॉलेज के विद्यार्थी प्रणव डाका को अपना बेहतर प्रदर्शन करने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

इस अवसर पर विजेता तथा उप-विजेता टीमों को जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.प्रदीप शर्मा स्नेही, डॉ.जयप्रकाश, जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता, मि.अमरीक सिंह तथा अन्य गणमान्य लोगों ने ट्राफी प्रदान करके सम्मानित किया।

Ending of Inter School Competitions – JCD Vidyapeeth, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में तीन दिवसीय अंत:विद्यालय प्रतियोगिताओं का आयोजन
विद्यार्थी निर्धारित करें अपना उद्देश्य एवं लक्ष्य : डॉ.यज्ञदत्त वर्मा

जेसीडी विद्यापीठ प्रांगण में स्कूली विद्यार्थियों को एक बेहतर मंच प्रदान करते हुए तीन दिवसीय खेलकूद एवं साहित्यिक प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाया गया, जिसका वीरवार को विधिवत् समापन किया गया। इस कार्यक्रम में सिरसा जिला शिक्षा अधिकारी डॉ.यज्ञदत्त वर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। वहीं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक द्वारा की गई। इस कार्यक्रम में सभी कॉलेजों के प्राचार्यगणों की मौजूदगी में मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। कार्यक्रम के समन्वयक एवं शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने सर्वप्रथम आए हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया एवं इस तीन दिवसीय प्रतियोगिता के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करते हुए बताया कि इस प्रतियोगिता में सिरसा जिला के 20 से अधिक स्कूलों की टीमों ने हिस्सा लेकर अपना दमखम दिखाया। इस प्रतियोगिता में खेलों में बॉस्केटबाल, फुटबाल, क्रिकेट एवं बॉलीवाल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, वहीं साहित्यिक प्रतियोगिताओं में प्रश्रोत्तरी, भाषण व वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन करवाया गया।

इस अवसर पर अतिथियों एवं विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों व प्राचार्यों, प्रधानाध्यापकों तथा स्कूल प्रतिनिधियों का आभार प्रकट करते हुए डॉ.आर.आर.मलिक ने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ को स्थापित करने का एक ही उद्देश्य था कि सिरसा जैसे शिक्षा में पिछड़े हुए जिलावासियों को बेहतरीन शिक्षा प्रदान करवाई जा सके तथा इसी उद्देश्य के तहत हम कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीणांचल में रहने वाले आर्थिक रूप से कमजोर तथा प्रतिभाशाली विद्यार्थी को विद्यापीठ अपने स्तर पर नि:शुल्क कोचिंग प्रदान करके बेहतर विकल्प प्रदान करने का कार्य करेगी। डॉ.मलिक ने कहा कि हम सदैव हमारे विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास करने में पूर्ण सहयोग प्रदान करते हैं तथा इस आयोजन का हमारा उद्देश्य स्कूली विद्यार्थियों को एक बेहतर संस्थान में आकर यहां की शिक्षा की गुणवत्ता को जांचने-परखने का अवसर प्रदान करना है ताकि वह आगे चलकर अपने ही जिला में एक बेहतर संस्थान में शिक्षा हासिल कर पाएं। उन्होंने इन प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने वाले विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए अपनी शुभकामनाएं एवं आशीर्वाद प्रदान किया।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ.यज्ञदत्त वर्मा ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रतियोगिता में विजयी होने से ज्यादा उसमें हिस्सा लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करना अधिक मायने रखता है। उन्होंने विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को अपनी रूचि के अनुसार ही लक्ष्य का निर्धारण करके उसे पाने के लिए जी-जान से मेहनत करनी चाहिए ताकि वह उसमें सफल हो सके। उन्होंने सिरसा जिला के स्कूली विद्यार्थियों को एक बेहतर एवं सशक्त मंच प्रदान करने के लिए जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन, प्रबंधन समन्वयक, शैक्षणिक निदेशक के अलावा अन्य अधिकारियों का आभार प्रकट करते हुए यह आश्वासन प्रदान किया कि भविष्य में होने वाली ऐसी प्रतियोगिताओं हेतु अधिक से अधिक संख्या में विद्यार्थी अपनी भागीदारी इसमें सुनिश्चित करेंगे ताकि उनका बेहतर विकास हो सके। डॉ.वर्मा ने सभी स्कूली विद्यार्थियों को जेसीडी विद्यापीठ में व्याप्त मूलभूत सुविधाओं एवं बेहतर शिक्षण का लाभ अपने ही जिला में प्राप्त करने के लिए आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जेसीडी में एक ही छत के नीचे अनेक संस्थानों में विभिन्न कोर्सों के करके आप जहां आर्थिक रूप से सक्षम हो सकते हैं वहीं आपको एक बेहतर संस्थान में शिक्षा का अवसर अवश्य लेना चाहिए।

