Sanction of NCC Unit from 2020-21 session – JCD Memorial College

जेसीडी मैमोरियल कॉलेज में सत्र 2020-21 से 80 विद्यार्थियों के लिए एनसीसी की ट्रेनिंग यूनिट को मिली मंजूरी
सेना में जाने का सपना संजोने वाले विद्यार्थियों के लिए एनसीसी एक बेहतर विकल्प : डॉ. शमीम शर्मा

सिरसा 10 अक्तूबर, 2020 : प्रत्येक युवा देशभक्ति का जज्बा रखते हुए सेना में भर्ती होकर देशसेवा करने का सपना रखता है परंतु स्कूल या कॉलेज से ही उन्हें इस दिशा में अग्रसर किया जा सकता है, जिसमें एनसीसी यानि राष्ट्रीय कैडिट कोर अपनी अह्म भूमिका अदा करती है। छात्र-छात्राओं के सेना में जाने के सपने को साकार रूप प्रदान करने के लिए जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित मैमोरियल कॉलेज को भी इसी 2020-21 सत्र से एनसीसी की ट्रेनिंग हेतु हिसार आर्मी कैंट के कमांडिंग ऑफिसर द्वारा मंजूरी प्रदान कर दी गई है। इस बारे विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करते हुए जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा ने सर्वप्रथम मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य एवं स्टाफ सदस्यों को एक ओर नई शुरूआत के लिए अपनी शुभकामनाएं एवं बधाईयां प्रेषित करते हुए कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को प्रत्येक क्षेत्र में श्रेष्ठ तैयारी करवाकर उन्हें रोजगार दिलवाना है। उन्होंने बताया कि हाल ही में आर्मी कैंट हिसार द्वारा मैमोरियल कॉलेज को 80 लड़कों की यूनिट की मंजूरी मिल चुकी है तथा इस कॉलेज में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों के लिए यह एक सुनहरी एवं बेहतर अवसर है क्योंकि एनसीसी एक ऐसा यूनिट है जिसमें दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों को सेना के अनुसार ही तैयारी करवाई जाती है तथा इसमें अनुशासित जीवन जीने के साथ-साथ राष्ट्र के लिए बेहतर व्यक्ति तैयार करने का भी प्रशिक्षण हासिल होता है।

डॉ. शर्मा ने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर से बेहतर शिक्षा के साथ-साथ उनको रोजगारपूरक ज्ञान प्रदान करना भी है जिसके लिए यह एनसीसी यूनिट काफी सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि एनसीसी का प्रमाण पत्र होने पर अनेक प्रकार के साक्षात्कार एवं दाखिले में 5 से 10 प्रतिशत तक अंकों में बोनस दिया जाता है जिससे विद्यार्थी को मैरिट सूची में भी लाभ होता है। उन्होंने कहा कि सेना में भर्ती होने के लिए आपको एनसीसी अवश्य लेनी चाहिए क्योंकि इससे व्यक्ति में अनुशासन की भावना भी जागृत होती है तथा इसके कैडिट राष्ट्रहित में कार्य करने के लिए तैयार होते हैं। उन्होंने कहा कि जिन विद्यार्थियों में देश सेवा का जज्बा हो उन्हें इसमें अवश्य ट्रेनिंग लेनी चाहिए।

इस मौके पर जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश ने जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति का आभार प्रकट करते हुए विद्यार्थियों से एनसीसी को ज्वाईंन करने के लिए आह्वान करते हुए कहा कि जो विद्यार्थी मैमोरियल कॉलेज में इस वर्ष दाखिला लेगा उसके लिए यह सुनहरी अवसर होगा क्योंकि इसी सत्र 2020-21 से हमें एनसीसी की मंजूरी मिलना उन विद्यार्थियों के लिए काफी लाभदायक होगा जो सेना में जाने का सपना संजोए हुए हैं।