Landline +91-1666-238101, 238105
Mon - Sat: 9:00AM - 5:00PM 2nd Sat., 3rd Sat, Sunday: Closed

Certificate distribution Function – JCDM College of Engineering, Sirsa

जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना एवं स्वच्छ भारत मिशन के तहत विद्यार्थियों को प्रमाण-पत्र वितरण समारोह आयोजित
प्रत्येक में कोई न कोई हुनर विद्यमान, आवश्यकता है उसे पहचानकर निखारने की – डॉ.शमीम शर्मा

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित इंजीनियरिंग कॉलेज में ‘प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना’ के अंतर्गत चलाए जा रहे विभिन्न कोर्सों तथा ‘स्वच्छ भारत मिशन’ में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को एक समारोह का आयोजन करके बतौर मुख्यातिथि जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने प्रमाण-पत्र वितरित किए। इस मौके पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता एवं बहुतकनीकी संस्थान के प्राचार्य इंजी.आर.एस.बराड़ द्वारा की गई। इस कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि महोदया एवं अन्य द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन इस कोर्स का संचालन कर रही इलैक्ट्रानिक्स विभाग की अध्यक्षा इंजी.वीना रानी की देखरेख में किया गया।

इस मौके पर सर्वप्रथम कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश गुप्ता ने सभी प्रतिभागियों एवं अन्य से कार्यक्रम के मुख्यातिथि से परिचित करवाते हुए उनका इस मौके पर पधारने पर स्वागत करते हुए कहा कि संस्थान द्वारा प्रत्येक क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने का प्रयास रहता है, जिसमें यह कौशल सम्बन्धित कोर्स अपनी अह्म भूमिका अदा करते हैं। उन्होंने कहा कि कौशल विकास से हमें रोजगार प्राप्ति में आसानी हो जाती है तथा अगर रोजगार प्राप्त भी न हो पाएं तो हम अपना स्वयं का रोजगार भी प्रारंभ कर सकते हैं।

इस अवसर पर बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ.शमीम शर्मा ने सभी प्रमाण-पत्र प्राप्त करने वाले सभी विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि हुनर को किसी प्रमाण-पत्र की आवश्यकता नहीं होती है यह तो जिसके पास भी होता है अपनी पहचान स्वयं बना लेता है। उन्होंने कहा कि हम सब में कोई न कोई हुनर विद्यमान है परंतु आवश्यकता है तो इसे निखारने की उसे पहचानने की। डॉ.शर्मा ने मधुमक्खी तथा शहद की एक वाक्य सुनाते हुए बताया कि मधुमक्खी से किसी ने कहा कि आप इतनी मेहनत से शहद तैयार करती है उसमें आपको काफी समय लगता है परंतु मनुष्य एक क्षण में उसे प्राप्त करके आपकी मेहनत को नष्ट कर देता है तो मधुमक्खी ने कहा कि वह केवल शहद ही ले जाता है परंतु मेरा हुनर तो नहीं ले जा सकता इसलिए आप भी अपने हुनर की पहचान करके उसे कड़ी मेहनत एवं लग्र के साथ उसमें निखार लाकर कामयाबी हासिल करें।

वहीं इस कार्यक्रम में ही सिविल विभाग एवं मैकेनिकल विभाग के इंजी.सुनील कुमार एवं इंजी.गंगा सिंह को भी सम्मानित किया गया। ज्ञात रहे कि इन दोनों विभागों के विद्यार्थियों द्वारा ‘इंडिया इनोवेशन चैलेंज डिजाइन कान्टेस्ट-2018’ में उक्त दोनों इंचार्जों की देखरेख में प्रोजेक्ट जमा करवाया था। इस प्रोजेक्ट का चयन एवं क्रियान्वयन सिविल विभाग के अध्यक्ष इंजी. विक्रम ढिल्लों व मैकेनिकल विभाग के अध्यक्ष डॉ.दिनेश शर्मा की देखरेख में किया गया। इसमें कुल 26511 छात्रों की 10146 टीमों ने हिस्सा लिया था। वहीं इस मौके पर 90 से अधिक विद्यार्थियों को प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए।

इस अवसर पर इंजी.कॉलेज के डिप्टी रजिस्ट्रार एस.एल.सैनी के अलावा समस्त विभागों के विभागाध्यक्ष के अलावा सभी विद्यार्थीगण एवं अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम का मंच संचालन कम्प्यूटर विभाग की सहायक प्रोफेसर भाविका जग्गा द्वारा किया गया।

No Comments
Post a Comment
Name
E-mail
Website