वहीं इन प्रतियोगिताओं के समापन अवसर पर सभी विद्यार्थियों की प्रतिभाओं को ध्यान में रखते हुए निर्णायक मण्डल द्वारा खेलकूद प्रतियोगिताओं में बॉस्केटबाल महिला में राजेन्द्रा पब्लिक स्कूल की टीम ने प्रथम तथा जीडी गोयनका स्कूल की टीम द्वितीय स्थान पर रहीं, वहीं पुरूषों के मुकाबले में डीएवी पब्लिक स्कूल प्रथम तथा सतलुज पब्लिक स्कूल द्वितीय स्थान पर रहा। महिलाओं के फुटबाल मुकाबले में अकाल अकादमी मानसा ने प्रथम व द सिरसा स्कूल ने द्वितीय तथा पुरूषों के मुकाबले में केवीए नं.1 ने प्रथम तथा अकाल अकादमी कालांवाली ने द्वितीय स्थान पाया। उधर क्रिकेट प्रतियोगिता में स्वामी विवेकानंद सी.सै. स्कूल की टीम प्रथम तथा महाराजा अग्रसैन गल्र्ज सी.सै. स्कूल की टीम ने द्वितीय स्थान पाया। वहीं बॉलीवाल प्रतियोगिता में केवीए नं.1 की टीम ने प्रथम तथा सतलुज पब्लिक स्कूल की टीम ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया।

वहीं साहित्यिक प्रतियोगिताओं में प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता में केवीए नं1 की टीम ने प्रथम तथा स्वामी विवेकानंद सी.सै. की टीमों ने द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया। वाद-विवाद प्रतियोगिता में राजेन्द्रा पब्लिक स्कूल की टीम ने प्रथम, जीआरजी नैशनल गल्र्ज सी.सै. स्कूल की टीम ने द्वितीय तथा नचिकेतन पब्लिक स्कूल की टीम ने तृतीय स्थान पर कब्जा जमाया। वहीं भाषण प्रतियोगिता में सतलुज पब्लिक स्कूल की टीम ने प्रथम, नचिकेतन स्कूल की टीम ने द्वितीय तथा द सिरसा स्कूल की टीम ने तृतीय स्थान हासिल किया। इन सभी खेलकूद प्रतियोगिताओं में ओवरऑल स्पोर्ट्स ट्राफी के विजेता एयरफोर्स स्थित केन्द्रीय विद्यालय नंबर 1 के विद्यार्थी रहे वहीं साहित्यिक प्रतियोगिताओं में स्वामी विवेकानंद सी. सै. स्कूल की टीम ने बाजी मारी तथा ओवरऑल ट्राफी पर कब्जा जमाया। कार्यक्रम के अंत में मुख्यातिथि एवं अन्य ने विजेताओं को पुरस्कार प्रदान करके सम्मानित किया।

Second day of Inter School Competitions – JCD Vidyapeeth, Sirsa

दूसरे दिन आर के सीनियर सेकेंडरी स्कूल व महाराजा अग्रसेन स्कूल के बीच क्रिकेट मैच खेला गया जिसमें महाराजा अग्रसेन स्कूल ने 10 विकेट से जीत हासिल की। दूसरा मैच भारत सैनिक स्कूल व डीएवी पब्लिक स्कूल के बीच खेला गया जिसमें डीएवी पब्लिक स्कूल ने यह मैच 28 रनों से जीत लिया। क्रिकेट के मैच सावन पब्लिक स्कूल व दी सिरसा स्कूल के बीच खेले गए मैच में सावन पब्लिक स्कूल ने मैच जीत लिया। वहीं स्वामी विवेकानंद पब्लिक स्कूल व जीआरजी पब्लिक स्कूल के बीच खेले गए क्रिकेट मैच में सावन पब्लिक स्कूल ने मैच जीता।

फुटबॉल मैच में दी सिरसा स्कूल व भारत सैनिक स्कूल के बीच खेला गया मैच दी सिरसा स्कूल ने 3-0 से जीत हासिल की। वहीं अकाल एकेडमी व जीआरजी पब्लिक स्कूल के बीच खेला गया फुटबॉल मैच में अकाल एकेडमी ने 4-0 से जीत हासिल की। फुटबॉल में केंद्रीय विद्यालय-1 व डीएवी पब्लिक स्कूल के बीच खेले गए मैच में केंद्रीय विद्यालय-1 की टीम ने मैच जीता। बास्केटबॉल में सतलुज पब्लिक स्कूल व जीआरजी पब्लिक स्कूल के बीच खेले गए मैच में सतलुज पब्लिक स्कूल ने 28-2 से जीत हासिल की। बास्केटबॉल के दूसरे मैच में राजेंद्रा पब्लिक स्कूल व जी डी गोयनका पब्लिक स्कूल के बीच खेले गए मैच में जी डी गोयनका ने 26-9 से जीत हासिल की।

वॉलीबॉल मैच में महाराजा अग्रसेन स्कूल व दी सिरसा स्कूल के बीच खेले गए मैच में महाराजा अग्रसेन स्कूल ने यह मैच 2-0 से जीत हासिल की। वहीं दूसरे मैच में जीआरजी पब्लिक स्कूल व सतलुज पब्लिक स्कूल के बीच खेले गए मैच में सतलुज पब्लिक स्कूल ने यह मैच 2-0 से जीत लिया।

Inter School Sports and Literary Competitions (8)

