Follow us:-
Seminar on Digital Banking & Cashless Transaction by SBI, Sirsa)
  • By
  • November 22, 2016
  • No Comments

Seminar on Digital Banking & Cashless Transaction by SBI, Sirsa)

जेसीडी विद्यापीठ में ‘डिजीटल बैकिंग एंड कैशलेस ट्रांजकशनÓ विषय पर सेमिनार आयोजित
एसबीआई के क्षेत्रीय प्रबंधक ने कहा – कैशलेस ट्रांजकशन से आएगी आर्थिक मजबूती

सिरसा 21 दिसम्बर, 2016 : जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित इंजीनियरिंग कॉलेज की एनएसएस शाखा एवं भारतीय स्टेट बैंक की विद्यापीठ शाखा के संयुक्त तत्वावधान में ‘डिजीटल बैकिंग एवं कैशलेस ट्रांजकशनÓ विषय पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया, जिसमें भारतीय स्टेट बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री विपिन कपूर बतौर मुख्यातिथि तथा जेसीडी में स्थित भारतीय स्टेट बैंक शाखा के प्रबंधक श्री हरबंस नारंग ने बतौर विशिष्ट अतिथि शिरकत की। वहीं इस सेमिनार की अध्यक्षता जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य डॉ. हिमांशु मोंगा एवं जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश द्वारा संयुक्त रूप से की गई। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी. आकाश चावला, शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक, विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता सहित जेसीडी विद्यापीठ के अन्य कॉलेजों के प्राचार्यगण एवं अधिकारी व गणमान्य लोगों द्वारा भी अपनी उपस्थिति दर्ज की गई। सभी अतिथियों द्वारा इस मौके पर मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। इस कार्यक्रम का आयोजन जेसीडी इंजी. कॉलेज के कम्प्यूटर साईंस विभाग के सहायक प्रोफेसर इंजी. विकास कामरा द्वारा सर्वप्रथम डिजीटल बैंकिंग एवं कैशलेस ट्रांजकशन विषय पर विस्तृत जानकारी प्रस्तुत करके किया गया। उन्होंने इस बारे विस्तारपूर्वक बताते हुए मोबाईल बॉलेट, कार्ड सिस्टम, यूएसएसडी व रूपे कार्ड के उपयोग करने के तरीके बताए। इंजी. कामरा द्वारा विभिन्न कैशलेस ट्रांजकशन प्रणाली का हिस्सा बनने बारे बताया गया।

कार्यक्रम के प्रारंभ में इंजी. कॉलेज के प्राचार्य डॉ. हिमांशु मोंगा तथा डॉ. जयप्रकाश द्वारा सर्वप्रथम आए हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया तथा उन्होंने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार व एनएसएस संस्था के द्वारा डिजीटल बैंकिंग व कैशलेस ईकोनॉमी से सम्बन्धित सेमिनार व अन्य माध्यमों के द्वारा लोगों को जागरूक करने की हिदायत दी गई थी जिसके तहत इस सेमिनार का आयोजन संस्थान द्वारा करवाया गया है तथा निकट समय में भी ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करके शिक्षकों, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों को इस बारे जागरूक किया जाएगा।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में भारतीय स्टेट बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री विपिन कपूर ने नोटबंदी के लिए केन्द्र सरकार की मुक्तकंठ से प्रशंसा करते हुए कहा कि पुरानी मुद्रा के बंद होने से देश में फैल रहे भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी। उन्होंने कहा कि कैशलेस ट्रांजकशन से देश की आर्थिक इकॉनामी मजबूती होगी जिससे सरकार के डिजीटल इंडिया अभियान को भी मजबूती मिल पाएगी। वहीं उन्होंने अपने संबोधन में एसबीआई बड्डी स्कीम के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की तथा लोगों को इससे अधिक से अधिक जुड़कर लाभ उठाने का आग्रह किया। श्री कपूर ने एसबीआई बैंक द्वारा अन्य अनेक लाभ प्रदान करने वाली स्कीमों के बारे में भी जानकारी प्रदान की।

इस मौके पर अपने संबोधन में जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ. आर.आर. मलिक ने मुख्यातिथि एवं अन्य का इस अवसर पर पधारने पर स्वागत करते हुए कहा कि जेसीडी विद्यापीठ समय-समय पर सरकार द्वारा चलाई जाने वाली नई स्कीमों को विद्यार्थियों व शिक्षकों को अवगत करवाने हेतु ऐसे सेमिनारों का आयोजन करवाता रहता है। उन्होंने अपने संबोधन में बताया कि जेसीडी विद्यापीठ में 90 प्रतिशत आर्थिक लेनदेन कैशलेस माध्यम से है तथा अगले वर्ष की शुरूआत तक इसे 100 प्रतिशत तक लागू करने का प्रयास किया जा रहा है। डॉ. मलिक ने भी कैशलेस ट्रांजकशन व डिजीटल बैंकिंग के लाभ बताते हुए इसे जनहित में होने की बात कही तथा प्रत्येक को इसका सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया।

इस सेमिनार में जेसीडी इंजीनियरिंग कॉलेज, जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय एवं अन्य कॉलेजों के शिक्षकगण, विद्यार्थीगण एवं अन्य कर्मचारी भी उपस्थित रहे। अंत में जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंधन समिति एवं आयोजकों द्वारा मुख्यातिथि महोदय एवं अन्य को स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया गया।

×

Hello!

Click one of our contacts below to chat on WhatsApp

× How can I help you?