Follow us:-
JCD Vidyapeeth Convocation
  • By Davinder Sidhu
  • December 11, 2023
  • No Comments

JCD Vidyapeeth Convocation

जेसीडी विद्यापीठ में वार्षिक दीक्षांत समारोह-2023 में 400 से अधिक विद्यार्थियों ने हासिल की उपाधि।
जीवन मे सीखने और पढ़ने की इच्छा हमेशा मन में चाहिए रखनी : डॉक्टर डीडीएस संधू
किसी भी संस्थान के लिए उसके छात्र होते है उसके ब्रांड एंबेसडर : प्रोफेसर ढींडसा

सिरसा 10 दिसंबर 2023: जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित जेसीडी मेमोरियल फार्मेसी कॉलेज जेसीडी मेमोरियल इंजीनियरिंग कॉलेज एवं जेसीडी इंस्टिट्यूट ऑफ़ बिजनेस मैनेजमेंट के संयुक्त तत्वाधान में स्नातक एवं स्नातकोत्तर विद्यार्थियों के लिए दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर लेफ्टिनेंट जनरल डॉक्टर डीडीएस संधू ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। समारोह की अध्यक्षता श्रीमती कांता चौटाला एवं जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक एवं अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक डॉ कुलदीप सिंह ढींडसा द्वारा की गई।

इस अवसर पर पंडित बीडी शर्मा यूनिवर्सिटी आफ हेल्थ साइंसेज रोहतक के फार्मेसी डिपाटर्मेंट के डीन डॉक्टर गजेंद्र सिंह ने विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की।

समारोह के संयोजक डॉ अनुपम सेतिया, डॉ हरलीन कौर और डॉ दिनेश कुमार ने जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में तीनों संस्थानों के 2018 से 2023 वर्ष तक के उत्तीर्ण विद्यार्थियों को डिग्री प्रदानकरने के लिए दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में तीनों संस्थानों के 400 से अधिक छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया और डिग्री प्राप्त की इस अवसर पर तीनों संस्थानों के टॉपर छात्रों को स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम के शुभारंभ में सभी संस्थाओं के स्टाफ सदस्यों ने जेसीडी विद्यापीठ के कुलसचिव डॉ सुधांशु गुप्ता की अगुवाई में प्रोसेशन के रूप में मुख्य अतिथि का स्वागत किया। मुख्य अतिथि ने जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक डॉक्टर कुलदीप सिंह ढींडसा एवं सभी स्थानों के प्राचार्य गण की अगुवाई में प्रोसेशन के साथ डॉक्टर अब्दुल कलाम सभागार में प्रवेश किया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि एवं अन्य द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। वहीं इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ की वार्षिक रिपोर्ट का भी सभी अतिथियों द्वारा विमोचन किया गया, जिसमें विद्यार्थियों एवं संस्थान की उपलब्धियों का व्याख्यान किया गया है।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में लेफ्टिनेंट जनरल डॉक्टर डीडीएस संधू ने सर्र्वप्रथम जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक, प्रबंधन समिति एवं दीक्षांत समारोह के आयोजकों को इस कार्यक्रम की हार्दिक बधाई देते हुए उपाधि प्राप्त करने वाले अभियार्थियों को भी उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं प्रदान करते हुए बधाई प्रेषित की। उन्होंने अपने संबोधन में जेसीडी विद्यापीठ में व्याप्त अनुशासनात्मक माहौल, हरा-भरा कैंपस एवं बेहतर शिक्षण एवं संस्कारों की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि लेफ्टिनेंट जनरल डॉक्टर डीडीएस संधू ने कहा कि दीक्षांत समारोह हमेशा एक विशेष अवसर होता है जिसमें हम शुरुआती वर्षों में की गई कड़ी मेहनत को लक्ष्य प्राप्ति और सफलता से जोड़कर देखते हैं। यह एक ऐसी यात्रा है जो शायद अस्थायी कदमों से शुरू होती है और हमें अधिक ऊंचाइयों तक ले जाती है। इस यात्रा में, हम कई असाधारण क्षणों का अनुभव करते हैं और ऐसी यादें बनाते हैं जिन्हें आने वाले वर्षों तक याद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि जीवन में कुछ हासिल करने के लिए सीखने और पढ़ने की इच्छा हमेशा मन में रखनी चाहिए। क्योंकि ज्ञान का कोई अंत नहीं है। आप एक अच्छे इंसान बनें। एक अच्छा इंसान गतिविधि के हर क्षेत्र में अच्छा होता है। आप अपने आप में अलग और पूर्ण हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने कीमती हैं। समाज हमेशा आपके ज्ञान और आत्मविश्वास के स्तर को महत्व देता है।

डॉक्टर ढींडसा ने कहा कि यह दीक्षांत समारोह सभी के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है – यह परिवर्तन का एक ठोस संकेतक है। मैं सभी युवा दिमागों से इस बदलाव को अपनाने का आग्रह करता हूं क्योंकि एक बार जब आप अपने जीवन के इस नए चरण में प्रवेश करेंगे तो उनका जीवन बदल जाएगा। मुझे यकीन है कि आप सभी इस संस्थान के ज्ञान, मूल्यों और समृद्ध विरासत को अपनाना जारी रखेंगे। इस संस्थान ने आपको प्रतिस्पर्धी दुनिया में अपने सपनों को साकार करने की क्षमता से सुसज्जित किया है। मुझे विश्वास है कि आप जेसीडी विद्यापीठ की उत्कृष्टता की लंबी परंपरा को आगे बढ़ाएंगे और इस संस्थान की प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगे। प्रिय स्नातकों, आपने शैक्षिक जीवन के महत्वपूर्ण वर्ष जेसीडी विद्यापीठ में बिताए हैं और आज, आप सुखद यादें लेकर जा रहे हैं।

डॉक्टर ढींडसा ने कहा कि किसी भी संस्थान के लिए उसके छात्र उसके ब्रांड एंबेसडर होते हैं। क्योंकि जब यही छात्र सफल होकर बड़े उद्योगों या बड़े प्रशासनिक पदों पर सेवा देते हैं तो कहीं न कहीं उनकी सफलता से आपके मूल संस्थान को भी याद किया जाता है।

दीक्षांत समारोह संस्थान के शिक्षकों, कर्मचारियों और छात्रों की निरंतर कड़ी मेहनत का परिणाम है।

डॉक्टर ढींडसा ने कि शिक्षा आपको उड़ने के लिए पंख देती है। उपलब्धि हमारे अवचेतन मन की अग्नि से निकलती है कि “मैं जीतूंगा”। तो, यहां और अन्य जगहों पर इकट्ठे हुए आप में से प्रत्येक के पास “विंग्स ऑफ फायर” होंगे। आग के पंख वास्तव में ज्ञान की ओर ले जाएंगे, जो आपको एक डॉक्टर, या एक इंजीनियर, या एक वैज्ञानिक, या एक शिक्षक, या जो कुछ भी आप बनना चाहते हैं, के रूप में उड़ान भरने में सक्षम बनाएगा। एक बार जब आप उड़ने के लिए इन पंखों को विकसित कर लेंगे तो आपको पता चल जाएगा कि आप अपने विज्ञान और तकनीकी नवाचारों का उपयोग करके सतत और जज समावेशी विकास में कैसे योगदान दे सकते हैं।