Three day Inter School Sports and Literary Competitions – JCD Vidyapeeth, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में तीन दिवसीय खेलकूद एवं साहित्यिक प्रतियोगिता का शुभारंभ
खेल जीवन का अभिन्न अंग है- पवन कुमार सुथार
ज्ञान और विज्ञान सांझें करने से ही बढ़ोतरी होती है- डॉ मलिक

जननायक चौधरी देवीलाल विद्यापीठ में तीन दिवसीय खेलकूद एवं साहित्यिक प्रतियोगिता का शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सिरसा जिले की उप जिला शिक्षा अधिकारी श्री पवन कुमार सुथार एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यापीठ प्रबंधक समन्वय इंजी अकाश चावला व शैक्षणिक निदेशक डॉ आरआर मलिक, व जेसीडी डेंटल कॉलेज के सीईओ सिद्धार्थ जी ने की। प्रतियोगिता के समन्वयक एवं जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ जयप्रकाश ने आए हुए अतिथियों का स्वागत किया और खेलकूद व साहित्यिक गतिविधियों के उद्देश्यों के बारे में विस्तार से बताया। डॉ आरआर मलिक ने सभी उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए कहा कि विद्यार्थी अपने स्कूली जीवन में लक्ष्य एवं उद्देश्य को निर्धारित करें। विद्यार्थी का जो उसे क्षेत्र हो क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं मिलनी चाहिए और जहां पर अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं मिल रही हो उनका समय अनुसार भ्रमण भी करना चाहिए‚ उन्होंने जेसीडी विद्यापीठ की अंतरराष्ट्रीय स्तर की आधुनिक सुविधाओं के बारे में विस्तार से बताया और विद्यालयों के प्राचार्य गण और शिक्षकों से अनुरोध किया कि आप विद्यापीठ जैसी संस्थाओं में जो आधुनिक सुविधाएं हैं एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर की हैं उनमें बच्चों को अवश्य अवगत करवाएं। उन्होंने कहा कि ज्ञान और विज्ञान को आपस में सांझा करने से इसमें बढ़ोतरी होती है।

ताऊ देवी लाल जी ने विद्यापीठ की स्थापना की थी वह इस उद्देश्य से की थी कि यह विद्यापीठ आमजन को सुविधाएं प्रदान करें। यह विद्यापीठ जनता को समर्पित किया था इस विद्यापीठ के दरवाजे सदैव आमजन के लिए खुले हैं। मुख्य अतिथि पवन सुथार ने संबोधित करते हुए कहा कि इस प्रकार के खेल एवं साहित्यिक गतिविधियों से बच्चों में आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है। खेल जीवन का अभिन्न अंग है। विद्यार्थियों को लक्ष्य और लगन से कार्य करना चाहिए। प्रत्येक प्रतिभागी इस प्रतियोगिता में खेल भावना से भाग लेना चाहिए। यह खेलकूद प्रतियोगिताएं अमरीक गिल स्पोर्ट्स ऑफिसर की देखरेख में की गई है

आज हुए खेल में सबसे पहले क्रिकेट मैच जीआरजी स्कूल सिरसा व सतलुज पब्लिक स्कूल सिरसा के बीच खेला गया जिसमें जीआरजी स्कूल ने 4 रन से जीत लिया। फुटबॉल मैच में राजेंद्रा पब्लिक स्कूल व महाराजा अग्रसेन स्कूल के बीच खेला गया जिसमें राजेंद्रा पब्लिक स्कूल 3-1 से विजय रहा। दूसरा मैच दि सिरसा स्कूल व अकाल एकेडमी सरदूलगढ़ की लड़कियों के बीच खेला गया जिसमें अकाल एकेडमी सरदूलगढ़ की लड़कियों ने 4-0 से जीता। बास्केटबॉल में सावन पब्लिक स्कूल व दि सिरसा स्कूल के बीच में खेला गया जिसमें सावन पब्लिक स्कूल ने 28-18 से मैच जीता। दूसरा मैच DAV व केंद्रीय विद्यालय-1 के बीच खेला गया जिसमें DAV ने 35-12 से जीत हासिल की। तीसरा मैच राजेंद्रा पब्लिक स्कूल व जी डी गोयनका स्कूल सिरसा, की लड़कियों के बीच खेला गया जिसमें राजेंद्रा पब्लिक स्कूल की लड़कियों ने 14-4 से विजय हासिल की।वॉलीबॉल में केंद्रीय विद्यालय-1 के साथ भारत सैनिक स्कूल सिरसा के मैच खेला गया जिसमें केंद्रीय विद्यालय-1 ने 2-0से जीत हासिल की।

