Follow us:-
Celebration of 77th Independence day
  • By JCDV
  • August 15, 2023
  • No Comments

Celebration of 77th Independence day

जेसीडी विद्यापीठ में ध्वजारोहण कर मनाया गया 77वां स्वतंत्रता दिवस।
नई वैज्ञानिक तकनीकी को अपनाकर हम देश को ले जा रहें हैं नई तरक्की की ओर : प्रोफेसर ढींडसा

सिरसा 15-08-2023 :जेसीडी विद्यापीठ में स्वतन्त्रता दिवस के उपलक्ष्य में ध्वजारोहण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के कुलसचिव डॉ. सुधांशु गुप्ता, जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश एवं जेसीडी डेंटल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.अरिंदम सरकार ने मिलकर ध्वजारोहण किया। सभी द्वारा तिरंगे को सेल्यूट करके सलामी दी गई। इसके पश्चात जेसीडी विद्यापीठ के विद्यार्थियों द्वारा देश भक्ति के गीत प्रस्तुत किए गए।

इस मौके पर प्राचार्य डॉ जयप्रकाश ने 77 वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए इस पावन अवसर के आयोजन के लिए जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन श्री अर्जुन सिंह चौटाला एवं जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक प्रोफेसर डॉ कुलदीप सिंह ढींडसा का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहां की इस आजादी को प्राप्त करने के लिए हमारे अनेक शहीदों ने कुर्बानी दी थी वो हमें सदा स्मरण रखनी चाहिए तथा अपने देशहित के लिए कर्तव्य का बेहतर तरीके से निर्वहन करना चाहिए।

इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक एवं अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक प्रोफेसर डॉ कुलदीप सिंह ढींडसा के संदेश को पढ़ते हुए प्राचार्य डॉक्टर जय प्रकाश ने कहा कि हम यहां पर 77वां स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए एकत्र हुए हैं। मेरी माटी मेरा देश अभियान के तहत जेसीडी विद्यापीठ में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं । इन कार्यक्रमों के तहत जंगे आजादी के नायकों और शहीद जवानों का स्मरण करते हुए पंच प्रण प्रतिज्ञा, पौधारोपण और जागरूकता रैली निकाली गई । आज ही के दिन 1947 में भारत अंग्रेजों की बेड़ियों से आजाद हुआ था। इस आजादी की लड़ाई में हमने न जाने कितने लोगों को खो दिया। ऐसे सभी महापुरुषों सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद,भगत सिंह, सरदार वल्लभभाई पटेल,महात्मा गांधी, लाल बहादुर शास्त्री, दादा भाई नौरोजी, लाला लाजपत राय, लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक और बिपिन चंद्र पाल बोस, चौधरी देवी लाल , रानी लक्ष्मी बाई ,सरोजिनी नायडू को हम नमन करते हैं जिन्होंने अपने प्राणों की चिंता न करते हुए हमें आजाद भारत में सांस लेने का मौका प्रदान किया। महापुरुषों के साथ ही आज हम उन वीरों को नमन करते हैं जो देश की रक्षा के लिए दिन-रात सीमा पर भारत माता की रखवाली कर रहे हैं ताकि हम फिर से कभी किसी जंजीरों में न जकड़े जा सकें। आज इस पावन अवसर पर हम सभी को अपने भारत देश के साथ साथ जेसीडी विद्यापीठ को कामयाबी के उच्च शिखर तक पहुंचाने तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक एक बेहतर पहचान कायम करने की शपथ लेनी चाहिए।

जैसा कि हम जानते हैं कि हमारा देश प्रचीन काल से ही कृषि प्रधान देश रहा है और आजादी के बाद हमने कृषि में नई तकनीक और फसल उगाने के नये तरीकों का इस्तेमाल कर अधिक मात्रा मे फसल का उत्पाद किया है । आज आजादी के बाद विज्ञान के क्षेत्र में भी हमने काफी तरक्की कर ली है। इस वैज्ञानिक तकनीकी के कारण आज भारत चन्द्रमा और मंगल तक का सफर तय कर चुका है। नई वैज्ञानिक तकनीकी को हर दिन नया कर हम देश को एक नई तरक्की की ओर ले जा रहे हैं। विज्ञान और तकनीक को हम अपने लिए हर क्षेत्र में अपना रहे हैं। आजादी के बाद हमने हर क्षेत्र मे प्रगति की है और रोज नये आयामों को लिख रहे है।

इस कार्यक्रम का आयोजन स्पोर्ट्स ऑफिसर अमरिक सिंह एवं सुरक्षा अधिकारी जसवंत सिंह की देखरेख में किया गया। मंच का संचालन प्रोफेसर डॉ राजेंद्र कुमार द्वारा किया गया । इसके पश्चात् उपस्थित सभी अधिकारीगण, कर्मचारी गण एवं विद्यार्थी गण को मिठाईयां बांटकर कार्यक्रम का समापन किया गया।