Follow us:-
3-Days Ch. Devi Lal Ji Jayanti Celebration – JCDV, Sirsa
  • By
  • September 25, 2018
  • No Comments

3-Days Ch. Devi Lal Ji Jayanti Celebration – JCDV, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में चौ.देवीलाल जयंति समारोह का आयोजन, अनेकों कार्यक्रमों के माध्यम से किए गए श्रद्धासुमन अर्पित
जेसीडी अस्पताल द्वारा 100 यूनिट से अधिक रक्त किया गया एकत्रित, जन्मदिवस के अवसर पर ही आयोजित हुआ टैलेंट हंट फिनाले एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम- गठित की गई जननायक चौ.देवीलाल शिक्षक बिग्रेड

जेसीडी विद्यापीठ में चौ.देवीलाल जी की 105वीं जयंति के उपलक्ष्य में तीन दिवसीय विभिन्न कार्यक्रमों का आज विधिवत् समापन हुआ। मंगलवार को आयोजित कार्यक्रमों में प्रात:कालीन सत्र में चौ.देवीलाल जी की प्रतिमा के सम्मुख बतौर मुख्यातिथि विद्यापीठ के संस्थापक अध्यक्ष डॉ.अजय सिंह चौटाला द्वारा तथा सभी स्टाफ सदस्यों एवं विद्यार्थियों द्वारा पुष्प अर्पित किए गए तथा इसके पश्चात् शिक्षण महाविद्यालय के सभागार में एक शांति सभा का आयोजन किया गया। वहीं इससे पूर्व 22 एवं 24 सितम्बर को विद्यापीठ में वृक्षारोपण कार्यक्रम, जेसीडी अस्पताल में रक्तदान शिविर तथा स्वास्थ्य जांच कैंप व जेसीडी के सभागार में प्रतिभा खोज कार्यक्रम का फाईनल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन हुआ था। इस अवसर पर मुख्यातिथि महोदय के साथ सिरसा के प्रबुद्ध व्यक्तियों में श्री पदम चंद जैन, श्री अमीर चंद चावला, श्रीमती कृष्णा फौगाट, श्री सुरजीत सिंह भांभू के अलावा अनेक अन्य गणमान्य लोग भी मौजूद रहे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक के अलावा विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ. जयप्रकाश, इंजी.आर.एस.बराड़, डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता, डॉ.राजेश्वर चावला, डॉ.अनुपम्मा सेतिया द्वारा की गई। इसके अलावा अनेक अन्य अधिकारीगण एवं स्टाफ सदस्यों ने भी उनकी जयंति पर अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस कार्यक्रम का मंच संचालन जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्रोफेसर डॉ. राजेन्द्र कुमार द्वारा बखूबी किया गया।

इस अवसर पर सर्वप्रथम अपने संबोधन में डॉ.आर.आर.मलिक ने इस कार्यक्रम में पधारने के लिए डॉ.अजय सिंह चौटाला जी का आभार प्रकट करते हुए सभी शिक्षकगणों एवं विद्यार्थियों को उनके द्वारा किए जा रहे महानतम कार्यों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि चौ. देवीलाल जी की 105वीं जयंति के उपलक्ष्य में डॉ.अजय सिंह चौटाला जी का उपस्थित होना अपने आप में एक बेहतर उपलब्धि हैं क्योंकि इन्होंने उनके सानिध्य में रहकर बहुत कुछ उनके बारे में जाना है तथा उनका प्रेम एवं अपार स्नेह इनको प्राप्त हुआ है। डॉ.मलिक ने कहा कि चौ.देवीलाल जी त्याग की मूर्ति थे, जिन्होंने एक गरिमामय प्रधानमंत्री के पद को ठुकराकर मिसाल कायम की थी तथा सम्पूर्ण हरियाणा का राष्ट्रीय ही नहीं अपितु अपनी सादगी एवं मधुर स्वभाव के साथ-साथ जनहितैषी होकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान कायम करने का काम किया था। उन्होंने कहा कि चौ.देवीलाल जी ने जो हमें रास्ता दिखाया था उस रास्ते पर हम चलें यही हमारी उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