इस अवसर पर प्राचार्य सहित‚ केंद्रीय विद्यालय-1, सतलुज पब्लिक स्कूल सिरसा, जीआरजी स्कूल सिरसा, सावन पब्लिक स्कूल, राजेंद्र पब्लिक स्कूल, महाराजा अग्रसेन सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिरसा, अकाल अकैडमी, सरदूलगढ़, भारत सैनिक स्कूल सिरसा, स्वामी विवेकानंद सीनियर सेकेंडरी स्कूल, जी डी गोयनका स्कूल सिरसा, डीएवी स्कूल पब्लिक स्कूल सिरसा, महाराजा अग्रसेन सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिरसा, जी आर जी सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिरसा आर के सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिरसा के विद्यार्थियों सहित अनेक प्राध्यापक प्राचार्य सहित विद्यापीठ के रजिस्ट्रार सुधांशु गुप्ता मौजूद, प्राचार्य डॉ. कुलदीप, डॉ.प्रदीप स्नेही डॉक्टर दिनेश कुमार गुप्ता डॉक्टर अनुपमा सेतिया मौजूद, डॉ अरिंदम सरकार थ

Workshop on Digital Marketing – JCD IBM College

जेसीडी बिजनेस मैनेजमेंट में डिजिटल मार्केटिंग पर कार्यशाला का आयोजन
तकनीकी युग के साथ चलने पर ही मिल सकेगी कामयाबी : डॉ.कुलदीप सिंह

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित बिजनेस मैनेजमेंट संस्थान के बीबीए एंड एमबीए के विद्यार्थियों के लिए डिजिटिल मार्केटिंग विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें ड्यूकेट अकेडमी नोएडा के बिजनेस डिव्लेपमेंट एक्सिक्यूटिव मि.कमल पंचाल तथा टे्रनर एवं सलाहकार मि.मोहम्मद ईजहार ने हिस्सा लेकर विद्यार्थियों को नवीनतम जानकारी प्रदान की। इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह ने पधारे हुए मुख्य वक्ताओं का स्वागत किया तथा कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित करके किया गया।

इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि आज के युग में कम्प्यूटर सभी के लिए अतिआवश्यक हो गया है तथा प्रत्येक क्षेत्र चाहे वह मेडिकल, शिक्षा या अन्य कोई हो उसमें कम्प्यूटर के अंतर्गत कार्य किया जाने लगा है तथा सरकार भी आईटी पर काफी जोर डाल रही है इसलिए विद्यार्थियों को आईटी क्षेत्र में अपना भविष्य तलाशते हुए इससे सम्बन्धित कोर्सों को करना चाहिए ताकि उन्हें कामयाबी हासिल हो सके। उन्होंने कहा कि आज सम्पूर्ण राष्ट्र बदल रहा है तथा छोटे-छोटे बच्चों के हाथों में भी तकनीकी से सम्बन्धित खिलौने या अन्य गेजेट्स रहते है जिसके चलते हम यह कह सकते हैं कि आज का युग डिजिटाईलेजेशन का है, जो परिवर्तन का एक रूप है। डॉ.सिंह ने कहा कि व्यापार तथा मार्केट में भी डिजिटाईलेजेशन की होड़ लगी हुई है, जिसके चलते ऐसी कार्यशालाओं को करवाना काफी महत्वपूर्ण हो जाती है। उन्होंने कहा कि अगर आज के तकनीकी युग के साथ चला जाए तभी हम कामयाबी हासिल कर पाएंगे वैसे ही अगर व्यापार को बढ़ाना है तो उसमें डिजिटाईलेजेशन की जानकारी भी बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने अपने संबोधन में इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला, शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक एवं रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता जी का धन्यवाद करते हुए आभार प्रकट किया।

इस अवसर पर बतौर मुख्य वक्ता अपने संबोधन में जानकारी प्रदान करते हुए मि.कमल पंचाल एवं मोहम्मद ईजहार ने कहा कि डिजिटाईलेजेशन हो जाने से जहां कागजों के कारण कटने वाले पेड़ों को बचाया जा सकेगा, वहीं अब किसी को भी अपने साथ कागजों को लेकर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके हम अपने बिजनेस को बढ़ाने का बेहतर विकल्प चुन सकते हैं। मि.पंचाल ने इस अवसर पर सभी उपस्थित विद्यार्थियों को सोशल मीडिया पर अपने व्यापार के विस्तार हेतु विज्ञापन इत्यादि बनाने तथा उस पर किए जाने कार्यों के बारे में भी जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि प्रबंधन के विद्यार्थी होने के नाते आपको वर्तमान तकनीकी का उपयोग अवश्य करना चाहिए।

इस कार्यक्रम के अंत में सभी प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र भी प्रदान किया गया। वहीं प्राचार्य एवं आयोजकों द्वारा इस कार्यक्रम में पधारे हुए वक्ताओं को स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस मौके पर जेसीडी आईबीएम कॉलेज का समूचा स्टाफ, विद्यार्थीगण सहित अनेक गणमान्य लोग भी मौजूद रहे।

Friendly Cricket Match – JCD Vidyapeeth, Sirsa

A friendly cricket match was organized in between JCD Dental College and Admin Block Cricket teams. In which Mr. Sudhanshu Gupta, Registrar of JCDV, Dr. Rajeshwar Chawla, Principal of Dental College and Dr. Jai Parkash, Principal of JCD Education College participated, Match tossed done in the presence of Dr. Arindam Sarkar, Captain of Dental-Eleven and Mr. Mahendra Pratap Singh, Captain of Admin-Eleven team. This cricket match was organized under the guidance of Mr. Amir Singh, Cricket Coach and JCDV Sports Officer. The admin-eleven team won the match by six wickets.

