01666- 238100, 238101, 238105
Mon - Sat: 9:00AM - 5:00PM
Subhash Chandra Boss (5)

Netaji Subhash Chandra Bose Jayanti – Virtual cultural program

सुभाष चंद्र बोस जयंती पर जेसीडी विद्यापीठ में वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन

सिरसा। 23 जनवरी 2022 :जेसीडी विद्यापीठ में नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती के मौके पर एक वर्चुअल सांस्कृतिक कार्यक्रम किया गया। जिसमें मुख्य संरक्षक के रूप में जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा शामिल हुईं। कार्यक्रम की संयोजक जेसीडी मैमोरियल कॉलेज की प्राचार्या डॉ. शिखा गोयल रहीं और आयोजन जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के म्यूज़िक क्लब “सारंग” की तरफ से किया गया। जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के संगीत विभाग के एचओडी डॉ. अनिल शर्मा,आंतरिक्ष शर्मा की तरफ से इस सांगीतिक कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की गई और कोरोना गाईडलाईन का ध्यान रखते हुए इस कार्यक्रम का प्रसारण जेसीडी विद्यापीठ के आधिकारिक यूट्यूब चैनल जेसीडी टाईम्स पर किया गया।

कार्यक्रम में जेसीडी विद्यापीठ के सभी कॉलेजों के विद्यार्थियों की तरफ से देशभक्ति के गीत गाए गए व नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन पर प्रकाश डाला गया।जेसीडी टेंटल कॉलेज की छात्रा सृष्टि ने सामाजिक विषय पर हरियाणवी गीत प्रस्तुत किया।बीएड कॉलेज से डिंपल ने देशभक्ति पर आधारित कविता का गायन किया। जेसीडी मैमोरियल कॉलेज से छात्र कुलदीप ने एक पंजाबी देशभक्ति गीत पेश किया। कोरोना नियमों को देखते हुए इस कार्यक्रम में कोई भी व्यक्तिगत रूप से शामिल नहीं हुआ बल्कि सभी ने वर्चुअल रुप में ही इसका आनंद लिया।

इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर बोलते हुए डॉ. शमीम शर्मा ने सुबाष चंद्र बोस के जीवन से प्रेरणा लेने की शिक्षा दी।डॉ. शमीम शर्मा ने कहा कि सुभाष चंद्र बोस जेसी नेतृत्व क्षमता वाले नेता विरले ही पैदा होते हैं। वो चाहते तो एक उच्च स्तर के अधिकारी के तौर पर नौकरी करके अपना जीवन खुशहाली से गुजार सकते थे लेकिन उन्होंने देश सेवा का रास्ता चुना और सिविल सर्विस की परीक्षा पास करने के बावजूद अंग्रेजों की नौकरी नहीं की। देश के एसे सच्चे वीर सपूत से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए और देश की सेवा का जज्बा अपने अंदर भी लाना चाहिए।

वहीं कार्यक्रम की संयोजक व जेसीडी मैमोरियल कॉलेज की प्राचार्या डॉ. शिखा गोयल ने भी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर उन्हें नमन किय। उन्होंने कहा कि नेता जी के जीवन से हम अनेकों शिक्षाएं ले सकते हैं क्योंकि वो एक परिपूर्ण व्यक्तित्व के मालिक थे। डॉ. शिखा गोयल ने कहा कि नेता जी ने बहुत कम वक्त में देश के लिए बहुत कुछ कर दिया। आज के समय में नेताजी और भी ज्यादा प्रांगिक हैं क्योंकि हम में से किसी ने भी आजादी की लड़ाई में बाग नही लिया लेकिन ऐसे कार्यक्रमों का हिस्सा बनके हमे उनसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है। हमें उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए और अपने जीवन में भी उनके गुणों को उतारना चाहिए ताकि हम भी देश के लिए कुछ कर पाएं।

इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के सभी कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ. जय प्रकाश , डॉ. कुलदीप सिंह, डॉक्टर अरिंदम सरकार , डॉक्टर अनुपमा सेतिया, डॉक्टर दिनेश गुप्ता ने सुभाष चंद्र बोस को नमन किया।

JCDV Quiz