Follow us:-
13th. Annual Athletic Meet (Second Day) – 10/03/2017
  • By
  • March 10, 2017
  • No Comments

13th. Annual Athletic Meet (Second Day) – 10/03/2017

जेसीडी विद्यापीठ में दो दिवसीय वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता के दूसरे दिन विद्यार्थियों ने प्रदर्शित की अपनी प्रतिभा
शिक्षक एवं गैर-शिक्षकगणों ने भी हिस्सा लिया दौड़ में, पुरूषों की 3000 मीटर दौड़ व 400 मीटर दौड़ में दीप सिंह ने मारी बाजी, महिला वर्ग की 400 मीटर दौड़ में अर्शदीप रही विजेता

सिरसा 10 मार्च, 2017 : विद्यापीठ के संस्थापक एवं समाजसेवी डॉ.अजय सिंह चौटाला जी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में विद्यापीठ में आयोजित की जा रही दो दिवसीय 13वीं वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता के दूसरे दिन प्रात:कालीन सत्र में चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के डिन ऑफ कॉलेजिज प्रो.एस.के. गहलावत ने बतौर मुख्यातिथि तथा प्रो. डॉ.विष्णु भगवान ने बतौर विशिष्ट अतिथि शिरकत की। इस मौके पर उनके साथ जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक, विद्यापीठ की प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला, रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता के अलावा जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ.विनय लाठर, डॉ.जयप्रकाश, डॉ.रोशन लाल, डॉ.प्रदीप स्नेही, कर्नल (रिटायर्ड) डॉ.सतीश गुप्ता, डॉ.हिमांशु मोंगा, इंजी. आर.एस.बराड़, जेसीडी विद्यापीठ के खेल अधिकारी मि.अमरीक सिंह गिल के अलावा अन्य अधिकारीगण व विद्यार्थीगण इत्यादि भी उपस्थित रहे। इस मौके पर शिक्षण महाविद्यालय के प्रोफेसर डॉ.राजेन्द्र कुमार ने मंच संचालन किया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया।

इस मौके पर डॉ.आर.आर.मलिक एवं इंजी.आकाश चावला ने मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए विगत दिवस आयोजित हुई प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करने वाले तथा विजेता खिलाडिय़ों को बधाई प्रेषित की। डॉ. मलिक ने कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी में एक गुण होता है परंतु जरूरत है उसको पहचानने की तथा हमारा प्रयास सदैव यहीं रहता है कि हम हमारे विद्यार्थियों को बेहतर सुविधाओं के साथ-साथ उनके सर्वांगीण विकास हेतु तत्पर रहते हैं। उन्होंने कहा कि समय-समय पर आयोजित होने वाली खेल प्रतिस्पर्धाओं एवं अन्य गतिविधियों के माध्यम से विद्यार्थी शिक्षा के साथ-साथ अन्य गतिविधियों में भी हिस्सा ले सकते हैं, जो एक अच्छी बात है। उन्होंने अपने संबोधन में मुख्यातिथि एवं विशिष्ट अतिथि द्वारा प्राप्त उपलब्धियों के बारे में विद्यार्थियों एवं उपस्थितजनों को अवगत करवाया।

इस अवसर पर प्रात:कालीन सत्र में बतौर मुख्यातिथि डॉ.एस.के.गहलावत ने सर्वप्रथम सभी को डॉ.अजय सिंह चौटाला जी के जन्मदिवस की अग्रिम बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि जेसीडी विद्यापीठ द्वारा विद्यार्थियों के बेहतर विकास हेतु अनेक आयोजन करवाए जाते हैं जिनमें सभी को हिस्सा लेकर बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए ताकि उनका सर्वांगीण विकास हो पाए। उन्होंने कहा कि खिलाडिय़ों में जो गुण है वे अपनी-अपनी गुणवत्ता के अनुसार ही उसे कायम रखते हुए तथा अपनी इच्छा अनुसार किसी न किसी खेल को अवश्य चुनें। डॉ. गहलावत ने कहा कि विद्यार्थियों का दृष्टिकोण बहुत ही सकारात्मक होता है, जिसके कारण वे जीवन में बहुत ही आगे बढ़ते हैं। उन्होंने अपने संबोधन में ओलम्पिक में दिवांगों द्वारा किए गए प्रदर्शन का उदाहरण देते हुए सभी खिलाडिय़ों को अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने का आह्वान किया।

बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित हुए डॉ.विष्णु भगवान ने सभी खिलाडिय़ों को कहा कि हमेशा एक खिलाड़ी को खेल को खेल भावना से खेलना चाहिए। उन्होंने कहा कि एक खिलाड़ी सदैव प्रेमभाव का प्रदर्शन करते हैं तथा किसी भी प्रतियोगिता में खिलाड़ी के पीछे वाला उसे आगे बढऩे की प्रेरणा प्रदान करता है। डॉ.विष्णु भगवान ने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ ने वर्तमान में जो पूरे भारत वर्ष में अपनी पहचान कायम की है वह यहां के अधिकारियों, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों के सहयोग से ही संभव हो पाई है। उन्होंने खिलाडिय़ों को संबोधित करते हुए कहा कि आप अपना बेहतर प्रदर्शन करें तथा हार-जीत को भुलाकर संघर्ष करें तो आपको सफलता अवश्य हासिल होगी।

प्रतियोगिताओं के दूसरे दिन आयोजित खेल प्रतिस्पर्धाओं में पुरूषों की 3000 मीटर दौड़ में मैमोरियल कॉलेज के दीप सिंह ने प्रथम,विक्रम ने द्वितीय एवं संदीप ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में डेन्टल कॉलेज की अर्शदीप ने प्रथम,बहुतकनीकी संस्थान की हरप्रित ने द्वितीय एवं मैमोरियल कॉलेज की पूजा ने तृतीय स्थान पाया तथा पुरूषों की 400 मीटर दौड़ में मैमोरियल के दीप सिंह ने प्रथम,फार्मेसी कॉलेज के सोमवीर ने द्वितीय एवं इंजीनियरिंग कॉलेज के वीर सिंह ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इस अवसर पर शिक्षक एवं गैर-शिक्षक वर्ग की 100 मीटर दौड़ का भी आयोजन किया गया। इन सभी विजेता प्रतिभागियों को मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा पुरस्कार प्रदान करके सम्मानित किया गया।