जेसीडी विद्यापीठ के क्रिकेट मैदान में विगत दिवस जेसीडी डेन्टल कॉलेज तथा एडम ब्लॉक की टीमों के मध्य फ्रेेंडली मैच का आयोजन किया गया, जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता एवं डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.राजेश्वर चावला तथा जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश द्वारा डेन्टल-इलैवन के कप्तान डॉ.अरिन्दम सरकार एवं एडम-इलैवन के कप्तान मि.महेन्द्र प्रताप सिंह की उपस्थिति में टॉस करवाया गया। इस क्रिकेट मैच का आयोजन क्रिकेट कोच तथा जेसीडी विद्यापीठ के खेल अधिकारी मि.अमरीक सिंह के मार्गदर्शन में करवाया गया।

इस क्रिकेट मैच के दौरान टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय जेसीडी डेन्टल-इलैवन ने लेते हुए निर्धारित 15 ओवरों में ताबडतोड़ बल्लेबाजी करते हुए 96 रन बनाकर एडम-इलैवन के समक्ष जीत के लिए 97 रनों का लक्ष्य रखा। जिसमें डेन्टल-इलैवन के डॉ.सुमित ने अपना बेहतर प्रदर्शन करते हुए बल्लेबाजी में 24 गेंदों में सर्वाधिक 22 रनों का योगदान दिया वहीं उन्होंने गेंदबाजी में भी दो विकेट झटके। वहीं लक्ष्य का पीछा करने मैदान में उतरी एडम-इलैवन की टीम प्रारंभ में थोड़ा धीरे रन बना पाई परंतु बाद में बल्लेबाजी करने उतरे मोहर सिंह ने अपना दमखम दिखाते हुए 20 गेंदों में सर्वाधिक 30 रनों का योगदान देकर मैन ऑफ द मैच चुने गए। वहीं अंतिम ओवर में एडम-इलैवन की टीम ने 6 विकटों के माध्यम से जीत हासिल की।

इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि पधारे हुए श्री सुधांशु गुप्ता ने सभी खिलाडिय़ों की सराहना करते हुए कहा कि यह आयोजन दो विभागों के मध्यस्थ एक बेहतर सम्बन्ध स्थापित करने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि खेलों से जहां हमारा स्वास्थ्य बेहतर होता है वहीं इससे आपसी भाईचारा एवं सौहार्द की भावना जागृत होती है। उन्होंने कहा कि संस्थान के विभिन्न विभागों के मध्यस्थ इस प्रकार की आयोजन करवाए जाते हैं ताकि वे आपसी तालमेल स्थापित कर सकें। वहीं उन्होंने इस मौके पर सभी खिलाडिय़ों से आह्वान किया कि वे खेल को खेल की भावना से आपसी भाईचारा कायम करने के लिए खेलें।

इस अवसर पर जेसीडी डेन्टल कॉलेज के समस्त सीनियर्स एवं अन्य डॉक्टर्स के अलावा एडम ब्लॉक से मि.रविन्द्र झींझा, रचित गोयल, प्रमोद गोयल, अंकुश अरोड़ा, राजेश कुमार, संदीप दत्ता, कपिल शर्मा, संजय वर्मा, सत्यदीप सिसोदिया के अलावा अन्य अधिकारीगण एवं कर्मचारीगणों के अलावा विद्यार्थी भी मौजूद रहे तथा इस मैच का लुत्फ उठाया।

Road Safety Quiz Competition – JCD PG College of Education and IBM College, Sirsa

जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में सड़क सुरक्षा प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित
यातायात के नियमों का पालन दिल से करें भय से नहीं

As per instruction of Traffic Police, Sirsa Road Safety Training Competition was organized by JCD IBM College & JCD PG College of Education at JCDV. The principal of the College of Education Dr. Jai Prakash and JCD IBM Principal Dr. Kuldeep Singh especially attended the program. In this competition, Students of B.Ed. General, B.Ed. Special, M.Ed. and students from BBA and MBA took part. The event was organized on this occasion by lighting the lamp in front of Mother Sarasvati. #JCDIBM #JCDPGCOED #JCDV

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय एवं आईबीएम कॉलेज में विगत दिवस थाना यातायात पुलिस के निर्देशानुसार सड़क सुरक्षा प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश एवं जेसीडी आईबीएम के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह ने विशेष तौर से उपस्थित होकर विद्यार्थियों का उत्साहवद्र्धन किया। इस प्रतियोगिता में महाविद्यालय के बी.एड.सामान्य, बी.एड.स्पैशल, एम.एड. तथा बीबीए एवं एमबीए के विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया।

