Or 01666-238105
Mon - Sat: 9:00AM - 5:00PM All Holidays and Saturday - Open

New Session started by Hawan Ceremony – JCD PG College of Education, Sirsa

The new session of the JCD College of Education commenced with the Havan-Yajna, in which Dr. Shamim Sharma, Managing Director of JCD Vidyapeeth, played the role of Chief Yajaman as well as the Chief Guest. The program was chaired by Dr. Rajendra Kumar, Principal of the College. On this occasion, the principals, officers and dignitaries of all other colleges were also present on the occasion.

मंत्रोच्चारण एवं हवन में आहुति के साथ हुआ जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के नवीन सत्र का शुभारंभ
विद्यापीठ में व्याप्त अनुशासित एवं संस्कारित माहौल को कायम रखना आपकी जिम्मेवारी – डॉ.शमीम शर्मा

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय के नए सत्र का शुभारंभ हवन-यज्ञ के साथ हुआ, जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने मुख्य यजमान की भूमिका निभाते हुए बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए। वहीं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. राजेन्द्र कुमार द्वारा की गई। इस अवसर पर सभी महाविद्यालयों के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश, डॉ.राजेश्वर चावला, डॉ.अरिन्दम सरकार, डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता, इंजी.आर.एस. बराड़ व डॉ.अनुपमा सेतिया के अलावा अन्य अधिकारीगण व अन्य गणमान्य अतिथियों ने भी हवन-यज्ञ में अपने कर-कमलों द्वारा आहुति डालकर शुभफल की कामना की।

इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने सभी को अपने संबोधन में कहा कि जेसीडी विद्यापीठ के सभी संस्थान अनुशासित, संस्कारित एवं गुणवत्तायुक्त शिक्षा के लिए वचनबद्ध हैं और इसमें वे खरे भी उतर रहे हैं तथा हवन-यज्ञ भी उन्हीं संस्कारों में निहित एक परम्परा है, जिससे किसी भी कार्य का शुभारंभ सदैव शुभ फलदायी साबित होता है। उन्होंने सभी नए विद्यार्थियों से यह आह्वान किया कि जिस प्रकार विद्यापीठ में पूर्ववत् अनुशासन, संस्कारित शिक्षा एवं स्वच्छ वातावरण कायम है उसे आप लोग भी बखूबी कायम रखेंगे और नियमों का पालन करते हुए नियमित कक्षाएं लगाएंगे ताकि आपको बेहतर शिक्षा प्राप्ति में कोई परेशानी ना हो। उन्होंने कहा कि विद्यापीठ सदैव बेहतर शिक्षा, खेल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बेहतर प्रदर्शन करता आया है तथा इसमें आप भी अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें ताकि आपका, आपके संस्थान का तथा जिला का नाम रोशन हो सके। उन्होंने इस मौके पर विद्यार्थियों को नशे से दूर रहकर धर्म-कर्म के कामों में तथा अच्छी सोच को कायम करने का आह्वान किया।

इस अवसर पर प्राचार्य डॉ राजेन्द्र कुमार ने कहा कि हवन-यज्ञ का केवल संस्कारों से ही नहीं अपितु साईंस से भी सम्बन्ध है तथा इस हवन में डाली जाने वाली सामग्री में अनेक औषधियां समाहित होती है जो वातावरण को पवित्र एवं शुद्ध बनाने में सहायक होती है इसलिए भी हवन को पवित्र तथा शुभफलदायी माना गया है। उन्होंने कहा कि किसी भी कार्य का प्रारंभ अगर हवन-यज्ञ से करने की पौराणिक परम्परा के अनुसार ही आज कॉलेज द्वारा पहला पड़ाव पार कर लिया गया है तथा आज से विद्यार्थियों की सुचारू कक्षाएं प्रारंभ हो गई हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणवत्ता ही हमारा मुख्य ध्येय है तथा हम केवल विद्यार्थियों को डिग्री ही नहीं प्रदान करते अपितु उनको आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के साथ समय-समय पर अन्य प्रशिक्षण भी प्रदान किए जाते हैं ताकि उनका सर्वांगीण विकास हो सके।

इस मौके पर सभी नए विद्यार्थीयों सहित अन्य महाविद्यालयों के प्राचार्यों, जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार सहित अनेक अधिकारियों व स्टाफ सदस्यों तथा अतिथियों के साथ हवन-यज्ञ में आहुति डालकर मंगलमय भविष्य एवं शैक्षिक प्रगति की कामना की।