National Technology Day Celebration – JCDM College of Engineering, Sirsa

जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज में राष्ट्रीय तकनीकी दिवस का आयोजन
तकनीकी ने बनाया हमारे जीवन को सरल, इससे सुरक्षा एवं समय की भी हुई बचत : डॉ.शमीम शर्मा
विद्यार्थियों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं जैसे पोस्टर मेकिंग, कोलॉज, पॉवर प्वाईंट प्रेजेंटेशन व मॉडल मेकिंग में दिखाया दमखम

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित इंजीनियरिंग कॉलेज में हरियाणा सरकार के साईंस एवं तकनीकी विभाग के तत्वावधान में राष्ट्रीय तकनीकी दिवस के अवसर पर अंत:महाविद्यालय प्रतियोगिताओं जैसे पोस्टर मेकिंग, कोलॉज मेकिंग, पॉवर प्वाईंट प्रस्तुतीकरण व मॉडल मेकिंग इत्यादि का आयोजन करके राष्ट्रीय तकनीकी दिवस को मनाया गया। जिसमें विद्यार्थियों ने तकनीकी, विज्ञान व नवीनता का समावेश करते हुए अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि एवं मुख्य वक्ता के तौर पर शिरकत की। कार्यक्रम में पधारने पर मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों का कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता एवं समस्त विभागाध्यक्षों द्वारा उनका स्वागत किया गया। इस मौके पर उनके साथ जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के समक्ष अतिथि महोदय एवं अन्य द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया।

सर्वप्रथम कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता ने समस्त अतिथियों एवं गणमान्य लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि इस प्रकार के आयोजन से हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर ज्ञान उपलब्ध करवाना है तथा इस मौके पर आयोजित इस कार्यशाला एवं प्रतियोगिताओं से विद्यार्थियों को जहां विशेषज्ञों के माध्यम से उचित ज्ञान प्राप्त होगा, वहीं वे अपनी छुपी हुई प्रतिभा को जांच सकेंगे तथा ओर अधिक बेहतर कर पाएंगे। वहीं उन्होंने सभी को इस तकनीकी दिवस मनाने के प्रायोजन से भी अवगत करवाया।

इस कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ.शमीम शर्मा ने सर्वप्रथम कार्यशाला में उपस्थित विद्यार्थियों एवं अन्य लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि तकनीक जहां हमारी प्रगति के अवसर प्रदान करती है वहीं इसके दुष्परिणाम भी कम नहीं है इसलिए हमें प्रत्येक तकनीक को उसके अच्छे व बुरे दोनों पहलुओं को मध्येनजर रखते हुए ही उसका प्रयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान युग तकनीकी का है तथा इसने सबसे अधिक महिलाओं के जीवन को प्रभावित किया है तथा उनके जीवन को सरल बनाया है ताकि वे अपने दिनचर्या के कार्यों को कम समय में तथा बेहतरीन ढंग से कर पाती है। इसके अतिरिक्त वे अपनी तथा अपने परिवार की सुरक्षा भी तकनीकी के उपयोग से कर सकती है। उन्होंने इस मौके पर विद्यार्थियों द्वारा बनाए गए प्रोजेक्टस की सराहना करते हुए उन्हें ओर अधिक मेहनत करके कामयाबी हासिल करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि जहां वर्तमान में प्रत्येक मनुष्य इलैक्ट्रॉनिक उत्पादों का आदि हो चुका है वहीं इनसे कुछ हद तक कार्य कुशलता में भी वृद्धि हुई है।

कार्यक्रम में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में निर्णायक मण्डल द्वारा बेहतर प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों में पोस्टर मेकिंग में सिविल के रविन्द्र को प्रथम व बीजा सिंह को द्वितीय चुना गया। वहीं कोलॉज मेकिंग में बी.एड. स्पैशल की छात्रा आशा को प्रथम तथा वीरपाल कौर को द्वितीय चुना गया। पॉवन प्वाईंट प्रेजेंटेशन में मैकेनिकल का बलजीत सिंह प्रथम, कम्प्यूटर साईंस का योगेश बांसल द्वितीय तथा सिविल का योगेश जिन्दल तृतीय घोषित किया गया। वहीं प्रोजेक्ट प्रदर्शनी में बेहतर प्रोजेक्ट बनाने वालों में अभिमन्यु को प्रथम, सिविल के जयसिंह एवं गु्रप को द्वितीय तथा सीएसई के पीयूष एवं मैकेनिकल के शुभम गिरधर एवं गु्रप को तृतीय चुना गया।

कार्यक्रम के अंत में सभी विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। इस समस्त कार्यक्रम का आयोजन इलैक्ट्रॉनिक्स विभागाध्यक्ष इंजी.वीना रानी की देखरेख में किया गया। इस मौके पर जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज के समस्त विभागाध्यक्ष, स्टाफ सदस्य एवं विद्यार्थीगणों सहित अन्य अनेक गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।