इस अवसर पर प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश एवं डॉ.कुलदीप सिंह ने अपने संबोधन में इस प्रश्रोतरी प्रतियोगिता में हिस्सा लें रहे प्रतिभागियों को अपनी शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए उनका हौंसला अफजाई करते हुए कह कि हम आपको हरसंभव सहयोग प्रदान करते रहेंगे क्योंकि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा देना ही नहीं बल्कि उनको नैतिक मूल्यों तथा सामाजिक बनाना भी है। उन्होंने अपने संबोधन में जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति का इस प्रकार के आयोजन हेतु आभार प्रकट करते हुए कहा कि सभी को यातायात नियमों की पालना मन से करनी चाहिए ना कि किसी के भय से क्योंकि अगर हम ट्रेफिक नियमों की पालना करते हैं तो इससे स्वयं का ही जीवन सुरक्षित होता है तथा दूसरें लोगों को भी होने वाले नुकसान से बचाया जा सकता है। डॉ.जयप्रकाश ने युवाओं से आह्वान किया कि वे जागरूक नागरिक बनें तथा पुलिस प्रशासन को सहयोग प्रदान करें ताकि नागरिकों एवं पुलिस के आपसी संबंध बेहतर बने रह सकें। वहीं वर्तमान में अधिकतर दुर्घटनाओं के शिकार यातायात नियमों की पालना न करने वाले ही होते हैं, इसलिए अपने जीवन के महत्व को समझें तथा इनकी मन से पालना करें, वहीं यह हमारा नैतिक कर्तव्य भी बनता है। डॉ.कुलदीप सिंह ने कहा कि जिस इंसान में अपने देश के प्रति भक्ति की भावना निहित है वह इसे उजागर करें तथा अपडेट रहते हुए समस्त यातायात नियमों तथा अन्य कानूनी नियमों की पालना करें।

इस कार्यक्रम का सफल आयोजन शिक्षण महाविद्यालय के प्रवक्ता श्री बलविन्द्र कुमार तथा जेसीडी आईबीएम की प्रवक्ता रीना मलिक एवं उनकी टीम के नेतृत्व में आयोजित करवाया गया था। इस प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता में निर्णायक मण्डल द्वारा विजेता घोषित की गई टीमों के विद्यार्थियों को अतिथियों द्वारा प्रमाण पत्र एवं स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस मौके पर शिक्षण महाविद्यालय तथा आईबीएम कॉलेज का समूचा स्टॉफ के अलावा समस्त विद्यार्थीगण तथा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

Extension Lecture for BBA and MBA Students – JCD IBM College, Sirsa

जेसीडी बिजनेस मैनेजमेंट कॉलेज द्वारा विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित
भारतीय मूल्य एवं व्यक्तित्व विकास पर आधारित नवीन ज्ञान प्रदान किया गया इस व्याख्यान में

Past Day Expert Lecture was organized at Business Management College, JCD Vidyapeeth, in which Dr. Harbhjan Bansal of Guru Jambheshwar University, Hisar #GJUHISAR presented detailed information while giving his lecture. On this occasion, Dr. R. R. Malik, Educational Director of JCD Vidyapeeth attended especially. At the same time, it was chaired by the college’s Principal Dr. Kuldeep Singh.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित बिजनेस मैनेजमेंट कॉलेज में विगत दिवस विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में गुरू जम्भेश्वर विश्वविद्यालय हिसार के डॉ.हरभजन बांसल ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक विशेष रूप से उपस्थित हुए। वहीं इसकी अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह द्वारा की गई।

सर्वप्रथम मुख्य वक्ता एवं अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह ने बताया कि जेसीडी विद्यापीठ में समय-समय पर ऐसे आयोजनों को करवाया जाता है ताकि विशेषज्ञों के माध्यम से विद्यार्थियों को बेहतर ज्ञान प्रदान करवाया जा सके तथा उनको अपडेट रखा जा सके। उन्होंने कहा कि अलग-अलग विश्वविद्यालयों से विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों को हमारे संस्थान में बुलाकर विद्यार्थियों को बौद्धिक स्तर को बढ़ाने का प्रयास किया जाता है तथा यह इसमें काफी सहायक सिद्ध होते हैं। वहीं इन कार्यक्रमों से विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का भी विकास होता है। डॉ.सिंह ने कहा कि यहां हम भविष्य के प्रबंधक तैयार कर रहे हैं जो न केवल शैक्षणिक ज्ञान में अग्रणी होंगे बल्कि अनुभवनात्मक ज्ञान से भी परिपूर्ण होंगे।

इस विशेषज्ञ व्याख्यान में मुख्य वक्ता के तौर पर विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ.हरभजन बांसल ने संस्थान में व्याप्त हरियाली तथा शांत एवं अनुशासित माहौल की भूरि-भूरि प्रशंसा की। वहीं उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे भले ही पाश्चात्य सभ्यता को अपनाएं परंतु सदा याद रखे कि उनकी पौराणिक भारतीय संस्कृति सबसे बेहतर एवं महान है इसलिए उसे किसी के आगे झूकने न दें। उन्होंने अनेक उदाहरणों के माध्यम से यह साबित भी किया कि वर्तमान के बदले हमारी पौराणिक संस्कृति किस प्रकार महान थी। डॉ.बांसल ने अपने संबोधन में हनुमान जी एवं श्री कृष्ण जी द्वारा समाजहित तथा प्रकृति के लिए किए गए कार्यों का व्याख्यान करते हुए कहा कि आप भी भलाई के रास्ते पर अग्रसर हो। उन्होंने कहा कि शिक्षा केवल किताबों को पढ़कर डिग्रियां हासिल कर लेना नहीं बल्कि यह एक व्यावहारिक ज्ञान है जो इंसान को समाज, परिवार तथा हमारे कर्तव्य के प्रति सचेत करती है तथा जो ज्ञान हमें सभ्य इंसान नहीं बना सकता वह हमारे किसी काम का नहीं है।

