Follow us:-
Extension Lecture on GST
  • By
  • February 24, 2018
  • No Comments

Extension Lecture on GST

जेसीडी आईबीएम कॉलेज में जीएसटी विषय पर विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित
बी.कॉम. एवं बीबीए तथा एमबीए के विद्यार्थियों को जीजेयू के विशेषज्ञ द्वारा प्रदान की गई जीएसटी विषय पर जानकारी

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित बिजनेस मैनेजमेंट कॉलेज में शनिवार को ‘भ्रष्टाचार मुक्त भारत -माल और सेवाकर के लिए सबसे बड़ा आर्थिक सुधार’ विषय पर विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में गुरू जम्भेश्वर विश्वविद्यालय हिसार से प्रो.कर्ण पाल नरवाल ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.प्रदीप स्नेही व जेसीडी आईबीएम की कार्यकारी प्राचार्या श्रीमती हरलीन कौर द्वारा की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य वक्ता, जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक एवं अन्य गणमान्य लोगों द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। इस विशेषज्ञ व्याख्यान में जेसीडी मैमोरियल एवं आईबीएम कॉलेज के बी.कॉम. एवं बीबीए व एमबीए के 150 से अधिक विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया।

इस मौके पर प्राचार्य डॉ.प्रदीप स्नेही द्वारा अपने संबोधन में मुख्य वक्ता का स्वागत करते हुए बताया कि जेसीडी विद्यापीठ में समय-समय पर ऐसे आयोजनों को करवाया जाता है ताकि विशेषज्ञों के माध्यम से विद्यार्थियों को बेहतर ज्ञान प्रदान किया जा सके तथा नवीन जानकारियां उपलबध करवाई जा सके। उन्होंने अपने संबोधन में प्रो.नरवाल के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान करते हुए बताया कि इन्होंने टैक्स में पी.एचडी. की है तथा 25 वर्षों का अनुभव प्राप्त है। वहीं इन्होंने 165 से अधिक राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय जरनल इत्यादि भी प्रकाशित किए हैं तथा कई पुस्तकों का भी लेखन किया हुआ है। उन्होंने जेसीडी विद्यापीठ के चेयरमैन श्री दिग्विजय सिंह चौटाला, प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला, शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक एवं अन्य अधिकारियों का समय-समय पर ऐसे आयोजनों हेतु मार्गदर्शन करने के लिए आभार प्रकट किया।

इस अवसर पर अपने वक्तव्य में प्रो.कर्णपाल नरवाल ने विद्यार्थियों को जीएसटी के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करते हुए बताया कि किस प्रकार इसकी नींव रखी गई तथा यह विस्तार में आई। उन्होंने बताया कि 150 से अधिक देशों में जीएसटी पहले ही लागू है तथा अब भारत भी इन देशों में शामिल हो चुका है। उन्होंने इनपुट क्रेडिट्स, टैक्स रेट्स इत्यादि कान्सेप्ट पर विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं को शांत किया। उन्होंने बताया कि इंफोसिस ऐसी संस्था है जो जीएसटीएन का सॉफटवेयर को संचालित कर रही है। वहीं उन्होंने कहा कि जीएसटी का जहां तक अभी लोगों को विस्तारपूर्वक पता न होने के कारण फायदा नजर नही आ रहा है उनके लिए यह जान लेना अति आवश्यक है कि जीएसटी भारत देश के विकास में अपना अह्म योगदान प्रदान करेगी परंतु इसमें थोड़ा समय अवश्य लगेगा। प्रो.नरवाल ने फेडरल सिस्टम के अंतर्गत जीएसटी को केन्द्र एवं राज्य सरकार के बीच बराबर विभाजन को बताया एवं इससे जुड़े तथ्यों को भी स्पष्ट किया। उन्होंने जीएसटी काउंसिल के सदस्यों एवं इनकी कार्यप्रणाली के बारे में भी विद्यार्थियों को अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि जीएसटी के कारण महंगाई घटेगी, व्यापार करना आसान हो जाएगा तथा कालाबाजारी कम हो जाएगी परंतु जब यह पूर्णत: लागू जाएगी तब। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे इस विषय में विस्तृत जानकारी हासिल करके इसकी बारिकियों को समझकर लाभ प्राप्त करें ताकि भविष्य में आपको सफलता हासिल हो सके।

इस अवसर पर जेसीडी आईबीएम कॉलेज के बीबीए एवं एमबीए व जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के बी.कॉम. के 150 से अधिक विद्यार्थियों के अलावा अन्य गणमान्य लोग तथा समस्त स्टाफ सदस्य भी मौजूद रहे।