Lohri Celebration Photos dt. 13.01 (1)

Lohri Celebration in Campus

जेसीडी विद्यापीठ प्रांगण में हर्षोल्लास से मनाया गया लोहड़ी एवं मकर संक्राति का पावन पर्व
पर्व व त्यौहार हैं भारतीय संस्कृति के शृंगार – डॉ0 शमीम शर्मा

Lohri and Makar Sankranti was celebrated with the cooperation of all the colleges established in JCD Vidyapeeth. There was a lot of fun and the students lavished great accolades through entertaining presentations and the festival was celebrated with pomp. The program was inaugurated by Dr. Shamim Sharma, Managing Director, as the Chief Guest, adding sesame and groundnut to the Holy Agri.

सिरसा 13 जनवरी, 2020: जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित सभी कॉलेजों के सांझा सहयोग से लोहड़ी एवं मकर संक्रांति के पावन पर्व के अवसर पर मस्ती का आलम रहा तथा विद्यार्थियों ने मनोरंजक प्रस्तुतियों के माध्यम से खूब वाहवाही लूटी और इस त्यौहार को धूमधाम से मनाया गया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ बतौर मुख्यातिथि प्रबन्ध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा द्वारा पावन अग्रि में तिल व मूंगफली डालकर किया गया। इस अवसर पर सभी कॉलेजों के प्राचार्यों ने भी विद्यार्थियों को अपनी बधाई प्रेषित की और तिल और देसी घी से लोहड़ी के उपलक्ष पर अग्रि की पूजा की। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ0 जयप्रकाश द्वारा की गई। वहीं इस अवसर पर उनके साथ जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता के अलावा डेन्टल के निदेशक डॉ. राजेश्वर चावला, विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ. अरिंदम सरकार, डॉ. कुलदीप सिंह, डॉ. अनुपमा सेतिया, इंजी आर.एस. बराड़, डॉ.दिनेश गुप्ता सहित अनेक अधिकारीगण, स्टॉफ सदस्य एवं गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में मेमोरियल, इंजीनियरिंग, आईबीएम, डैंटल, बीएड, फार्मेसी व महिला एवं पुरूष छात्रावास के विद्यार्थियों ने भी डाली पावन अग्रि में आहूति। वहीं इस मौके पर उपस्थितगण को मूंगफली, रेवड़ी व गज्जक आदि भी वितरित किये गए।

इस अवसर पर विभिन्न कॉलेजों के विद्यार्थियों द्वारा संयुक्त रूप से एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें कार्यक्रम का प्रारंभ लोहड़ी से जुड़े लोकगीत द्वारा किया गया तथा इसके पश्चात् विभिन्न छात्र-छात्राओं ने अपनी प्रस्तुति देकर अपनी प्रतिभा का विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से प्रदर्शन किया तथा लोहड़ी को यादगार बनाया।

लोहड़ी एवं मकर सक्रांति के पावन अवसर पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए डॉ0 शमीम शर्मा ने कहा कि लोहड़ी का त्यौहार सम्पूर्ण उत्तर भारत में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस त्यौहार का सम्बन्ध खेतों की खुशहाली व सम्बन्धों में गर्माहट का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि पर्व हमारी संस्कृति के शृंगार हैं, जिनके माध्यम से समाज में आपसी भाईचारा व सहयोग की भावना को बल मिलता है। उन्होंने कहा के जो इंसान त्योहार नहीं मनाते या उत्सव धर्मिता जिसमें नही है वह पत्थर के समान है उन्होंने इस त्यौहार में तिलों के महत्व को बताते हुए युवा पीढ़ी को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया। उन्होंने कहा कि आप सभी युवा समय के साथ चलते हुए पौराणिक संस्कृति से भी जुड़े रहें ताकि आपका आत्मिक विकास भी होता रहे। डॉ0 शर्मा ने कहा कि अग्रि में दी जाने वाली तिल, घी, मूंगफली व रेवड़ी की आहुति का तात्पर्य आपसी ईष्र्या, द्वेष, मनमुटाव व अवगुणों को स्वाहा करने का प्रतीक है।

इस मौके पर कालेज प्राचार्य डॉ0 जयप्रकाश ने विद्यार्थियों को लोहड़ी पर्व की बधाई प्रेषित की तथा बुराइयों को त्यागकर त्यौहारों को प्रेमपूर्वक मनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि हमें अनुशासन में रहते हुए प्रत्येक त्यौहार को हर्षोल्लास के साथ मनाना चाहिए ताकि हमारी संस्कृति एवं संस्कारों को बचाया जा सके।