Follow us:-
Plantation drive launched on International Forest Day
  • By
  • March 21, 2022
  • No Comments

Plantation drive launched on International Forest Day

*अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस पर जेसीडी विद्यापीठ में चलाया गया पौधारोपण अभियान*

सिरसा,21 मार्च,2022 : जननायक चौधरी देवीलाल विद्यापीठ में अंतर्राष्ट्रीय वन दिवस के मौके पर एक हज़ार पौधों को रोपित करके पर्यावरण के संरक्षण का प्रण लिया गया। यह पौधारोपण जेसीडी विद्यापीठ व डेरा सच्चा सौदा की ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स के सहयोग से किया गया।

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन श्री अर्जुन सिंह चौटाला जी शामिल हुए। कार्यक्रम का आयोजन जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा के निर्देशन में जेसीडी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट व जेसीडी कॉलेज ऑफ एजुकेशन की ओर से किया गया। इस दौरान डिस्ट्रिक्ट फोरेस्ट ऑफिसर श्री नवल किशोर ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस कार्यक्रम में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, हिसार से एसडीओ श्री सुनील श्योराण विशिष्ठ अतिथि के तौर पर उपस्थित हुए।

पौधारोपण से पहले मुख्य अतिथि श्री अर्जुन सिंह चौटाला जी ने सभी स्वयं सेवकों को अपना संदेश देते हुए कहा कि पर्यावरण को बचाना बेहद जरूरी है और जेसीडी विद्यापीठ इस काम में हमेशा से अग्रणी रहा है। उन्होंने पौधारोपण करने पहुंचे डेरा सच्चा सौदा के स्वयं सेवकों का भी उत्साह बढ़ाया और तारीफ करते हुए कहा कि सामाजिक कार्यों में डेरा सच्चा सौदा की भूमिका सराहनीय है और सबके लिए प्रेरणादायी है। उन्होंने फोरेस्ट डिपार्ट्मेंट को आश्वासन देते हुए कहा कि वो इस सामाजिक काम के लिए हर समय तैयार है और आगे भी जहां-जहां भी जरूरत पड़ेगी वो पौधारोपण करवाने और उनकी देखरेख की जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार हैं।

वहीं जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा ने आए हुए सभी गणमान्य अतिथियों व स्वयं सेवकों का अभिवादन करते हुए कहा कि पेड़ लगाना और उसकी संभाल करना आने वाली पीढ़ी को दिया जाने वाला एक वरदान है औऱ जो भी इसमें किसी भी रूप में अपना योगदान दे रहा है वो सराहनीय है।उन्होने पेड़ों के प्रति अपने प्यार को जाहिर करते हुए कहा कि कोई भी पेड़ व्यर्थ नहीं होता चाहे वो कांटे ही दे रहा हो। क्योंकि पेड़ का काम फल देने से कहीं ज्यादा होता है। उन्होने कहा कि पेड़ मिट्टी को उपजाउ बनाए रखने के साथ साथ ऑक्सीजन देने का भी काम करते हैं और अगर कोई पेड़ सूख भी जाए तो भी वो पक्षियों के घोसले बनाने के काम तो आता ही है।

इस मौके पर डिस्ट्रिक्ट फोरेस्ट ऑफिसर श्री नवल किशोर ने पेड़ पौधों के विभिन्न किस्मों के बारे में बताते हुए कहा कि कोई भी मौसम और कोई भी मिट्टी एसी नहीं है जहां पर कोई न कोई पौधा न उग सकता हो लेकिन उसकी सही जानकारी होनी जरूरी है। उन्होने कहा कि अगर कोई भी पौधारोपण करना चाहता है या इस कार्य में किसी तरह का सहयोग देना चाहता है तो विभाग उनकी हर तरह की मदद करने के लिए तैयार है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड,हिसार से एसडीओ सुनील श्योराण ने कहा कि क्षेत्रफल के लिहाज से सिरसा सबसे बड़ा जिला है इसलिए यहां पर ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाए जाने की संभावना है। उन्होंने जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी प्रतिबद्धता को देखते हुए ही जेसीडी विद्यापीठ को इस पौधारोपण के लिए चुना गया है क्योंकि पेड़ पौधों की देखरेख के मामले में जेसीडी विद्यापीठ से बेहतर स्थान कोई और नहीं है।

जेसीडी विद्यापीठ स्थित जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जय प्रकाश इस कार्यक्रम के संचालक की भूमिका में रहे और संयोजक की भूमिका जेसीडी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट के प्राचार्य डॉ. कुलदीप सिंह ने निभाई। वहीं इस अवसर पर डॉक्टर सुधांशु गुप्ता, राकेश बजाज , इंजिनियर कपिल , अभिषेक च्योल, डॉक्टर अमरीक सिंह गिल, महेंद्र प्रताप व अन्य अतिथिगण मौजूद रहे।

पौधारोपण की शुरुआत जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन श्री अर्जुन सिंह चौटाला जी ने खुद पौधा लगाकर की और उसके बाद जेसीडी विद्यापीठ के विद्यार्थियों ने एक साथ 1 हज़ार पौधों को रोपित किया। इस दौरान डेरा सच्चा सौदा के स्वयं सेवकों ने भी अपना भरपूर योगदान दिया।