JCD National Cricket Academy team won the victory in Bhiwani

जेसीडीएनसीए की टीम ने भिवानी में लहराया जीत का परचम
प्रथम अमित वशिष्ट मैमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट-2020 में मारी बाजी, 51 हजार का नगद पुरस्कार तथा ट्राफी पर किया कब्जा

पूर्व की ही भांति इस बार फिर से अपनी शानदार जीत का प्रदर्शन करते हुए जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित जननायक चौ.देवीलाल नेशनल क्रिकेट अकादमी की टीम ने अपनी बेहतरीनता दर्शाते हुए भिवानी के रिवाड़ी खेड़ा में विगत दिवस आयोजित करवाई गई प्रथम अमित वशिष्ठ मैमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट-2020 में अपनी जीत दर्ज करके अपनी काबिलीयत का एक बार फिर लोहा मनवाकर यह साबित कर दिया है कि जेसीडी विद्यापीठ में बेहतर शिक्षा के साथ-साथ खेलों में भी यहां के विद्यार्थी सदैव अग्रणी हैं। इस प्रतियोगिता के फाईनल मुकाबले में जेसीडीएनसीए की टीम ने हिसार की टीम को हराकर जीत अपने नाम की।

इस जीत के लिए क्रिकेट अकादमी के कोच मि.महाबीर सिंह, मि.रणजीत सिंह एवं खेल अधिकारी अमरीक सिंह व सभी खिलाडिय़ों को बधाई देते हुए जेसीडी विद्यापीठ की प्रबन्ध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने अपना आशीर्वाद प्रदान करते हुए कहा कि जेसीडी विद्यापीठ के विद्यार्थी शिक्षा के साथ-साथ खेलों एवं सांस्कृतिक गतिविधियों में भी बेहतर प्रदर्शन करते हैं। उन्होंने कहा कि खेल की भावना ही हमें जीत दिलाती हैं जिसका एक उदाहरण जेसीडीएनसीए की टीम द्वारा प्रस्तुत किया गया है। उन्होंने कहा कि अगर खिलाड़ी स्वयं हित को त्यागकर अपनी टीम के हित एवं देशहित के लिए खेलता है तो अवश्य ही कामयाबी उसके कदम चूमती है और उसकी अपनी एक अलग पहचान बनती है। डॉ.शर्मा ने कहा कि इस प्रकार की प्रतिस्पर्धाएं जहां हमें स्वस्थ रखती है, वहीं मानसिक रूप से मजबूत बनाती है। उन्होंने कहा कि खेलों में जीत का अपना एक अलग ही महत्व होता है परंतु हार को भी स्वीकार करना चाहिए ताकि हम और अधिक बेहतर प्रदर्शन के लिए कड़ी मेहनत कर सकें। उन्होंने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ में प्रतिभाओं की कमी नहीं है, क्योंकि यहां का वातावरण उच्च शिक्षा एवं खेलों के लिए सबसे उचित है। उन्होंने खिलाडिय़ों को विश्वास दिलवाया कि निकट भविष्य में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तरीय खेलों में भी भेजेंगे ताकि वह सफलता हासिल कर सकें।

इस बारे विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करते हुए जेसीडीएनसीए के कोच महाबीर सिंह ने बताया कि इस टूर्नामेंट में दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान व पंजाब की टीमों ने हिस्सा लिया। इस दौरान जेसीडीएनसीए टीम ने ढांसा बॉर्डर, फरीदाबाद एवं भिवानी की टीमों के साथ सेमीफाइनल मैच खेला तथा टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला हिसार तथा जेसीडीएनसीए की टीम के साथ हुआ। जिसमें हिसार की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया और निर्धारित 20 ओवरों में 114 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने मैदान में उतरी जेसीडीएनसीए की टीम ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए 115 रन बनाकर 4 विकेट से यह टूर्नामेंट जीत लिया। उन्होंने बताया कि इस फाइनल मुकाबले में जेसीडीएनसीए का खिलाड़ी सुरेन्द्र को 13 रन देकर 4 ओवरों में 4 विकेट हासिल करने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया, वहीं टीम के कप्तान मि. राजपाल बैनीवाल ने सर्वाधिक 30 रनों का योगदान प्रदान करके टीम को मजबूती प्रदान की। इस टूर्नामेंट में जीत हासिल करने के लिए जेसीडीएनसीए की टीम ने 51 हजार रूपए का नगद पुरस्कार व ट्राफी प्रदान की गई।

इस मौके पर खिलाडिय़ों का हौंसलाफजाई करते हुए कोच रणजीत सिंह एवं महाबीर सिंह ने कहा कि खिलाडिय़ों को इस प्रकार के आयोजनों में हिस्सा दिलवाकर उनकी प्रतिभा का पता लगाया जा सकता है क्योंकि इससे खिलाड़ी विभिन्न प्रकार के मैदानों पर अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करता है, जिससे वह प्रत्येक परिस्थितियों में बेहतर से बेहतर बनने के लिए काफी कुछ सीखता है जो उसके आगे चलकर बहुत काम आता है।