Follow us:-
Drug Free India campaign by Art of Living – JCD Vidyapeeth, Sirsa
  • By
  • February 15, 2019
  • No Comments

Drug Free India campaign by Art of Living – JCD Vidyapeeth, Sirsa

जेसीडी विद्यापीठ में हुआ नशामुक्त भारत अभियान के तहत कार्यक्रम
जीवन अनमोल, मत लगने दो इसे नशे का दीमक : जोशी

We are unable to establish a peaceful world unless we have a stress-free mind and violence-free society – a saying by Sri Sri Ravishankar Ji Maharaj. An expert lecture organized in the JCD Auditorium under ‘ Drug-Free India’ campaign, in which Akshay Joshi, associated with drug de-addiction campaign advised people to stay away from substance abuse. Dr. Shamim Sharma, Managing Director, JCDV attended this program as a special guest.

जब तक हमारे पास तनावमुक्त मन और हिंसा रहित समाज न हो तब तक हम विश्व शांति स्थापित कर पाने में असमर्थ होते हैं यह कहना है श्रीश्री रविशंकर जी महाराज का। इसी भाव को ध्यान में रखते हुए तथा समाज को नशा मुक्त करने के लिए उनके सानिध्य में अनेक शिष्यों द्वारा शहर-शहर व गांव-गांव में युवाओं को जागरूक करने के लिए कार्यक्रमों का आयोजन करवाया जा रहा है, जिसके तहत विगत दिवस जेसीडी के सभागार कक्ष में ‘नशा मुक्त भारत’ अभियान के तहत एक विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन करवाया गया, जिसमें नशा मुक्त भारत अभियान से जुड़े हुए अक्षित जोशी ने उपस्थितजनों को नशे से दूर रहकर स्वस्थ जीवन जीने की सलाह दी। इस कार्यक्रम में जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। कार्यक्रम का आयोजन मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश की देखरेख में करवाया गया। इस मौके पर ऑर्ट ऑफ लिविंग संस्था की ओर से अधिवक्ता अमनदीप कौर, डॉ.कशिश खत्री, एकता मक्कड़, कोमल मैहता, अंकित चौधरी, गोकुल मैहता, हिमांशु बांसल, डॉ. सोफिया मैहता एवं हेमन्त इत्यादि भी विशेष तौर से उपस्थित रहे।

सर्वप्रथम प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने मुख्यातिथि एवं अन्य अतिथियों का इस कार्यक्रम में पधारने पर स्वागत करते हुए प्रबंधन समिति का इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए धन्यवाद करते हुए कहा कि जीवन में नशा प्रत्येक तरह से नुकसानदायक साबित होता है तथा एक युवा पीढ़ी को इससे बचाने के लिए ऐसे कार्यक्रम काफी सहायक सिद्ध होते हैं।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ.शमीम शर्मा ने विशेष रूप से विद्यार्थियों का हौंसलाफजाई करने पधारे ऑर्ट ऑफ लिविंग की समस्त टीम का स्वागत करते हुए कहा कि श्रीश्री रविशंकर एक बेहतर अभियान चला रहे हैं जिसके माध्यम से सभी को जीवन को जीने की बेहतर कला सिखाई जा रही है,वहीं उनके सान्निध्य में नशे के प्रति चलाया जा रहा यह अभियान भी काफी सराहनीय तथा देशहित में एक सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि नशा केवल हमारे शरीर को ही नहीं अपितु सम्पूर्ण जीवन को नष्ट कर देता है तथा अनेक प्रकार से हमें यह नुकसान पहुंचाता है तथा युवा पीढ़ी केवल इसे गलत संगत के चलते अपना तो लेते हैं परंतु फिर इसके चंगुल से छूट पाना असंभव हो जाता है इसीलिए ऐसे कार्यक्रमों के माध्यम से विद्यार्थियों को जागरूक करके ही हम नशे से उन्हें बचा सकते है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की बुराई को मिटाने के लिए सभी को एकजुट होकर संघर्ष करना होगा तभी यह संभव हो पाएगा।

बतौर मुख्य वक्ता सर्वप्रथम अक्षित जोशी ने अपने मधुरवाणी में संगीत के माध्यम से सभी को मंत्रमुग्ध करने उपरांत ही अपना अभिभाषण प्रारंभ किया। उन्होंने कहा कि समाज में नित-प्रतिदिन नशे का दुष्प्रभाव बढ़ता जा रहा है जिसके चलते युवा पीढ़ी अपने पथ से भटक चुकी है। नशा इंसान के जीवन को दीमक की भांति खोखला कर रहा है। मि.जोशी ने कहा कि मानव जीवन अनमोल है इसे नशे से दूर रहकर ही बचाया जा सकता है।

इस अवसर पर जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण के अलावा सभी कॉलेजों के विद्यार्थीगण भी मौजूद रहे तथा नशे को मिटाने के लिए संकल्प लिया।