#JCDDENTAL

Fresher Party – JCD Dental College, Sirsa

जेसीडी डेन्टल कॉलेज में नवागन्तुक विद्यार्थियों के लिए फे्रशर पार्टी आयोजित
चौ.देवीलाल जी के हरियाणा को साक्षर व समृद्ध बनाने के स्वप्र को साकार करने का प्रयास : डॉ.मलिक

Fresher party ‘Navym-2018’ was organized to welcome new students at JCD Dental College, Sirsa. Dr. R.R. Malik, Academic Director of JCD Vidyapeeth Mr. Siddharth Jhinja, Managing Executive, JCD Dental College and College Principal Dr. Rajeshwar Chawla inaugurated the program by lighting the lamp in front of Mother Saraswati.

Student Arvinder Kumar is selected as Mr. Fresher and Monica as Miss Fresher selected. On the other hand, students Saurabh Tanwar and Deepak Kumar Shah picked as Mr. Talent white girl students Nandini, Shivani and Smasan as Miss Talent.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित डेन्टल कालेज में नवागन्तुक विद्यार्थियों के स्वागत के लिए फ्रेशर पार्टी ‘नव्यम-2018’ का आयोजन किया गया, जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर मलिक, जेसीडी डेन्टल कॉलेज के प्रबंधन एक्जिीक्यूटिव श्री सिद्धार्थ झींझा एवं कॉलेज के प्राचार्य डॉ. राजेश्वर चावला द्वारा माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस मौके पर उनके साथ जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार एवं जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण तथा अन्य गणमान्य लोग भी मौजूद रहे। इस मौके पर विद्यार्थियों ने अपनी कला एवं हुनर का शानदार प्रदर्शन करते हुए उपस्थित जनों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस कार्यक्रम में विद्यार्थियों द्वारा शास्त्रीय नृत्य, हरियाणवी, राजस्थानी व पंजाबी नृत्य, लघुनाटक, आसाम का डांस विहू के अलावा पंजाबी भंगड़ा इत्यादि प्रस्तुत करके वाहवाही लूटी।

इस अवसर पर जेसीडी डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.राजेश्वर चावला ने अपने संबोधन में सर्वप्रथम सभी विद्यार्थियों का स्वागत करते हुए कॉलेज के स्टाफ सदस्यों एवं विद्यार्थियों को परिचित करवाते हुए कॉलेज के नियमों से नवागन्तुक विद्यार्थियों को अवगत करवाया गया। उन्होंने कहा कि जेसीडी डेन्टल कॉलेज ने सिरसा जिला में अपनी एक बेहतर पहचान कायम की है, जिसका श्रेय आप विद्यार्थियों को ही जाता है। उन्होंने नवागन्तुक विद्यार्थियों से कहा कि अब इस गरिमा को कायम रखना आप सभी की जिम्मेवारी है इसीलिए आप अनुशासन में रहते हुए बेहतर शिक्षा हासिल करने के साथ-साथ संस्थान एवं अपने-अपने जिला का भी नाम रोशन करने का कार्य करें। उन्होंने सभी विद्यार्थियों से आह्वान किया कि उन्हें अपने माता-पिता एवं बड़े-बुजुर्गों का आदर व सम्मान करना चाहिए ताकि हमारी संस्कृति को कायम रखा जा सके।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में डॉ.आर.आर.मलिक ने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ में प्रतिभाओं की कमी नहीं है तथा इस प्रकार का मंच प्रदान करके हम विद्यार्थियों में छुपी हुई प्रतिभा को प्रस्तुत किया जा सकता है तथा विद्यार्थियों के पास अपनी प्रतिभा को निखारने का एक बेहतर अवसर होता है इसलिए खेल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रत्येक विद्यार्थी को बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए। उन्होंने सभी नवागन्तुक विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए जेसीडी विद्यापीठ प्रबंधन की ओर से उनका स्वागत किया। डॉ.मलिक ने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ में चौधरी देवीलाल जी द्वारा देखे गए ‘हरियाणा को साक्षर व समृद्ध बनाने’ के स्वप्र को साकार रूप प्रदान करने का काम किया जाता है तथा पंडित भगवत दयाल शर्मा विश्वविद्यालय एवं डेन्टल काऊंसिल ऑफ इंडिया के शैक्षणिक लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए डेन्टल कॉलेज का समूचा स्टाफ प्रयासरत्त है। उन्होंने अपने संबोधन में नवागन्तुक सभी विद्यार्थियों को अपना आशीर्वाद एवं शुभकामनाएं प्रेषित की।

