Farewell Party in JCD Education College – 25/05/2017


जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों द्वारा आयोजित की गई सीनियर्स हेतु विदाई पार्टी

सिरसा 25 मई, 2017 : जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय में विगत दिवस बी.एड.के द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को उनके जूनियर्स द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर विदाई पार्टी दी गई, जिसमें बतौर मुख्यातिथि विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक उपस्थित हुए, वहीं जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला एवं प्रबंधन समिति के सदस्य श्री सिद्धार्थ झींझा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के चरणों में द्वीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया,जिसमें उन्होंने गिद्दा,भंगड़ा,हरियाणवीं,राजस्थानी व वेस्टर्न डांस प्रस्तुत करके दर्शकों की खूब वाहवाही लूटी। इस मौके पर संस्थान के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने मुख्यातिथि एवं जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण एवं विद्यापीठ के रजिस्ट्रार महोदय का स्वागत करते हुए उनका अभिनंदन किया। उन्होंने अपने संबोधन में सभी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि विद्यार्थी जीवन में आज के दिन का बड़ा महत्व होता है एवं विद्यार्थी को इस दिन का इंतजार रहता है, वह अपने कॉलेज में व्यतीत किए गए दिनों को याद करके अपनी यादें तरोताजा करते हैं तथा उन्हें संजोकर रखें।

इस मौके पर बतौर मुख्यातिथि डॉ. आर. आर. मलिक ने अपने संबोधन में कहा कि मुझे खुशी है के बीएड के छात्रों ने आत्म अनुशासन का परिचय दिया है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन में सफलता के लिए अनुशासन और परिश्रम का बड़ा महत्व होता है और इन दोनों का परिचय आप सभी विद्यार्थियों ने बड़ी बखूबी से दिया जो आगे चलकर आपके जीवन को सफल बनाने में काफी सहायक सिद्ध होगा। डॉ.मलिक ने कहा कि विद्यार्थी को चाहिए कि शिक्षा और उपाधि लेने के बाद वह समाज उपयोगी कार्य करें,जिससे स्वयं का,उनके माता-पिता व देश का नाम रोशन हो सके। उन्होंने कहा कि मेरी दृष्टि से शिक्षित व्यक्ति वही है जो नैतिक मूल्यों के साथ समाज के लिए बेहतरीन कार्य जो एक सफल अध्यापक ही कर सकता है क्योंकि अध्यापक के अंदर सहनशीलता,सीखने,सुनने की कला है और वही कला उसकी पहचान बन जाती है। उन्होंने सभी भावी अध्यापकों से अनुरोध किया कि वह अपने जीवन में समाज के लिए समर्पित संस्कारिक कार्य करें और विश्व विजेता बने।

इस अवसर पर निर्णायक मण्डल की भूमिका निभाते हुए डॉ रमेश कुमार,श्रीमती कमलजीत कौर व श्रीमती सुषमा रानी ने बीएड स्पेशल से मिस्टर फेयरवेल श्रवण, मिस फेयरवेल महिमा मिस्टर बीएड स्पेशल गुरलाल, मिस बीएड स्पेशल मोनिका का चयन किया गया। इसी तरह बीएड सामान्य से ही मिस्टर फेयरवेल संदीप, मिस फेयरवेल करुणा मिस्टर बीएड करण भोला, मिस बीएड सुखप्रीत कौर का चयन किया गया। महाविद्यालय से प्रतिभाशाली छात्रों के रूप में प्रथम स्थान जितेंद्र कुमार, द्वितीय प्रमोद एवं तृतीय स्थान छात्रा स्नैहपाल का चयन किया गया। वहीं बेहतर पोशाक में पुनम व आशु का चयन किया गया। इस मौके पर एमएड के छात्र प्रमोद द्वारा मुर्गा डांस नई इनोवेशन के साथ प्रस्तुत करके खूब वाहवाही लूटी गई। मंच का संचालन बीएड की छात्रा नीतिका, दिव्या, इशिता एवं छात्र अर्पण ने बखूबी किया। इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, विद्यापीठ के रजिस्ट्रार महोदय, शिक्षण महाविद्यालय के शिक्षक एवं गैर शिक्षक सदस्यों सहित समस्त छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

You may also like