Valedictory Function of Annual Athletic Meet

जेसीडी मैमोरियल कॉलेज विजेता व डेन्टल कॉलेज रहा रनर-अप
खेल को खेल की भावना से खेलना चाहिए हार-जीत एक सिक्के के दो पहलू हैं : श्रीमती कांता चौटाला
महिलाओं में बेस्ट एथलीट पिंकी एवं मनदीप कौर तथा पुरूषों में गुरलाल बने बेस्ट एथलीट

जेसीडी विद्यापीठ में आयोजित की जा रही दो दिवसीय 16वीं वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का शनिवार को विधिवत् समापन हुआ, जिसमें समापन अवसर पर बतौर मुख्यातिथि श्रीमती कांता सिंह चौटाला उपस्थित हुए। इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर इनरव्हील की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती अंजू डूमरा व मुम्बई से श्रीमती कायनात ने शिरकत की। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा द्वारा की गई। इस अवसर पर चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय, सिरसा से डॉ.ईश्वर मलिक के आलवा अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। इस खेलकूद प्रतियोगिता के समन्वयक प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह के अलावा जेसीडी विद्यापीठ के डेन्टल कॉलेज के निदेशक डॉ.राजेश्वर चावला, विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश, डॉ.अरिन्दम सरकार, डॉ.दिनेश गुप्ता, डॉ.राजेन्द्र कुमार, डॉ.अनुपमा सेतिया व इंजी.आर.एस.बराड़ सहित जेसीडी अस्पताल से डॉ.पृथ्वीराज कायस्थ, श्री सुधांशु गुप्ता, वॉर एसोसिएशन के पूर्व प्रधान श्री रमेश चन्द मैहता, सेवानिवृत्त खंड शिक्षा अधिकारी भूना श्रीमती फूल खुराना ने मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों का स्वागत किया। इस मौके पर सभी विद्यार्थियों एवं स्टाफ सदस्यों द्वारा मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों का गर्मजोशी के साथ स्वागत करते हुए अपने जोश का परिचय दिया। इस पर होली की पूर्वसंध्या पर फूलों की होली एवं राधा-कृष्ण नृत्य का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न कॉलेजों के प्रतिभागियों द्वारा रंग-बिरंगी राधा-कृष्ण की वेशभूषा में नृत्य प्रस्तुत करके सभी का मन मोहा गया।

इस कार्यक्रम में मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए डॉ.शमीम शर्मा ने सभी विद्यार्थियों एवं अन्य से उनको परिचित करवाते हुए कहा कि यह आपके लिए सौभाग्य कि बात है श्रीमती कांता चौटाला जी से आपको मुखातिब होकर उनका अनुभव सांझा करने का अवसर प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि अथक मेहनत एवं लग्न के माध्यम से कोई भी खिलाड़ी उच्च शिखर तक पहुंच सकता है इसलिए आप अपनी पूरी मेहनत से व लग्न से कार्य करें। डॉ. शमीम शर्मा ने प्रतिभागियों का हौंसला अफजाई करते हुए कहा कि विद्यार्थी जीवन में विद्यार्थियों के लिए खेल एक अभिन्न अंग है व विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी बढ़-चढ़ कर भाग लेना चाहिए। जीवन में खेलकूद भी महत्व रखता है। जो शारीरिक मानसिक रूप से इंसान को मजबूत और स्वस्थ रखता है।

बतौर मुख्यातिथि श्रीमती कांता चौटाला ने सम्बोधित करते हुए सर्वप्रथम सभी को होली की शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा कि खेल को खेल की भावना से खेलना चाहिए हार जीत एक सिक्के के दो पहलू हैं। वर्तमान में बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद में भी हिस्सा लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य व्यक्तित्व का विकास करना है। यह विकास बाहरी न होकर आंतरिक होना चाहिए। जीवन में किसी भी लक्ष्य को हासिल करने के लिए ज्ञान, कौशल, सकारात्मक सोच व संस्कारों का होना अति आवश्यक है क्योंकि इनके बिना लक्ष्य हासिल करना असंभव है। उन्होंने कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ खेल व अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों में हिस्सा लेना भी विद्यार्थियों के लिए बहुत जरूरी। उन्होंने कहा कि बच्चों में खेल की भावना जागृत करना सभी का कर्तव्य है। खेल सामान्य ज्ञान की कुंजी है। खेल से शारीरिक क्षमता के साथ बौद्धिक विकास होता है एंव शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाती है। खेल के माध्यम से भी जीवन को बेहतर बनाया जा सकता है। विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में सम्मिलित होने वाले खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित करते हुए श्रीमती चौटाला ने कहा कि खेल, शैक्षणिक जीवन का अभिन्न हिस्सा है, एक सफल विद्यार्थी के जीवन में पढ़ाई के साथ-साथ खेलों का भी विशेष महत्व है।