इस कार्यक्रम में अपने धन्यवादी अभिभाषण में डेन्टल कॉलेज के प्रबंधन एक्जिीक्यूटिव श्री सिद्धार्थ झींझा ने सभी अतिथियों का धन्यवाद करते हुए नवागन्तुक विद्यार्थियों का स्वागत करते हुए जेसीडी डेन्टल कॉलेज में प्रवेश पाने पर बधाई प्रेषित की। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य बेहतर डॉक्टर तैयार करना है, जिसमें हम सदैव खरा उतरने का प्रयास करते हैं तथा हमारे विद्यार्थियों द्वारा अपने बेहतर प्रदर्शन के माध्यम से अनेक बार यह साबित भी किया है। उन्होंने सभी विद्यार्थियों को अपनी मेहनत एवं लग्र से आगे बढऩे की प्रेरणा दी।

इस मौके पर निर्णायक मण्डल द्वारा बेहतर प्रदर्शन करने वाले छात्र अरविन्द्र कुमार को मि. तथा मोनिका को मिस. फ्रेशर चुना गया। वहीं छात्र सौरभ तंवर तथा दीपक कुमार शाह को मिस्टर टैलेंट तथा छात्रा नंदिनी, शिवानी एवं मुस्कान को मिस. टैलेंट घोषित किया गया, जिन्हें अंत में सम्मानित किया गया। कॉलेज प्राचार्य एवं अन्य द्वारा मुख्यातिथि को स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जेसीडी डेन्टल कॉलेज का समूचा स्टाफ एवं विद्यार्थीगणों के अलावा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।

Friendly Cricket Match – JCD Vidyapeeth, Sirsa

A friendly cricket match was organized in between JCD Dental College and Admin Block Cricket teams. In which Mr. Sudhanshu Gupta, Registrar of JCDV, Dr. Rajeshwar Chawla, Principal of Dental College and Dr. Jai Parkash, Principal of JCD Education College participated, Match tossed done in the presence of Dr. Arindam Sarkar, Captain of Dental-Eleven and Mr. Mahendra Pratap Singh, Captain of Admin-Eleven team. This cricket match was organized under the guidance of Mr. Amir Singh, Cricket Coach and JCDV Sports Officer. The admin-eleven team won the match by six wickets.

जेसीडी विद्यापीठ के क्रिकेट मैदान में विगत दिवस जेसीडी डेन्टल कॉलेज तथा एडम ब्लॉक की टीमों के मध्य फ्रेेंडली मैच का आयोजन किया गया, जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता एवं डेन्टल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.राजेश्वर चावला तथा जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश द्वारा डेन्टल-इलैवन के कप्तान डॉ.अरिन्दम सरकार एवं एडम-इलैवन के कप्तान मि.महेन्द्र प्रताप सिंह की उपस्थिति में टॉस करवाया गया। इस क्रिकेट मैच का आयोजन क्रिकेट कोच तथा जेसीडी विद्यापीठ के खेल अधिकारी मि.अमरीक सिंह के मार्गदर्शन में करवाया गया।

इस क्रिकेट मैच के दौरान टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय जेसीडी डेन्टल-इलैवन ने लेते हुए निर्धारित 15 ओवरों में ताबडतोड़ बल्लेबाजी करते हुए 96 रन बनाकर एडम-इलैवन के समक्ष जीत के लिए 97 रनों का लक्ष्य रखा। जिसमें डेन्टल-इलैवन के डॉ.सुमित ने अपना बेहतर प्रदर्शन करते हुए बल्लेबाजी में 24 गेंदों में सर्वाधिक 22 रनों का योगदान दिया वहीं उन्होंने गेंदबाजी में भी दो विकेट झटके। वहीं लक्ष्य का पीछा करने मैदान में उतरी एडम-इलैवन की टीम प्रारंभ में थोड़ा धीरे रन बना पाई परंतु बाद में बल्लेबाजी करने उतरे मोहर सिंह ने अपना दमखम दिखाते हुए 20 गेंदों में सर्वाधिक 30 रनों का योगदान देकर मैन ऑफ द मैच चुने गए। वहीं अंतिम ओवर में एडम-इलैवन की टीम ने 6 विकटों के माध्यम से जीत हासिल की।

इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि पधारे हुए श्री सुधांशु गुप्ता ने सभी खिलाडिय़ों की सराहना करते हुए कहा कि यह आयोजन दो विभागों के मध्यस्थ एक बेहतर सम्बन्ध स्थापित करने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि खेलों से जहां हमारा स्वास्थ्य बेहतर होता है वहीं इससे आपसी भाईचारा एवं सौहार्द की भावना जागृत होती है। उन्होंने कहा कि संस्थान के विभिन्न विभागों के मध्यस्थ इस प्रकार की आयोजन करवाए जाते हैं ताकि वे आपसी तालमेल स्थापित कर सकें। वहीं उन्होंने इस मौके पर सभी खिलाडिय़ों से आह्वान किया कि वे खेल को खेल की भावना से आपसी भाईचारा कायम करने के लिए खेलें।

इस अवसर पर जेसीडी डेन्टल कॉलेज के समस्त सीनियर्स एवं अन्य डॉक्टर्स के अलावा एडम ब्लॉक से मि.रविन्द्र झींझा, रचित गोयल, प्रमोद गोयल, अंकुश अरोड़ा, राजेश कुमार, संदीप दत्ता, कपिल शर्मा, संजय वर्मा, सत्यदीप सिसोदिया के अलावा अन्य अधिकारीगण एवं कर्मचारीगणों के अलावा विद्यार्थी भी मौजूद रहे तथा इस मैच का लुत्फ उठाया।

Two day talent hunt programme organized in JCDV

जेसीडी विद्यापीठ में दो दिवसीय प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन
दो दिवसीय प्रतियोगिता में विद्यार्थियों द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों में मनवाया गया अपनी प्रतिभा का लोहा

Two-day talent hunt programme organized in JCDV. More than 300 Students of all colleges participated and shown their talents. Various types of competitions like poster making, painting, cartooning, poetry, Debating Competition, Anchoring Contest, Speech Contest and the second stage Western Instrumental Single, Ghazal, Folk Instrumental Single, Light Vocal Indian-hymns and Words, Classical Instrumental Singles, One-Act-Play, Skit, Drama Staging, Mime, Mimicry, mono-acting, choreography, debate competition and anchoring and collage making competitions were organized.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित विभिन्न कॉलेज जैसे शिक्षण महाविद्यालय, बिजनेस मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग एवं फार्मेसी कॉलेज द्वारा संयुक्त रूप से दो दिवसीय प्रतियोगिताओं का आयोजन दो चरणों में किया गया, जिसमें पहले चरण में जेसीडी आईबीएम कॉलेज द्वारा कविता पाठ, वाद-विवाद प्रतियोगिता, एंकरिंग प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता तथा दूसरे चरण में वेस्टर्न वाद्य एकल, गज़ल, फॉक वाद्य एकल, लाईट वोकल इंडियन-भजन व शब्द, क्लासिकल इंस्ट्रमेंटल एकल, वन-एक्ट-प्ले, स्किट, नाटक मंचन, माईम, मिमिक्री, मोनोएक्टिंग, कोरियोग्राफी, वाद-विवाद प्रतियोगिता एवं एंकरिंग इत्यादि में 300 से अधिक प्रतिभागियों द्वारा हिस्सा लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया गया। इन कार्यक्रमों का शुभारंभ विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ. जयप्रकाश, डॉ. प्रदीप शर्मा स्नेही, डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.अनुपम्मा सेतिया, डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता, इंजी.आर.एस.बराड़ के अलावा अन्य अधिकारीगण एवं गणमान्य लोग भी मौजूद रहे तथा दीप प्रज्जवलित करके कार्यक्रम का आगाज़ किया गया।

