National Level Slogan and Doha Writing Competition on Hindi Diwas

जेसीडी मैमोरियल कॉलेज द्वारा हिन्दी दिवस पर राष्ट्रीय स्तरीय स्लोगन व दोहा लेखन प्रतियोगिता का आयोजन
हिन्दी के बारे में तो बोलते हैं परंतु हिन्दी में नहीं बोलते : डॉ. शमीम शर्मा

सिरसा 15 सितम्बर, 2020 : जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित मैमोरियल कॉलेज द्वारा हिंदी दिवस पर राष्ट्रीय स्तर की इंटर कॉलेज ऑनलाइन दोहा लेखन प्रतियोगिता का आयोजन करवाया गया। इस दोहा लेखन प्रतियोगिता में देशभर के विभिन्न महाविद्यालयों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया, जिसमें 250 से ज़्यादा प्रविष्टियां प्राप्त हुई थी। इस प्रतियोगिता का आयोजन जेसीडी विद्यापीठ की प्रबन्ध निदेशक डॉ. शमीम शर्मा के निर्देशन में किया गया तथा कार्यक्रम के संयोजक प्राचार्य डॉ. जय प्रकाश रहे। वहीं इस का आयोजन डॉ. शिखा गोयल व किरण वर्मा के मार्गदर्शन में करवाया गया। प्रतियोगिता के विजेताओं को ऑनलाइन माध्यम से सम्मानित किया गया। इस मौके पर डॉ. शमीम शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की, जिन्हें प्राचार्य द्वारा पौधा भेंट करके उनका स्वागत किया गया।

इस लेखन प्रतियोगिता में निर्णयक मंडल की भूमिका निभाते हुए विकास हाई स्कूल के डायरेक्टर विशाल वत्स व ओढ़ांं से हरकी देवी सीनियर सेकंडरी स्कूल की प्राचार्य डॉ. कुलदीप कौर ने जेसीडी मेमोरियल कॉलेज के बीए द्वितीय वर्ष के अनिल को प्रथम, जेसीडी मैमोरियल के द्वितीय वर्ष की रिंकी व बहादुरगढ़ के वीएसएमएम कॉलेज की कीर्ति को द्वितीय चुना गया। वहीं जेसीडी मेमोरियल कॉलेज के एमएससी के तुशन्त व जेसीडी एजुकेशन कॉलेज से स्वरूप कौर को तृतीय चुना गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने सर्वप्रथम हिंदी दिवस पर आयोजित दोहा स्लोगन प्रतियोगिता के लिए कॉलेज को बधाई दी तथा उन्होंने कहा कि हिंदी हमारी राष्ट्रीय एवं मातृभाषा है हमें  हमारी भाषा में कार्य करने में कोई संकोच नहीं होना चाहिए और हमें ज्यादा से ज्यादा कार्य हिंदी में करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिन्दी के बारे में तो हम बहुत बोलते हैं परंतु हिन्दी में नहीं बोलते हैं। डॉ. शर्मा ने कहा कि हिन्दी को अपनाएं तथा राष्ट्र को समृद्धि की ओर ले जाएं। आज के समय में युवाओं को अपनी इस भाषा को बोलने में शर्मिंदगी होती है, जो कि सही नहीं है उन्होंने कहा कि भारत में हिंदी एक मात्र ऐसी भाषा है, जिसे सबसे अधिक बोला, लिखा व पढ़ा जाता है परंतु फिर भी हमें इसे अपनाने में झिझक महसूस होती है।

इस कार्यक्रम के संयोजक प्राचार्य डॉ जयप्रकाश ने सभी विजेताओं को बधाई एवं शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा कि हमारा उद्देश्य इस आयोजन को करवाने का हिन्दी के बारे में बच्चों को आगे लाना था, जिसमें बहुत से बच्चों ने अपनी कला का प्रदर्शन करके अपनी लेखनी के माध्यम से हिन्दी पर अपने विचार प्रकट किए है जो अपने आप में सराहनीय है। डॉ. जयप्रकाश ने कहा कि हम समय-समय पर ऐसे आयोजनों के माध्यम से बच्चों को अनेक अवसर प्रदान करते हैं ताकि वह अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करके बेहतर शिक्षा व ज्ञान हासिल कर सकें।

इस मौके पर सभी विजेता प्रतिभागियों को बधाई प्रेषित की गई तथा मौका पर उपस्थित विजेताओं को इनाम राशि एवं सर्टिफिकेट दिए गए। इस अवसर पर जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के समस्त प्राध्यापक, प्रतियोगिता के विजेता एवं अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।