Or 01666-238105
Mon - Sat: 9:00AM - 5:00PM 2nd Sat., 3rd Sat, Sunday: Closed

One Day Seminar on Healthy Lifestyle at JCDM College of Pharmacy, Sirsa

जेसीडी फार्मेसी कॉलेज में स्वास्थ्यप्रद जीवनशैली पर एक दिवसीय सेमिनार आयोजित
On February 6, A one-day seminar based on Healthy Lifestyle was organized in JCDM College of Pharmacy, in which Mr. N.S.S Kaushik, Sales Manager of Ayurvedic Pharmacy Private Limited company of Karnal, provided information to Students.Dr. Anupama Setia, Principal of the college, chaired the program.

#healthylifestyle #Sirsa #Pharmacy #jcdmcop #jcdv

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित फार्मेसी कॉलेज में विगत दिवस स्वास्थ्यप्रद जीवनशैली पर आधारित एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में करनाल की आयुर्वेदिक फार्मेसी प्राईवेट लिमिटेड कम्पनी निड के सेल्ज मैनेजर मि.एन.एस.कौशिक ने विद्यार्थियों को जानकारी प्रदान की गई। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी फार्मेसी कॉलेज की प्राचार्या डॉ.अनुपमा सेतिया द्वारा की गई। इस कार्यक्रम में पधारने पर जेसीडी फार्मेसी कॉलेज के प्रोफेसर डॉ.प्रदीप कंबोज ने मुख्य वक्ता का स्वागत करते हुए सभी विद्यार्थियों से उनका परिचय करवाया। इस कार्यक्रम का मंच संचालन सहायक प्रोफेसर डॉ.शिखा रहेजा द्वारा किया गया।

मुख्य वक्ता के तौर पर अपने संबोधन में मि.एन.एस.कौशिक ने विद्यार्थियों को स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारियां प्रदान करते हुए कहा कि हमारे स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है तथा हमारे स्वस्थ रहने पर ही हम प्रत्येक कार्य को बेहतर तरीके से कर पाएंगे इसके लिए हमें अपनी जीवनशैली एवं खान-पान में सुधार करना होगा। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि वर्तमान में बच्चों से लेकर बड़े अधिकतर लोग जंक फूड्ज को पसंद करने लगे हैं जिनके कारण बीमारियों में भी बढ़ावा हो रहा है। मि.कौशिक ने बताया कि जंक फूड में कोई पौष्टिक तत्व नहीं होता जिसके चलते यह संतुलित आहार की बराबरी नहीं कर सकता है क्योंकि संतुलित आहार जहां हमारे शरीर को ऊर्जा एवं शक्ति प्रदान करता है वहीं यह हमें अनेक बीमारियों से भी बचाए रखता है।

डॉ.अनुपमा सेतिया ने अपने संबोधन में मुख्य वक्ता का इस कार्यक्रम के माध्यम से महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने तथा विद्यार्थियों को जागरूक करने के लिए आभार प्रकट करते हुए कहा कि हमारा शरीर अगर स्वस्थ है तो हम प्रत्येक कार्य को कुशलतापूर्वक तथा बेहतर तरीके से उसे कर पाएंगे और अगर हम बीमार है तो हमारी उस कार्य के प्रति रूचि भी समाप्त हो जाती है इसलिए स्वास्थ्य सर्वोपरि है, जिसमें इस प्रकार के आयोजन अपना बेहतर योगदान प्रदान करने में मुख्य भूमिका अदा करते हैं। उन्होंने बताया कि फास्ट फूड में कृत्रिम रंग, शक्कर के स्थान पर सैचरिन नामक मीठा जहर का इस्तेमाल किया जाता है जो हमारे शरीर के लिए काफी घातक होता है।

इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए कॉलेज प्राचार्या तथा स्टाफ सदस्यों की प्रशंसा करते हुए जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ उनके स्वास्थ्य पर भी ध्यान देना है तथा ऐसे जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से हम उन्हें नशे से दूर रहकर अपने बेहतर स्वास्थ्य के प्रति सचेत करने का कार्य कर पाएंगे। उन्होंने विश्वास दिलाया कि निकट भविष्य में भी अनेक विशेषज्ञों को संस्थान में आमंत्रित करके विद्यार्थियों को बेहतर मार्गदर्शन प्रदान करने का काम करेंगे। डॉ.शर्मा ने कहा कि आज की आपाधापी भरे जीवन में भोजन सम्बन्धी तथा अनेक लापरवाहियों के चलते हम अपने ही स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर बैठते हैं जो आगे चलकर हमें हानि पहुंचाता है इसीलिए विद्यार्थियों के अलावा सभी को बेहतर एवं संतुलित आहार युक्त भोजन खाना चाहिए तथा स्वस्थ रहने के लिए व्यायाम इत्यादि करना चाहिए।

इस अवसर पर फार्मेसी कॉलेज के स्टाफ सदस्य के अलावा अनेक गणमान्य लोग तथा विद्यार्थीगण भी उपस्थित रहे।

No Comments
Post a Comment
Name
E-mail
Website