इस अवसर पर विद्यार्थियों को अपने संबोधन में इंजी.आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने सर्वप्रथम विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत की गई विभिन्न प्रतिभाओं की सराहना करते हुए कहा कि चौ.देवीलाल जी ने स्वप्र देखा था कि सिरसा की भी अलग पहचान कायम हो सके, उनके इसी सपने को साकार करने के लिए हम सभी लगे हुए हैं। डॉ.मलिक ने कहा कि प्रतिभा के प्रदर्शन से जहां विद्यार्थियों ने अपनी बेहतरीनता प्रदर्शित की है, वहीं इनको प्रत्येक क्षेत्र जैसे खेल व शिक्षा में भी अच्छे परिणाम लाकर अपने संस्थान के साथ-साथ जिला का भी नाम रोशन करना चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे अपनी शिक्षा एवं अन्य गतिविधियों के प्रति निष्ठावान बनकर ईमानदारीपूर्वक मेहनत व लग्र से कार्य करें ताकि उनको सफलता हासिल हो सके। इंजी.चावला ने कहा कि अगर हम किसी भी गतिविधि में हिस्सा लेते हैं तो जरूरी नहीं की हमें पहली बार में ही सफलता हासिल हो सके सफल होने के लिए प्रत्येक को निरंतर प्रयास करना चाहिए तभी यह संभव हो सकता है।

जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न स्थानों पर आयोजित हुए प्रतिभा खोज कार्यक्रम में जेसीडी में स्थापित इंजीनियरिंग, डेन्टल, फार्मेसी, शिक्षण महाविद्यालय, आईबीएम, मैमोरियल एवं बहुतकनीकी संस्थानों के विद्यार्थियों द्वारा अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया गया। जिनके आधार पर शिक्षण महाविद्यालय में आयोजित प्रतियोगिताओं में निर्णायक मण्डल द्वारा सोलो वादन क्लासिकल में रमनप्रीत कौर ने प्रथम, नरेश कुमार ने द्वितीय एवं शुभम तथा युनिक ने तृतीय स्थान हासिल किया। वहीं फॉक इंस्टुमैंटल सोलो में जेसीडी मैमोरियल कॉल्ेज के परमजीत ने प्रथम नरेश ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। लाईट वाकल इंडियन भजन एवं शब्द प्रतियोगिता में फार्मेसी कॉलेज की सुपिन्द्र कौर प्रथम, मैमोरियल कॉलेज की अमन वर्मा एवं रमनप्रीत क्रमश: द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रही। उधर वेस्ट्र्न इंस्टुमैन्टल सोलो में मैमोरियल कॉलेज के नरेश ने प्रथम, शुभम ने द्वितीय तथा परमजीत सिंह ने तृतीय स्थान अर्जित किया। वहीं गजल प्रतियोगिता में अमन मिश्रा एवं शुभम मेहता ने प्रथम एवं द्वितीय तथा फार्मेसी कॉलेज की सुपिन्द्र व आईबीएम की अलिशा ने तृतीय स्थान पाया।

उधर इसी कड़ी में जेसीडी आईबीएम कॉलेज में आयोजित प्रतियोगिताओं में भाषण प्रतियोगिता में इंजीनियरिंग की बरखा प्रथम, मैमोरियल की मेधा द्वितीय तथा रूबल तृतीय स्थान पर रही। वहीं कविता पाठ में डेन्टल की महिमा प्रथम, मैमोरियल की शुभम द्वितीय तथा इंजीनियिरंग कॉलेज की यशपाल तृतीय स्थान पर रहा। उधर वाद-विवाद प्रतियोगिता में डेन्टल की रमनजीत एवं संदीप ने प्रथम, मैमोरियल की वैवभ व मेधा ने द्वितीय तथा आईबीएम की कोमल व भरत को तृतीय चुना गया। एंकरिंग में फार्मेसी का शुभम प्रथम, मैमेारियल कॉलेज की रूबल द्वितीय तथा इंजीनियरिंग की बरखा को तृतीय चुना गया।