इस मौके पर बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ.अजय सिंह चौटाला ने विद्यापीठ प्रबंधन समिति के साथ-साथ डॉ.मलिक एवं अन्य का इस अवसर पर उन्हें आमंत्रित करने के लिए आभार व्यक्त करते हुए सभी उपस्थितजनों को युगपुरुष चौ.देवीलाल जी की जयंति की हार्दिक बधाई देते हुए अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की। उन्होंने कहा कि चौ.देवीलाल जी सदैव गरीब, असहाय, कमेरे, किसान व मजदूर वर्ग के हितैषी रहे तथा उनके लिए वे अनेकों बार जेल भी गए तथा उन्होंने अपने परिवार से पूर्व इन वर्गों को वरियता दी इसीलिए आज प्रत्येक वर्ग उन्हें याद करता है तथा केवल सिरसा जिला ही नहीं अपितु अनेक राज्यों में उनके जन्मोत्सव को बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। उन्होंने अपने संबोधन में सभी से आग्रह किया कि हमें चौ.देवीलाल जी के सपनों को ध्यान में रखकर अपनी जिम्मेदारियों को भली-भांति निभाना चाहिए ताकि सच्चे अर्थों में उनकी जयंति मनाई जा सके। डॉ.अजय सिंह ने युवाओं को कहा कि आप आने वाले समय के निर्माता हो इसलिए आपकी जिम्मेवारी बनती है कि आप चौ.देवीलाल जी के आदर्शों एवं उनके द्वारा दिखाए गए भलाई व कर्मठता के रास्तों पर चलकर अपनी एक अलग पहचान कायम करें। उन्होंने कहा कि चौ.देवीलाल जी के सपनों को साकार रूप प्रदान करने के लिए जेसीडी विद्यापीठ परिवार सच्ची लग्र एवं मेहनत से प्रयासरत्त है, जिसके तहत आज सिरसा जैसे शिक्षा में पिछड़े इलाके में बेहतर शिक्षा संस्थान स्थापित हैं तथा हमारे विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा हेतु कहीं बाहर जाने की आवश्यकता नहीं रह गई है। वहीं उन्होंने इस अवसर पर चौ.देवीलाल जी के साथ रहते हुए जो अनुभव प्राप्त किए थे वे भी विद्यार्थियों से सांझा किए।

इस कार्यक्रम में अपने धन्यवादी अभिभाषण में डॉ.जयप्रकाश ने सभी अतिथियों एवं अन्य उपस्थितगणों का कार्यक्रम में पधारने पर आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि चौ. देवीलाल जी को केवल कोई एक विशेष वर्ग ही नहीं अपितु प्रत्येक व्यक्ति उनके महानतम कार्यों के कारण मन से नमन करता है क्योंकि चौ.देवीलाल जी ने सदैव असहाय वर्गों की आवाज बनकर उनके हितार्थ कार्य किया और उनके मर्म को समझकर उनकी पीड़ा को दूर करने का प्रयास किया, उसी तर्ज पर उनकी आगामी पीढिय़ां भी प्रत्येक वर्ग को अपना सहयोग प्रदान करने का कार्य कर रही है। उन्होंने इस मौके पर चौ.देवीलाल जी द्वारा किए गए कार्यों का प्रचार-प्रसार करने एवं युवा पीढ़ी को इसकी ओर अधिक जानकारी उपलब्ध करवाने के लिए चौ. देवीलाल शिक्षक ब्रिगेड का गठन किया गया।

इसके पश्चात् विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण ने विभिन्न स्थानों जैसे दिशा संस्थान, प्रयास, वृद्धाश्रम एवं भाई कन्हैया आश्रम में अनाज एवं फल इत्यादि वितरित करके चौ.देवीलाल जी की जयंति मनाई। वहीं इस मौके पर सभी कॉलेजों के प्राचार्यगण एवं द सिरसा स्कूल के प्राचार्य श्री मनोज कुमार के अलावा अनेक स्टाफ सदस्य, माली, स्वीपर एवं अन्य अनेक वर्ग के लोग भी मौजूद रहे तथा अपने चहेते चौ.देवीलाल जी प्रतिमा के समक्ष श्रद्धासुमन अर्पित किए गए।