Follow us:-
Nirwan Diwas of Ch. Devi Lal Ji – JCD Vidyapeeth, Sirsa
  • By
  • April 6, 2019
  • No Comments

Nirwan Diwas of Ch. Devi Lal Ji – JCD Vidyapeeth, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में चौ.देवीलाल जी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित
हरियाणा के जन्मदाता चौ.देवीलाल की पुण्यतिथि पर उनकी प्रतिमा पर किया माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित

देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री चौ० देवी लाल की 18वीं पुण्यतिथि पर जेसीडी विद्यापीठ में उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता सहित सभी कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ.जयप्रकाश, डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.राजेश्वर चावला, डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता, डॉ.राजेन्द्र कुमार, डॉ.अनुपमा सेतिया, इंजी.आर.एस.बराड़ एवं डॉ.अरिन्दम सरकार के अलावा अनेक अधिकारीगण, शिक्षकगण, गैर-शिक्षकगण व विद्यार्थियों ने चौ.देवीलाल जी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। सर्वप्रथम देवीलाल जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके दो मिनट का मौन रखा गया तथा सभी कॉलेजों के प्राचार्यों ने अलग-अलग टीमों का गठन करके दिशा स्कूल, भाई कन्हैया आश्रम एवं वृद्धाश्रम में फल वितरित किए व चौ. देवीलाल जी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

श्रद्धांजलि सभा में संगीत शिक्षक ललित गिरधर एवं जेसीडी विद्यापीठ के संगीत क्लब के विद्यार्थियों द्वारा शब्द-भजन प्रस्तुत करके सम्पूर्ण वातावरण को भक्तिमय बनाया गया। इस अवसर पर इस श्रद्धांजलि सभा में उपस्थित सभी को अपने संबोधन में डॉ. राजेन्द्र कुमार ने मंच संचालन करते हुए चौ. देवीलाल द्वारा मानवहित में किए गए सामाजिक, राजनैतिक, कार्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनका सम्पूर्ण जीवन ग्रामीण भारत में फै ले व्यापक शोषण, असमानता, गरीबी व अज्ञानता को समाप्त करने के लिए संघर्ष में ही व्यतीत हुआ। उन्हें सत्ता का मोह कभी नहीं रहा, उन्होंने हमेशा मानवीय मूल्यों पर बल दिया और ग्रामीण आंचल की शिक्षा के बारे में जो सपना देवी लाल जी ने देखा था उसके लिए उनका सम्पूर्ण परिवार कृ तसंकल्प हैं।

इस अवसर पर अपने संबोधन में डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि चौ.देवीलाल जी ने आजीवन किसान, मुजारों, गरीबों और सर्वहारा वर्ग के लोगों के लिए उप-प्रधानमंत्री जैसे गरिमापूर्ण पद पर रहते हुए भी सघर्ष किया और उन्हें उनका हक दिलाया। उन्होंने कहा कि चौ. देवीलाल जी हरियाणा के जन्मदाता थे, हमें भी उनकी नीतियों पर चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि चौ.देवीलाल जी त्यागी पुरु ष थे, जिन्होंने अपने त्याग का परिचय देते हुए प्रधानमंत्री पद को भी ठुकरा दिया तथा सदैव मजदूरों, किसानों के अलावा प्रत्येक वर्ग को बराबर का सम्मान प्रदान किया था, जिसके कारण आज भी बुजुर्ग और नौजवान उन्हें अपना मसीहा मानते हैं।

इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने सभी विद्यार्थियों से आह्वान किया कि उनका कर्तव्य बेहतर शिक्षा हासिल करना है तथा जेसीडी विद्यापीठ के नाम को रोशन करना है क्योंकि यह संस्थान देवीलाल जी के सपनों का संस्थान है इसीलिए आप सभी विद्यार्थीगण ही सच्चे अर्थों में उनके सच्चे संदेशवाहक हैं क्योंकि यहां से शिक्षा पूर्ण करने के पश्चात् आप विभिन्न देशों, प्रदेशों तथा इलाकों में जाएंगे एवं अपने गुणों के आधार पर ही आप जेसीडी विद्यापीठ की एक बेहतर पहचान कायम कर सकोगे इसलिए सदैव अपने लक्ष्य जो कि शिक्षा हासिल करना है को ध्यान में रखें। वहीं उन्होंने शिक्षकों एवं अन्य कर्मचारियों से आह्वान किया कि वे भी अपने कार्य को पूरी निष्ठा एवं लगन के साथ करें ताकि देवीलाल जी के सपनों पर आधारित विद्यापीठ को ओर बेहतर बनाया जा सके।

इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ का सम्पूर्ण शिक्षक एवं गैर-शिक्षक स्टाफ सदस्य व विद्यार्थीगण तथा द सिरसा स्कूल के स्टाफ सदस्य भी उपस्थित रहे तथा चौ. देवीलाल को उनकी पुण्यतिथि पर पुष्प अर्पित करके सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की गई।