वहीं फार्मेसी कॉलेज में आयोजित प्रतियोगिताओं में पोस्टर मेकिंग, ऑन द स्पॉट पेंटिंग, कार्टूनिंग तथा कोलाज मेकिंग प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ, जिसमें पोस्टर मेकिंग में विशेष कम्बोज ने प्रथम, प्रीति ने द्वितीय एवं मनीश ने तृतीय स्थान हासिल किया। उधर ऑन द स्पोट पेटिंग में विशेष कम्बोज को प्रथम, प्रीति ने द्वितीय एवं आसमा ने तृतीय स्थान अर्जित किया। कार्टूनिंग प्रतियोगिता में विशेष कम्बोज ने प्रथम, चाहत ने द्वितिय तथा रितविक ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कोलाज मेकिंग में विशेष कंबोज ने प्रथम, मनीष ने द्वितीय तथा कोमल ने तृतीय स्थान हासिल किया। इस अवसर पर सभी प्राचार्यगणों द्वारा भी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी विद्यार्थियों में प्रतिभा निहित होती है केवल आवश्यकता है तो उसे बाहर लाने की जिसे लिए जेसीडी विद्यापीठ सदैव तैयार रहता है।

इस अवसर पर संस्थान के अन्य कॉलेजों के प्राचार्यों सहित अनेक गणमान्य लोग एवं समस्त स्टाफ सदस्य व विद्यार्थीगण भी मौजूद रहे।

Fine Arts Competition on the eve of Teachers Day

Intercollege artistic competitions were organized at the JCD PG College of Education College, On this occasion, students demonstrated their talents in various competitions such as cartooning, poster making, on the spot petting, collage making, installation and rangoli making. Dr. Jai Prakash, Principal of the college, attended the program as the Chief Guest and added to the students’ enthusiasm.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय में इंटर कॉलेज कलात्मक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया, जिसमें विद्यार्थियों ने अपनी कला का बेहतरीन प्रदर्शन किया। इस मौके पर कार्यक्रम में कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने बतौर मुख्यातिथि उपस्थित होकर विद्यार्थियों का हौंसला बढ़ाया। इस अवसर पर विद्यार्थियों द्वारा कार्टूनिंग, पोस्टर मेकिंग, ऑन द स्पोट पेटिंग, कोलॉज मेकिंग, इंस्टालेशन तथा रंगोली मेकिंग आदि विभिन्न प्रतियोगिताओं में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय की सहायक प्राफेसर डॉ.कंवलजीत कौर के मार्गदर्शन में करवाया गया था।

इस मौके पर डॉ.जयप्रकाश ने अपने संबोधन में विद्यार्थियों का उत्साहवद्र्धन करते हुए कहा कि ऐसी प्रतियोगिताएं विद्यार्थियों को अपनी कला एवं साहित्य के प्रति रूचि को व्यक्त करने में काफी सहायक सिद्ध होती है, इसलिए सभी विद्यार्थियों को अधिक से अधिक संख्या में इनमें हिस्सा लेना चाहिए ताकि उनकी भीतरी प्रतिभा खुलकर प्रदर्शित हो सके। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी का जीवन सदैव कुछ नया सीखने के लिए होता है, इसलिए ऐसे कार्यक्रमों में भाग लेकर वह नवीनतम जानकारियों को हासिल कर सकते हैं। डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि आज अगर आपके पास एक भिन्न प्रतिभा है तो आपकी अलग पहचान बनती है, इसलिए सदैव प्रयासरत्त रहे कुछ नया करने के लिए तभी कामयाबी हासिल होगी। उन्होंने विद्यार्थियों द्वारा प्रदर्शित की गई विभिन्न प्रतिभाओं की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

इस अवसर पर निर्णायक मण्डल की भूमिका निभाते हुए डॉ.जी.डी.सिंगला, श्रीमती पंकज पंडित व डॉ.मधु ने पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में मैमोरियल कॉलेज के विशाल कम्बोज को प्रथम, डेन्टल कॉलेज की चाहत बांसल को द्वितीय घोषित किया गया। ऑन द स्पॉट पेटिंग में शिक्षण महाविद्यालय की उपासना रानी प्रथम, फार्मेसी कॉलेज के मनीष को द्वितीय चुना गया। वहीं कोलॉज मेकिंग में इंजीनियरिंग का साहिल प्रथम तथा सूरज द्वितीय स्थान पर रहा। रंगोली प्रतियोगिता में मैमोरियल कॉलेज का विशाल प्रथम, इंजीनियरिंग कॉलेज की सोनी कुमारी द्वितीय रही। इंस्टालेशन में आईबीएम कॉलेज की स्नेहा, श्रेया, विनीता, करीना ने प्रथम स्थान तथा कॉर्टूनिंग में शिक्षण महाविद्यालय की उपासना रानी प्रथम एवं मैमोरियल कॉलेज के विशाल कम्बोज ने द्वितीय स्थान हासिल किया।

