Follow us:-
Celebration of Lohri and Makar Sankaranti
  • By
  • January 13, 2018
  • No Comments

Celebration of Lohri and Makar Sankaranti


जेसीडी विद्यापीठ प्रांगण में हर्षोल्लास से मनाया गया लोहड़ी एवं मकर संक्राति का पावन पर्व
– संस्थान में स्थापित जेसीडी डेन्टल कॉलेज के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में,इंजीनियरिंग,आईबीएम,मैमोरियल,शिक्षण महाविद्यालय,फार्मेसी व महिला एवं पुरूष छात्रावास के विद्यार्थियों ने भी डाली पावन अग्रि में आहूति

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित डेन्टल कॉलेज के सौजन्य से अन्य सभी कॉलेजों के सांझा सहयोग सहित लोहड़ी एवं मकर संक्रांति का पावन पर्व के अवसर पर मस्ती का आलम रहा तथा विद्यार्थियों ने मनोरंजक प्रस्तुतियों के माध्यम से खूब वाहवाही लूटी तथा इस त्यौहार को धूमधाम से मनाया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ बतौर मुख्यातिथि शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में जेसीडी डेन्टल कॉलेज के प्रबंधक प्रतिनिधि श्री सिद्धार्थ झींझा द्वारा पावन अग्रि में तिल व मूंगफली डालकर किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. राजेश्वर चावला द्वारा की गई। वहीं इस अवसर पर उनके साथ जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता के अलावा विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ.जयप्रकाश, डॉ.विनय लाठर, डॉ.प्रदीप स्नेही, डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.हिमांशु मोंगा व इंजी.आर.एस.बराड़ सहित अनेक अधिकारीगण,स्टॉफ सदस्य एवं गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर विभिन्न कॉलेजों के विद्यार्थियों द्वारा संयुक्त रूप से एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें कार्यक्रम का प्रारंभ लोहड़ी से जुड़े लोकगीत द्वारा किया गया तथा इसके पश्चात् विभिन्न छात्र-छात्राओं ने अपनी प्रस्तुति देकर अपनी प्रतिभा का विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से प्रदर्शन किया तथा लोहड़ी को यादगार बनाया। वहीं जेसीडी डेन्टल कॉलेज के विद्यार्थियों ने भी विभिन्न गीतों पर नृत्य,भंगड़ा एवं लोहड़ी के गीतों पर गिद्दा इत्यादि प्रस्तुत किया।

इस मौके पर बतौर मुख्यातिथि डॉ.आर.आर.मलिक ने सभी विद्यार्थियों एवं अतिथियों को लोहड़ी एवं मकर संक्रांति की बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि लोहड़ी का त्यौहार सम्पूर्ण उत्तर भारत में मनाया जाने वाला प्रसिद्ध त्यौहार है,जिसे सभी लोग बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं। उन्होंने कहा कि इस त्यौहार का सम्बन्ध खेतों की खुशहाली, सम्बन्धों में गर्माहट और शीत ऋतु के सम्मान का प्रतीक है। उन्होंनेे कहा कि आजकल की युवा पीढ़ी पाश्चात्य सभ्यता को अपनाती जा रही है और हमारी पौराणिक संस्कृति से जुड़े तीज-त्यौहारों को भुलती जा रही हैं, जिससे हमारी संस्कृति का हनन हो रहा है। उन्होंने कहा कि आप सभी युवा है तथा आपमें जिस प्रकार किसी सांस्कृतिक कार्यक्रम को लेकर जो उत्साह देखने को मिलता है,उसी प्रकार का उत्साह अपने शिक्षण एवं खेलों में भी दिखाए तथा अपने देश को आगे बढ़ाएं तथा देशहित के लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर श्री सिद्धार्थ झींझा ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम सभी को लोहड़ी एवं मकर संक्राति की बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि त्यौहार हमारी भारतीय संस्कृति के प्रतीक हैं ओर हमारी भारतीय सभ्यता की इनसे ही पहचान है। त्योहार हमें उम्मीद,उत्साह एवं हौंसला प्रदान करते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाबी लोगों का यह त्यौहार गर्मजोशी के साथ एवं अनुशासित माहौल में मनाया जाना चाहिए ताकि इससे हमारे आपसी सम्बन्ध ओर बेहतर बन सकें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक त्योहार की अपनी एक अहमियत है, गरिमा है इसलिए हमें उन्हें मनाने के साथ-साथ उनके पीछे निहित इतिहास को जानना चाहिए तथा उनसे शिक्षा भी हासिल करनी चाहिए।

वहीं डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.राजेश्वर चावला ने अपने संबोधन में सभी को इन पावन त्योहारों की बधाई प्रेषित करते हुए सभी के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि हमें अनुशासन में रहते हुए प्रत्येक त्यौहार को हर्षोल्लास के साथ मनाना चाहिए ताकि हमारी संस्कृति एवं संस्कारों को बचाया जा सके।

इस कार्यक्रम में सभी कॉलेजों के प्राचार्यों ने भी विद्यार्थियों को अपनी बधाई प्रेषित की और तिल और देसी घी से लोहड़ी के उपलक्ष्य में अग्रि की पूजा की गई और उपस्थित सभी को मूंगफली,रेवड़ी व गज्जक आदि भी वितरित किये गए। सभी कार्यक्रमों में सभी कॉलेजों के स्टॉफ सदस्य एवं समस्त विद्यार्थीगण भी उपस्थित रहे। वहीं सांध्यकालीन जेसीडी के महिला एवं पुरूष छात्रावास में भी कार्यक्रम आयोजित करके विद्यार्थियों द्वारा पावन पर्व को मनाया गया।