इस अवसर पर जेसीडी के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने कहा कि वर्तमान की युवा पीढ़ी हमारी पौराणिक परंपरा तथा संस्कृति को भूलती जा रही है, जो कि महान है। उन्होंने इस मौके पर शिक्षकों से आह्वान किया कि अपने विद्यार्थियों को नैतिक, सामाजिक एवं मानवतावादी गुणों की शिक्षा प्रदान करें ताकि वो सामाजिक प्राणी बनकर देशहित में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकें।

इस मौके पर डॉ.आर.आर.मलिक एवं डॉ.कुलदीप सिंह ने मुख्य वक्ता को जेसीडी विद्यापीठ की ओर से स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया। इस अवसर पर जेसीडी आईबीएम के स्टाफ सदस्य के अलावा बीबीए तथा एमबीए के विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

Schools of Sirsa participated in Coordination Meeting at JCDV, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ द्वारा विभिन्न स्कूलों के साथ सामंजस्य स्थापित करने हेतु बैठक का आयोजन
सिरसा जिला के विभिन्न नामी-गिरामी स्कूलों के मुख्याध्यापक एवं प्राचार्यों ने लिया बैठक में हिस्सा

A meeting of principal teachers and principals of various renowned schools of Sirsa district was organized in the auditorium room of the Education College, at JCD Vidyapeeth, which was chaired by Dr. R.R. Malik, the Education Director of the Vidyapeeth. Apart from Mr. Sudhanshu Gupta, Registrar of JCD University, Principal of different colleges of the Vidyapeeth were also present. This program was organized by Principal of the Education College, Dr. Jai Prakash. He provided detailed information about the relationship of the colleges and schools, congratulating and welcoming the chief teachers and principals of all the schools that came to this program. While convincing everybody for the Vidyapeeth, he told all the principals about the various colleges in the institute and the courses being run in them. He said that any institute is incomplete without the support of schools because children are coming out of these schools only become a part of the colleges.

जेसीडी विद्यापीठ में वीरवार को शिक्षण महाविद्यालय के सभागार कक्ष में सिरसा जिले के विभिन्न नामी-गिरामी विद्यालयों के मुख्य अध्यापकों एवं प्राचार्यों की एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक द्वारा अध्यक्षता की गई। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता के अलावा विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण भी मौजूद रहे। इस कार्यक्रम का आयोजन शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश द्वारा किया गया। उन्होंने इस कार्य्रकम में आए हुए सभी विद्यालयों के मुख्य अध्यापकों एवं प्राचार्यों का अभिनंदन एवं स्वागत करते हुए महाविद्यालय एवं विद्यालयों के संबंध के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। उन्होंने विद्यापीठ के उद्देश्य से सभी को अवगत करवाते हुए सभी प्राचार्य को संस्थान में चलाए जा रहे विभिन्न महाविद्यालयों तथा उनमें चल रहे कोर्सेज के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि कोई भी संस्थान बिना विद्यालयों के सहयोग के अधूरा होता है क्योंकि इन स्कूलों से निकलने वाले बच्चे ही आगे चलकर महाविद्यालयों का हिस्सा बनते हैं।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डॉ.आर.आर.मलिक ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि विद्यालयों एवं महाविद्यालयों का आपस में शैक्षणिक सहयोग होना बहुत जरूरी है क्योंकि इनसे ही विद्यार्थी को एक बेहतर संस्थान चुन पाने में सहयोग प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि सभी विद्यालयों को समय-समय पर अपने विद्यार्थियों को जेसीडी विद्यापीठ जैसी बेहतर संस्थाओं का भ्रमण अवश्य करवाना चाहिए, जिससे छात्रों के उद्देश्य व भविष्य के बारे में वह जागरूक हो सके। इस मौके पर आयोजित बैठक में वार्षिक खेलकूद कैलेंडर का भी निर्माण किया गया जिसके तहत 15, 16 व 17 नवंबर को खेलकूद प्रतियोगिता 22 व 23 नवंबर को साहित्यिक गतिविधियों का आयोजन करवाया जाएगा, जिसमें सभी स्कूलों के विद्यार्थियों की भी भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। डॉ.मलिक ने अपने संबोधन में कहा कि स्कूल ही किसी महाविद्यालय की नींव होते हैं क्योंकि यहां से ही विद्यार्थी निकलकर महाविद्यालय में जाते हैं इसलिए महाविद्यालयों एवं स्कूलों का आपसी तालमेल तथा सांमजस्य काफी लाभदायक साबित होता है।

