Follow us:-
Tilak Holi Celebration to Save Water at JCD Vidyapeeth, Sirsa
  • By
  • March 19, 2019
  • No Comments

Tilak Holi Celebration to Save Water at JCD Vidyapeeth, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में तिलक होली मनाकर जल संरक्षण के प्रति किया गया जागरूक
हमारी परंपरा एवं संस्कृति के प्रतीक है हमारे त्यौहार इन्हें आनंद एवं उत्साह के साथ मनाएं : डॉ.शमीम शर्मा

To ensure its participation in the Save Water campaign, JCD Vidyapeeth organized Tilak Holi Festival on the event of Holiness festival of Holi. Dr. Shamim Sharma, Managing Director, JCD Vidyapeeth attended the program as Cheif Guest, Holli was played with gulals and flowers with joyfully dancing, and greetings of this festival. On this occasion, Mr. Sudhanshu Gupta, Principal of various colleges – Dr. Jai Prakash, Dr. Rajeshwar Chawla, Dr. Rajender Kumar, Dr. Dinesh Gupta, Dr. Anupama Setia, Engineer R.S.Brar with other officials along with teachers and non-teachers, students also celebrated Tilak Holi.

#Holi #TilakHoli #JCDV #Sirsa #Savewater #Savethewater

जेसीडी विद्यापीठ के खेल मैदान में होली के पावन पर्व की पूर्व संध्या पर पानी बचाओ अभियान में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करते हुए ‘तिलक होली समारोह’ का आयोजन किया गया, जिसमें बतौर मुख्यातिथि जेसीडी विद्यापीठ की प्रबन्ध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा द्वारा शिरकत करके सभी उपस्थिजनों के साथ गुलाल एवं फूलों की होली खेली गई तथा नाच-गाकर आनंदपूर्वक इस पर्व की अग्रिम बधाईयां प्रेषित की गई। इस मौके पर श्री सुधांशु गुप्ता के अलावा विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश, डॉ.राजेश्वर चावला, डॉ.राजेन्द्र कुमार, डॉ.दिनेश गुप्ता, डॉ.अनुपमा सेतिया, इंजी.आर.एस.बराड़ एवं अन्य अधिकारीगण तथा सभी कॉलेजों के शिक्षक एवं गैर-शिक्षकों के साथ-साथ विद्यार्थीगण ने भी तिलक होली मनाई।

कार्यक्रम के आरंभ में जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने मुख्यातिथि महोदया एवं इस कार्यक्रम में पधारे सभी प्राचार्यों, अधिकारीगणों एवं विद्यार्थियों का स्वागत करते हुए कहा कि जेसीडी विद्यापीठ की परम्परा रही है कि यहां पर प्रत्येक त्यौहार एवं संस्कृति से जुड़ेे प्रत्येक पर्व को मनाया जाता है, जिसमें सभी अपना बेहतर योगदान प्रदान करके हमारी संस्कृति के प्रति अपनी भावना प्रकट करते हैं।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में सर्वप्रथम डॉ.शमीम शर्मा ने सभी उपस्थितजनों को होली की अग्रिम शुभकामनाएं एवं बधाईयां प्रेषित करते हुए कहा कि प्रत्येक त्यौहार हमारी परंपरा एवं संस्कृति को दर्शाते हैं तथा इनके प्रति अपनी कर्तव्यनिष्ठा को प्रकट करते हुए हमें इन्हें पूर्ण उत्साह, जोश एवं उमंग के साथ मनाना चाहिए ताकि हमारी संस्कृति जीवंत रह सके। वहीं उन्होंने कहा कि यह काफी चिंता का विषय है कि जलस्तर निरंतर गिरता जा रहा है, इसलिए हमें जल संरक्षण हेतु हरसंभव प्रयास करना चाहिए। उन्होंने अपने अभिभाषण में विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे इस होली को तिलक होली के रूप में मनाएं ताकि पानी की किल्लत से बचा जा सके, क्योंकि होली के अवसर पर लोग कई लीटर पानी यूं ही सड़कों पर बहा देते हैं।

डॉ.शर्मा ने कहा कि जल तथा पर्यावरण को बचाने के लिए तथा आपको जागरूक करने के लिए ही आज जेसीडी विद्यापीठ द्वारा तिलक होली का आयोजन किया गया है ताकि अधिकाधिक जल बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि तिलक होली खेलकर जहां हम काफी मात्रा में पानी की बचत कर सकते हैं, वहीं अपने स्वास्थ्य को ठीक रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि जल हमारे जीवन की सबसे महत्वपूर्ण इकाई है, जिसको बचाना अति आवश्यक है।

इस अवसर पर प्रबंध निदेशक महोदया ने समस्त चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के साथ-साथ विद्यार्थियों एवं शिक्षकों एवं गैर-शिक्षकों को गुलाल लगाकर तथा फूल बरसाकर सभी के साथ नाचकर पूर्ण जोश एवं उत्साह के साथ होली के त्यौहार की पूर्वसंध्या को मनाया गया।

इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के शिक्षक, गैर-शिक्षक तथा विद्यार्थीगणों ने भी खूब उत्साह एवं उमंग के साथ एक-दूसरे को गुलाल लगाया तथा फूल बरसाएं और नाचकर इस त्यौहार को मनाया।

×

Hello!

Click one of our contacts below to chat on WhatsApp

× How can I help you?