Follow us:-
Training programme
  • By Davinder Sidhu
  • January 11, 2024
  • No Comments

Training programme

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पहुंच, समानता, गुणवत्ता, सामर्थ्य और जवाबदेही के स्तंभों पर है आधारित: प्रोफेसर ढींडसा

सिरसा, 11 जनवरी 2024:कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में स्थापित यूजीसी मालवीय मिशन टीचर ट्रेंनिंग सेंटर की ओर से नई एजुकेशन पॉलिसी 2020 पर आधारित एक 2 सप्ताह का प्रशिक्षण व ओरिएंटेशन प्रोग्राम आयोजित किया गया। 18 से 30 दिसंबर तक आयोजित इस कार्यक्रम में जेसीडी मेमोरियल कॉलेज की तरफ से प्राचार्या डॉ. शिखा गोयल समेत कई स्टाफ सदस्यों ने भाग लिया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में नई शिक्षा नीति से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से जानकारी दी गई एवं चर्चा की गई। इसमें विशेषज्ञों ने भारतीय ज्ञान प्रणाली, रिसर्च एवं डेवलपमेंट, इनफॉरमेशन और कम्युनिकेशन, कौशल विकास, उच्च शिक्षा एवं समाज समेत कई विषयों पर गहन चिंतन एवं विमर्श प्रस्तुत किया। इस कार्यक्रम में जेसीडी मेमोरियल कॉलेज की तरफ से डॉ. इंदु, डॉ. अनीता मक्कड़, डॉ. सुनील, श्रीमती निधि बंसल, श्रीमती इकवंत कौर, श्रीमती पूजा ने भाग लिया।

जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक और अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक डॉ. कुलदीप सिंह ढींडसा ने कहा कि नईं शिक्षा नीति नई शिक्षा प्रणाली के दृष्टिकोण को रेखांकित करती है। यह नीति ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में प्रारंभिक शिक्षा से लेकर उच्च और व्यावसायिक प्रशिक्षण तक के लिए एक व्यापक रूपरेखा है जिसका लक्ष्य 2030 तक वर्तमान शिक्षा प्रणाली में सुधार कर भारत की शिक्षा प्रणाली की गुणवत्ता को बढ़ावा देना है।नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पहुंच, समानता, गुणवत्ता, सामर्थ्य और जवाबदेही के स्तंभों पर आधारित है। इस नीति का उद्देश्य एक ऐसी शिक्षा प्रणाली विकसित करना है जो सभी नागरिकों को उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा प्रदान करके और भारत को एक वैश्विक ज्ञान महाशक्ति के रूप में विकसित करके देश के परिवर्तन में सीधे योगदान दे।

प्राचार्या डॉ. शिखा गोयल ने बताया कि इस कार्यक्रम में नई एजुकेशन पॉलिसी को प्रभावी रूप से लागू करने के बारे में काफी कुछ बताया गया। डॉ. शिखा गोयल ने बताया कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक सार्वभौमिक पहुंच प्रदान करना आर्थिक विकास, सामाजिक न्याय और समानता, वैज्ञानिक उन्नति, राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक संरक्षण के मामले में भारत की निरंतर प्रगति और वैश्विक मंच पर नेतृत्व के लिए नई शिक्षा नीति अभी से लागू होना बेहद जरूरी है।उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति पांच मूल्यों पर निर्धारित है जिसमें शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षा, डिजिटल लर्निंग, उद्योग-संस्थान सहयोग, अनुसंधान और अंतर्राष्ट्रीयकरण, और भारतीय ज्ञान प्रणाली के विकास पर फोकस रहेगा। डॉ. शिखा गोयल ने कहा कि जेसीडी मेमोरियल कॉलेज के प्राध्यापक गण नई शिक्षा नीति को लेकर कई कार्यक्रमों में शामिल हो चुके हैं और कॉलेज में भी समय समय पर इस विषय पर चर्चा के लिए सत्र आयोजित किए जाते हैं।

इस कार्यक्रम में शामिल हुए स्टाफ सदस्यों ने बताया कि कार्यक्रम काफी सार्थक और ज्ञानवर्धक रहा और उन्हें नई शिक्षा नीति के कई अन्य नए पहलुओं के बारे में भी ज्ञान प्राप्त हुआ।