इस अवसर पर विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला ने आए हुए सभी स्कूलों के प्राचार्यों का विद्यापीठ के सहयोग व इस कार्यक्रम में आगमन के लिए हार्दिक धन्यवाद देते हुए विश्वास दिलाया कि निकट भविष्य में भी जेसीडी विद्यापीठ स्कूलों को हरसंभव सहयोग प्रदान करता रहेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा के लिए हमारे संस्थान में विद्यार्थियों को बेहतर सुविधाएं मुहैया करवाई जाती है ताकि वह अपने माता-पिता, जिला के साथ-साथ राज्य का भी नाम रोशन करने का काम करें।

इस कार्यक्रम में सतलुज पब्लिक सी.सेकेंडरी स्कूल से नेवी सरकारिया तथा श्रीमती रितिका सरकारिया, सावन पब्लिक स्कूल से मि. अनुराग, द सिरसा स्कूल, राजेंद्रा पब्लिक स्कूल पंजूआना के प्राचार्य आशुतोष रस्तोगी, माता हरकी देवी, केन्द्रीय विद्यालय नं.1, एसयरफोर्स स्टेशन से श्री सुभाष चंद्र, केंद्रीय विद्यालय नं. 2 से श्रीमती सुशीला शेरावत, जी.आर.जी.वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सिरसा, जी डी गोयनका स्कूल सिरसा से पूनम मोंगा,डीएवी पब्लिक स्कूल से मि.राजीव व श्री राम सचदेवा तथा महाराजा अग्रसेन सी.सै.स्कूल के मुख्याध्यापक एवं प्राचार्य उपस्थित रहे।

Extension Lecture held in JCD IBM College, Sirsa

जेसीडी आईबीएम कॉलेज में विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित
जीजेयू के प्रोफेसर ने प्रदान की विद्यार्थियों को प्रबंधन में आए बदलावों तथा केस स्टडीज सम्बन्धी जानकारी

The expert lecture was organized at Business Management College, established at JCD Vidyapeeth #JCDIBM, in which Dr. NK Bishnoi, Professor of Guru Jambhaveshwar University, Hisar, gave detailed information while presenting his lecture. On this occasion, Dr. Kuldeep Singh, Principal JCD IBM College, welcomed the Chief Speaker and said that such programs are organized from time to time so that better knowledge can be provided to the students.

Dr. N.K. Bishnoi said that due to the various problems of management, companies had changed their style of work, which proves to be very profitable. Dr. Bishnoi described information about the most famous case study of General Motors changes and presented many other examples of evolution in management.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित बिजनेस मैनेजमेंट कॉलेज में विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में गुरू जम्भेश्वर विश्वविद्यालय हिसार के प्रोफेसर डॉ.एन.के.बिश्रोई ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक विशेष रूप से उपस्थित हुए। वहीं इसकी अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह द्वारा की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ.एन.के.बिश्रोई, डॉ.आर.आर.मलिक एवं डॉ.कुलदीप सिंह एवं अन्य गणमान्य लोगों द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया।

इस मौके पर सर्वप्रथम डॉ.कुलदीप सिंह ने अपने संबोधन में मुख्य वक्ता का स्वागत करते हुए बताया कि जेसीडी विद्यापीठ में समय-समय पर ऐसे आयोजनों को करवाया जाता है ताकि विशेषज्ञों के माध्यम से विद्यार्थियों को बेहतर ज्ञान प्रदान किया जा सके तथा नवीन जानकारियां उपलबध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के विशेषज्ञ व्याख्यान जहां विद्यार्थियों को पाठ्यक्रम से हटकर व्यापार सम्बन्धी जानकारी देते हैं वहीं यह उन्हें उनके क्षेत्र में अग्रसर होने के लिए प्रेरित भी करते हैं। उन्होंने डॉ.बिश्रोई का इस व्याख्यान हेतु पधारने पर हार्दिक आभार प्रकट करते हुए उनका अभिनंदन किया।

इस अवसर पर अपने वक्तव्य में डॉ.एन.के.बिश्रोई ने इस कार्यक्रम में उपस्थित जेसीडी आईबीएम के बीबीए तथा एमबीए के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि यह आपका सौभाग्य है कि आपको एक हरा-भरा तथा बेहतर संस्थान में शिक्षण तथा शिक्षा अर्जित करने का अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने अपने व्याख्यान में वर्तमान में नवीन पद्धति के माध्यम से मैनेजमेंट में आए बदलाव से भी उपस्थितजनों को अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि प्रबंधन की विभिन्न समस्याओं से अवगत होकर विभिन्न कंपनियों ने अपनी कार्यशैली में बदलाव किया है, जो काफी लाभदायक साबित होता है। डॉ.बिश्रोई ने केस स्टडी के बारे में बताते हुए जनरल मोटर्स बहुचर्चित केस स्टडी के बारे में जानकारी प्रदान की तथा प्रबंधन में बदलाव के अनेक उदाहरण भी प्रस्तुत किए।

इस मौके पर डॉ.आर.आर.मलिक एवं डॉ. कुलदीप सिंह ने डॉ.एन.के.बिश्रोई को जेसीडी विद्यापीठ की ओर से स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया। इस अवसर पर जेसीडी आईबीएम के स्टाफ सदस्य के अलावा बीबीए तथा एमबीए के विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On Google PlusVisit Us On PinterestVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram