Follow us:-
Celebrate National Science Day – 28/02/2017
  • By
  • February 28, 2017
  • No Comments

Celebrate National Science Day – 28/02/2017

जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के विज्ञान संकाय के विद्यार्थियों ने मनाया राष्ट्रीय विज्ञान दिवस
भारतीय वैज्ञानिकों के अथक प्रयासों से विश्व पटल पर भारत की बनी एक विशेष पहचान – डॉ. आर.आर. मलिक

सिरसा 28 फरवरी, 2017 : जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित मैमोरियल कॉलेज के साईंस विभाग द्वारा राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के उपलक्ष्य में इंटर कॉलेज विज्ञान सम्बन्धी प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाया गया, जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी. आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। वहीं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ. प्रदीप स्नेही एवं जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगणों द्वारा की गई। इस कार्यक्रम का आयोजन मैमोरियल कॉलेज की प्राध्यापिका नेहा मेहता एवं उनकी टीम की देखरेख में आयोजित करवाया गया।

इस अवसर पर सर्वप्रथम कॉलेज के प्राचार्य डॉ. प्रदीप स्नेही ने मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों के अलावा सभी का स्वागत करते हुए बताया कि 28 फरवरी को भारत के महान वैज्ञानिक डॉ. सी.वी.रमन की जयंति के उपलक्ष्य में उनके द्वारा भारतीय विज्ञान जगत में उनकी उपलब्धियों को स्मरण करने हेतु मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि इसी दिन डॉ. सी.वी. रमन ने रमन प्रभाव की खोज की, जिसके लिए उनकों नोबल पुरूस्कार से सम्मानित किया गया, भारत सरकार ने उनके सम्मान में इस दिन को महत्वपूर्ण बनाने हेतु इसे राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया और आज सम्पूर्ण भारत वर्ष में इस दिवस को बड़े ही उत्साह व उल्लास के साथ मनाया जाता है।

इस कार्यक्रम के समापन अवसर पर विद्यार्थियों की हौंसला आफजाई करने एवं पुरस्कार व प्रमाण-पत्र प्रदान करने के लिए बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी. आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक ने अपने संबोधन में कहा कि आज भारत विश्व में उभरते हुए महाशक्ति के रूप में अपनी एक अलग पहचान बना रहा है तथा यह पहचान भारतीय वैज्ञानिकों की अथक मेहनत का ही नतीजा है। उन्होनें कहा कि भारत 200 सालों तक गुलामी झेलने के बाद फिर से विश्व शक्ति बनने की राह पर है यह सब भारतीय वैज्ञानिकों के प्रयासों का ही नतीजा है। उन्होंने कहा कि किसी भी देश की तरक्की वहां के लोगों की सकारात्मक सोच से ही संभव हो सकती है। डॉ. मलिक ने कहा ंिक जेसीडी विद्यापीठ का प्रबंधन आज इसी प्रकार की शिक्षा पर जोर दे रहा है तथा आने वाले समय में मैनेजमैंट साईंस विषय में कुल सात एम.एस.सी. विषय शुरू करने जा रहा है जो विज्ञान के क्षेत्र में रूचि रखने वाले विद्यार्थियों के भविष्य को संवारने हेतु एक बेहतर विकल्प का काम करेंगे। उन्होंने विद्यार्थियों को प्रोत्याहित करते हुए कहा कि हम आप सभी के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते है तथा उम्मीद करते है कि आप सभी भारत के युवा वैज्ञानिक बने तथा संस्थान के साथ-साथ देश का भी नाम रोशन करे।

इस मौके पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के आधार पर निर्णायक मंडल की भूमिका अदा करते हुए डॉ. राजेन्द्र कुमार, श्रीमती कांता रोहिल्ला, रनदीप कौर, डॉ. मधु, श्रीमती पुष्पा देवी एवं डॉ. दीप्ति पंडिता ने अपना निर्णय सुनाते हुए कोलाज मेकिंग में प्रियंका सैनी को प्रथम, मेघा बिश्रोई को द्वितीय तथा मीरा को तृतीय चुना गया। वहीं वेस्ट मैटिरियल का सदुउपयोग प्रतियोगिता में स्नेहपाल को प्रथम, शिवानी को द्वितीय एवं दिव्या को तृतीय चुना गया। इसी के साथ भाषण प्रतियोगिता में गौरांग एवं कमल सिंह को प्रथम, तन्वी और संचित को द्वितीय तथा वैभव व रंजित को तृतीय चुना गया। उधर पीपीटी में नीरज को प्रथम, दिशाफल को द्वितीय तथा विपिन को तृतीय चुना गया।

इस कार्यक्रम के अंत में मुख्यातिथि महोदय एवं अन्य कॉलेजों के प्राचार्यगणों ने सभी विजेता प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र एवं पुरस्कार प्रदान करके सम्मानित किया। इस अवसर पर विज्ञान विभाग के प्रो. करण कम्बोज, प्रो. रोहताश सिहं, डा. विनोद, प्रो. रचना सिंह, प्रो. सीमा मेहता, प्रो. सीमा, प्रो. मधु, प्रो. दामिनी जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण तथा विभिन्न कॉलेजों के विद्यार्थीगण एवं गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।