इस दो दिवसीय प्रतिस्पर्धा में जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के विद्यार्थियों ने कब्जा जमाते हुए ओवरऑल विजेता बने तथा जेसीडी डेन्टल कॉलेज रनर-अप रहा। वहीं दो दिवसीय प्रतिस्पर्धा में महिला बेस्ट एथलीट के तौर पर मैमोरियल कॉलेज की पिंकी एवं मनदीप कौर तथा पुरूषाों में इंजीनियरिंग कॉलेज के गुरलाल को बेस्ट एथलीट चुना गया। 3000 मीटर दौड़ में मैमोरियल कॉलेज का शुभम् प्रथम, इंजीनियरिंग कॉलेज का योगेश द्वितीय तथा डेन्टल कॉलेज का निहाल सिंह तृतीय स्थान पर रहा। 4गुणा200 मीटर महिला वर्ग में मैमोरियल कॉलेज ने प्रथम, डेन्टल ने द्वितीय तथा शिक्षण महाविद्यालय ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। पुरुषों की लम्बी कूद में इंजीनियरिंग का गुरलाल प्रथम, मैमोरियल कॉलेज का शुभम ढाका द्वितीय एवं डेन्टल कॉलेज का सौरभ तृतीय स्थान पर रहा। महिला वर्ग की लम्बी कूद में मैमोरियल कॉलेज के मनदीप कौर, जसप्रीत व भूवि ने क्रमश: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त कियापुरुषों की 800 मीटर दौड़ में मैमोरियल कॉलेज के अजय सिंह ने प्रथम, डेन्टल कॉलेज के निहाल सिंह व विनय कुमार ने क्रमश: द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं 800 मीटर महिला वर्ग में मैमोरियल कॉलेज की मनदीप कौर व भूवि ने क्रमश: प्रथम व द्वितीय तथा डेन्टल कॉलेज की छात्रा अंजू ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। पुरूष वर्ग की डिस्कश थ्रो प्रतियोगिता में आईबीएम के रणजोत ने प्रथम, इंजीनियरिंग के अमित ने द्वितीय तथा मैमोरियल के सुनील कुमार ने तृतीय स्थान पाया। वहीं महिला वर्ग में डेन्टल की नैन्सी ने प्रथम, बी.एड.कॉलेज की ज्योति ने द्वितीय तथा मैमोरियल की जैसमीन ने तृतीय स्थान अर्जित किया। महिलाओं की 200 मीटर दौड़ में मैमोरियल की पिंकी ने प्रथम, डेन्टल की क्रतू ने द्वितीय तथा बीएड की सरोज ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। पुरूषों की शॉटपुट प्रतियोगिता में इंजीनियरिंग का नवजोत प्रथम व अमित द्वितीय तथा डेन्टल के रिशांत एवं गोविन्द तृतीय स्थान पर रहे। महिला वर्ग में बीएड की ज्योति व दलजीत ने क्रमश: प्रथम एवं द्वितीय तथा मैमोरियल की कंचन ने तृतीय स्थान अर्जित किया। 1500 मीटर पुरूषों की दौड़ में डेन्टल के निहाल सिंह व विनय यादव ने क्रमश: प्रथम व द्वितीय तथा मैमोरियल के योगेश ने तृतीय स्थान पाया। ट्रिपल जंप पुरूषों में इंजीनियरिंग के गुरलाल ने प्रथम, मैमोरियल के साहिल ने द्वितीय एवं मैमोरियल के विनोद कुमार ने तृतीय रहे। वहीं महिला वर्ग में मैमोरियल की पिंकी ने प्रथम, डेन्टल की रितू ने द्वितीय एवं मैमोरियल की कंचन ने तृतीय स्थान पाया। 400 मीटर पुरूषों की दौड़ में फार्मेसी के तनुज ने प्रथम, इंजीनियरिंग के बसंत ने द्वितीय एवं डेन्टल के सौरभ ने तृतीय स्थान अर्जित किया। वहीं महिला वर्ग में मैमोरियल की मनदीप कौर व भावि ने क्रमश: प्रथम व द्वितीय स्थान पाया तथा डेन्टल कॉलेज की रितू ने तृतीय स्थान अर्जित किया। वहीं इस अवसर पर अंत:विश्वविद्यालय व राष्ट्रीय स्तर पर विजेता रहने वाले खिलाडियों को मुख्यातिथि एवं अन्य द्वारा सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम के अंत में संयोजक एवं प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह अपने धन्यवादी अभिभाषण में मुख्यातिथि, विशिष्ट अतिथि एवं अन्य गणमान्य अतिथियों का इस अवसर पर पधारने पर धन्यवाद किया तथा खेल प्रतिस्पर्धा को विराम दिया गया। इस सम्पूर्ण कार्यक्रम में जेसीडी विद्यापीठ के खेल अधिकारी श्री अमरीक सिंह गिल, श्रीमती मिक्की देवी के अलावा अन्य संस्थानों से पधारे हुए खेल कोच एवं अन्य ने इसे कामयाब बनाने हेतु अपना अमूल्य योगदान प्रदान किया।