Or 01666-238105
Mon - Sat: 9:00AM - 5:00PM All Holidays and Saturday - Open

Celebration of Haryali TEEJ – JCD Vidyapeeth, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से मनाया गया हरियाली तीज का त्यौहार
संस्कृति को जीवंत रखने के लिए तीज त्यौहार मनाना जरूरी – मनदीप कौर

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित विभिन्न कॉलेजों में तीज के पावन त्यौहार को मनाने के लिए कॉलेजों महिला सैल द्वारा अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमेें सिरसा की अतिरिक्त उपायुक्त मनदीप कौर ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की तथा जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस मौके पर उनके साथ डॉ.राजेश्वर चावला, डॉ.राजेन्द्र कुमार, डॉ.अरिन्दम सरकार, डॉ.अनुपमा सेतिया के अलावा अनेक अन्य अधिकारीगण तथा सभी कॉलेजों के स्टाफ सदस्य एवं विद्यार्थीगण भी मौजूद रहे। इस अवसर पर सभी ने झूला झूलकर इस त्यौहार का आनंद लिया तथा खूब पींगे डाली तथा नाच-गाकर तीज के पावन त्यौहार को मनाया गया।

इस मौके पर विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ.शमीम शर्मा ने सर्वप्रथम मुख्यातिथि महोदया का स्वागत करते हुए तथा हरियाली तीज की शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा कि जब प्रकृति अपने पूरे शबाब में होती है तथा बरसात का मौसम अपने चरम पर होता है तथा प्रकृति में सभी ओर हरियाली होती है तो इस त्यौहार की खूबसूरती को दुगुना कर देती है। उन्होंने कहा कि झूला हमारी जिंदगी के उतार-चढ़ावों का प्रतीक है इसीलिए हमें इसमें संतुलन बनाना आवश्यक है उसी प्रकार जीवन में आने-वाले उतार-चढ़ाव में संतुलन बनाकर इसे खुशी-खुशी अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए बिताना चाहिए। डॉ.शर्मा ने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ भारतीय संस्कृति में निहित तीज-त्यौहारों से अवगत करवाते हुए उनका महत्व बताना भी है, इसलिए समय-समय पर संस्थान में प्रत्येक त्यौहार को उत्सव की भांति मनाया जाता है ताकि हमारे विद्यार्थी हमारी संस्कृति में निहित संस्कारों को भी स्मरण रख सकें।

हरियाली तीज की समस्त विद्यापीठ के विद्यार्थियों, स्टाफ सदस्यों सहित समस्त सिरसावासियों को बधाई प्रेषित करते हुए श्रीमती मनदीप कौर ने कहा कि यूं तो भारत को त्यौहारों का देश कहा जाता है तथा इसमें प्रत्येक मौसम अपने साथ अनेक त्यौहारों को भी लेकर आता है, उसी प्रकार सावन के महीने में खास है हरियाली तीज, जैसा कि इस त्यौहार का नाम है वैसा ही जाहिर है कि इस मौसम में हरियाली की शुरूआत होती है। उन्होंने बताया कि परंपरा के अनुसार तीज सभी पर्वों के शुरूआत की प्रतीक मानी जाती है, जैसे: आ गई तीज बिखेर गई बीज, आ गई होली भर गई झोली कहावत के आधार पर तीज पर्व के पश्चात त्यौहारों का शीघ्र आगमन होता है तथा यह सिलसिला होली तक चलता है। उन्होंने कहा कि हमारी आज की युवा पीढ़ी हमारे तीज-त्यौहारों तथा संस्कृति को इन्हें न मनाने के कारण ही भूलते जा रहे हैं इसीलिए इन्हें मनाया जाना आवश्यक बन पड़ता है।

इस अवसर पर विभिन्न कॉलेजों में मेहन्दी रचाओ, कुकिंग विदाउट फायर एवं रंगोली मेकिंग प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया, जिसमें मेहन्दी प्रतियोगिता में मैमोरियल कॉलेज की ममता प्रथम, डेन्टल की कंचन द्वितीय तथा मैमोरियल की योगिता तृतीय स्थान पर रही। वहीं कुकिंग विदाउट फायर में मैनेजमेंट कॉलेज के आर्यन जिन्दल व रजत जैन ने बाजी मारी तथा रंगोली मेकिंग में भी मैनेजमेंट के अखिल अरोड़ा व अविश गुंबर प्रथम स्थान पर रहे। इस अवसर पर मुख्यातिथि महोदया एवं अन्य द्वारा पौधारोपण भी किया गया। कार्यक्रम के अंत में विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया।