Or 01666-238105
Mon - Sat: 9:00AM - 5:00PM All Holidays and Saturday - Open
8th-Youth Festival Valedictory Function_JCDV (20)

Youth Festival Valedictory Function- dt. 13.11.2019 – JCD Vidyapeeth, Sirsa

युवा महोत्सव का हुआ रंगारंग समापन, एमएम कॉलेज बना ओवरऑल विजेता व चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय रहा रनर-अप
संस्कारों एवं संस्कृति को भूलने के कारण ही भटकाव की ओर जा रही है युवा पीढ़ी : अभय सिंह चौटाला

सिरसा 13 नवम्बर, 2019: जेसीडी मैमोरियल कॉलेज द्वारा आयोजित तथा चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के युवा कल्याण निदेशालय द्वारा प्रायोजित 8वाँ युवा महोत्सव का बुधवार को विधिवत् व रंगारंग समापन हुआ, जिसमें समापन अवसर पर बतौर मुख्यातिथि ऐलनाबाद के विधायक चौ. अभय सिंह चौटाला ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस मौके पर उनके साथ जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन श्री अर्जुन चौटाला एवं प्रबंध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा के अलावा अनेक अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहे। वहीं इस दिन के प्रात:कालीन सत्र में मुख्य मंच के कार्यक्रमों का शुभारंभ बतौर अतिथि डॉ. सुभाष शर्मा द्वारा तथा द्वितीय मंच के कार्यक्रमों का शुभारंभ हिन्दी साहित्यकार श्री कमलेश भारती द्वारा किया गया। इसके अलावा उनके साथ विशेष रूप से चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के डीन यूथ वेल्फेयर डॉ. सुरेन्द्र कुण्डू, सहायक निदेशक डॉ. राजेश छिकारा के अलावा जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण एवं शहर की अनेक गणमान्य एवं विशेष हस्तियां भी मौजूद रही।

8th Youth Festival sponsored by the Directorate of Youth Welfare of Ch. Devi Lal University was duly and colourfully completed on Wednesday. On the occasion, Abhay Singh Chautala, MLA Ellenabd attended the program as Cheif Guest. Mr. Arjun Chautala, Chairman of JCD Vidyapeeth and Dr. Shamim Sharma, Managing Director and many other dignitaries were also present. MM College became the overall winner and CDLU has been runner-up.

युवा महोत्सव के इस समापन अवसर पर मुख्य मंच पर जनरल गु्रप डांस एवं हरियाणवी गु्रप डांस तथा द्वितीय मंच पर संस्कृत प्ले, स्किट एवं माईम का आयोजन किया गया। इस सम्पूर्ण युवा महोत्सव में 37 कॉलेजों द्वारा हिस्सा लिया गया था। जिनमें एम.एम. कॉलेज फतेहाबाद द्वारा सबसे अधिक विधाओं में हिस्सा लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया गया था। इसमें मुख्य मंच पर टीम नं. 1901, 1917, 1922, 1923, 1928, 1934, 1940, 1943, 1945, 1956 द्वारा जनरल गु्रप डांस की प्रस्तुति दी गई तथा हरियाणवी गु्रप डांस के लिए टीम नं. 1901, 1921, 1923, 1927, 1928, 1929, 1954 ने अपनी प्रस्तुतियां देकर हरियाणा की संस्कृति की छटा बिखेरी। उधर स्टेज नम्बर 2 पर टीम नं. 1956, 1955, 1947, 1945, 1943, 1939, 1932, 1931, 1929, 1928, 1923, 1921, 1920, 1917, 1910, 1901 द्वारा माईम मे माध्यम से अनेक मुद्दों को उजागर किया गया। संस्कृत प्ले के लिए टीम नं. 1923 एवं 1922 द्वारा महाभारत एवं अन्य सामाजिक मुद्दों पर प्रतिभा प्रदर्शित की गई। वहीं टीम नं. 1956, 1948, 1947, 1945, 1943, 1939, 1931, 1929, 1923, 1922, 1921, 1918, 1914 एंड 1901 द्वारा अपने-अपने विषयों पर स्क्टि प्रस्तुत करके वाहवाही लूटी गई। निर्णायक मण्डल द्वारा इन तीन दिनों में विभिन्न मंचों पर आयोजित हुए कार्यक्रमों का निर्णय सुनाते हुए बेहतर प्रदर्शन करने के लिए एम.एम. कॉलेज फतेहाबाद को ओवरऑल विजेता घोषित किया, वहीं चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय इस युवा महोत्सव का रनर-अप विजेता बना। संगीत विधाओं के लिए ओवर ऑल ट्राफी एमएम कॉलेज, नृत्य के लिए ओवरआल ट्राफी चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय व थियेटर आईटम के लिए ओवरआल ट्राफी एमएम कॉलेज प्राप्त हुई।

सर्वप्रथम कार्यक्रम के समन्वयक एवं मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश ने मुख्यातिथि एवं सभी अतिथियों और न्यायाधीशों के अलावा विभिन्न कॉलेजों से आए हुए विद्यार्थियों एवं उनके प्राचार्यों का स्वागत करते हुए विश्वविद्यालय के युवा महोत्सव में आने के लिए आभार प्रकट किया।
इस मौके पर डॉ. शमीम शर्मा ने सर्वप्रथम श्री अभय सिंह चौटाला एवं श्री अर्जुन चौटाला व अन्य का इस कार्यक्रम में पधारने पर आभार प्रकट किया। उन्होंने दु:ख एवं पीड़ादायक घड़ी में इस युवा महोत्सव में उपस्थित होने बारे कहा कि हमें हमारे पिताश्री द्वारा सदैव कर्तव्यनिष्ठा एवं ईमानदारी का पाठ पढ़ाया गया है इसीलिए दुख-सुख तथा पीड़ा को भुलाकर अपने कर्तव्य का ईमानदारी से निर्वहन करने की उनकी शिक्षा को आगे बढ़ाना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि युवाओं का जोश देखते ही बनता है क्योंकि इनमें एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार अपने आप में ओर अधिक निखार ला देता है। डॉ. शर्मा ने कहा कि युवा वहीं है जो वायु के समान सदैव गतिशील एवं चलायमान है, जो बिना रूके अपने कर्तव्यों एवं देश के प्रति जिम्मेवारी को निभाता है।

मुख्यातिथि चौ. अभय सिंह चौटाला ने सर्वप्रथम चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय एवं जेसीडी विद्यापीठ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित करवाए गए इस अनुशासित एवं भव्य युवा महोत्सव की सराहना करते हुए समस्त आयोजकों को अपना आशीर्वाद एवं बधाई प्रेषित की। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को नशे तथा अन्य व्यसनों से दूर रहकर ऐसे कार्यक्रमों में अधिक से अधिक संख्या में हिस्सा लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करना चाहिए ताकि उनकी कला में ओर अधिक निखार हो सके। उन्होंने कहा कि वर्तमान की युवा पीढ़ी अपने संस्कारों एवं संस्कृति को भूलने के कारण ही वास्तविकता से परे हो चुकी है तथा अनेक विकारों से घिर गई है। श्री चौटाला ने कहा कि युवाओं को नशे से दूर रहकर खेलों एवं सांस्कृतिक गतिविधियों एवं शिक्षा की ओर ध्यान देना चाहिए ताकि उनको सफलता प्राप्त हो सके।
इस मौके पर डॉ. सुभाष शर्मा ने सर्वप्रथम इस आयोजन के लिए अनुशासित माहौल एवं युवा महोत्सव में प्रतिभाओं की सराहना करते हुए कहा कि युवा पीढ़ी को निरंतर प्रयास करने व अपने मजबूत पक्षों को ओर निखारने बारे प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि आज के समय में केवल शिक्षा ही सबकुछ नहीं है अपितु एक विद्यार्थी को सभी विधाओं में प्रांगण होने के लिए प्रयास करना चाहिए ताकि उसका सर्वांगीण विकास संभव हो पाए। वहीं द्वितीय मंच के अतिथि साहित्यकार श्री कमलेश भारती ने जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशिका डॉ. शमीम शर्मा को अपनी प्रेरणा मानते हुए कहा कि इनके हौंसले एवं जज्बे को सलाम है तथा इनके द्वारा थोड़े समय में ही इतनी बेहतर प्रस्तुतियों के माध्यम से इस युवा महोत्सव का आयोजन करवाकर वास्तव में अपनी एक बेहतर मिसाल कायम की है। उन्होंने अपने संबोधन में सिरसा के महान साहित्यकार पूरन मुद्गल जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि हिन्दी की एक डिकशनरी हम से दूर हो गई है, जिसका सभी को बहुत दुख है।

जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन एवं कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री अर्जुन सिंह चौटाला ने कहा कि हमारा उद्देश्य विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उनका सर्वांगीण विकास करना है, जिसके लिए हम सदैव कृतसंकल्प है तथा निरंतर प्रयास करके हमारे विद्यार्थियों को खेलों एवं अन्य गतिविधियों के लिए सदैव ऐसे आयोजन करवाकर तैयार करते हैं। उन्होंने विश्वविद्यालय तथा अन्य संस्थानों को विश्वास दिलाया कि निकट भविष्य में भी ऐसे आयोजनों के माध्यम से हमारा संस्थान जो विद्यार्थी इस कार्यक्रम में रह गए है या अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन नहीं कर पाएं हैं उन्हें मौका देकर अपनी प्रतिभा को निखारने का अवसर प्रदान करेगा।

इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के सभी महाविद्यालयों के प्राचार्य, स्टाफ सदस्य, चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय से सम्बद्ध समस्त महाविद्यालयों के प्राचार्यगण, विद्यार्थीगण एवं अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।