कार्यक्रम के अंत में सभी विजेताओं तथा अव्वल रहने वाले विद्यार्थियों को प्राचार्य द्वारा पुरस्कार प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस मौके पर शिक्षण महाविद्यालय के स्टाफ सदस्यों के अलावा अन्य कॉलेज के स्टाफ सदस्य तथा विद्यार्थीगण भी उपस्थित रहे।

Celebration of Independence Day 2018 at JCDV

जेसीडी विद्यापीठ में 72वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर किया गया ध्वजारोहण
होनहार छात्राओं द्वारा फहराया गया राष्ट्रीय ध्वज, सभी ने धूमधाम से मनाया आजादी का पर्व

72nd Independence Day was celebrated at JCD Vidyapeeth by hoisting the flag In this program, Principal of JCD Teaching College, Dr. Jai Prakash and Registrar of JCD Vidyapeeth, Shri Sudhanshu Gupta were present as the chief guest. The program was flagged off by the promising students of the JCD Vidyapeeth.

जेसीडी विद्यापीठ में 72वें स्वतन्त्रता दिवस को ध्वजारोहण करके मनाया गया। इस कार्यक्रम में जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश एवं जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए। वहीं इस कार्यक्रम का ध्वजारोहण जेसीडी विद्यापीठ की होनहार छात्राओं द्वारा किया गया। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता, डेन्टल के वाईस प्रिंसीपल डॉ.अरिंदम सरकार के अलावा अन्य अधिकारीगण एवं गणमान्य लोगों के अलावा सभी सफाई कर्मचारी, सिक्योरिटी गॉर्ड, मॉली तथा छात्रावास के छात्र-छात्राओं के अलावा संस्थान में रहने वाले सभी कर्मचारियों-अधिकारियों द्वारा तिरंगे को सैल्यूट किया गया तथा इस पावन पर्व को मनाया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन जेसीडी विद्यापीठ के स्पोर्ट्स अधिकारी अमरीक सिंह गिल एवं मैनेजर लोजिस्टिक महेन्द्र प्रताप सिंह की देखरेख में किया गया।

इस मौके पर डॉ.जयप्रकाश एवं श्री सुधांशु गुप्ता ने सर्वप्रथम सभी को 72वें स्वतन्त्रता दिवस की बधाई देते हुए कहा कि हमें यह आजादी लंबे संघर्ष के पश्चात् प्राप्त हुई है तथा इसमें हमारे अनेक शहीदों ने बलिदान दिया है। इस मौके पर महात्मा गांधी, शहीद भगत सिंह, मंगल पांडें, रानी लक्ष्मीबाई, सुभाष चंद्र बोस, सरोजिनी नायडू तथा ऐसे ही 100 से अधिक शहीदों को श्रद्धांजलि भी प्रदान की गई। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि यह आपका सौभाग्य है कि आप एक ऐसे संस्थान में शिक्षा हासिल कर रहे है, जो चौ.देवीलाल जी के नाम से है जो स्वयं एक स्वतंत्रता सेनानी थे तथा जिन्होंने आजादी की लड़ाई लड़ी और अंग्रेजों से लोहा लिया तथा अनेक बार जेल भी गए। उन्होंने कहा कि चौ.देवीलाल जी का सपना था कि वे सिरसा जैसे शिक्षा में पिछड़े इलाके में शिक्षा की अलख जगा सकें तथा इसीलिए उन्होंने सिरसा में चौ.देवीलाल विश्वविद्यालय एवं जेसीडी विद्यापीठ की स्थापना करवाई ताकि यहां के विद्यार्थी राष्ट्र स्तर पर अपनी पहचान कायम कर सकें।

डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि आपका कर्म और धर्म बेहतर से बेहतर शिक्षा हासिल करना है, इसलिए आप इसमें लग जाएं और कड़ी मेहनत एवं ईमानदारी के साथ इसे पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि किसी भी काम में अगर कर्तव्यनिष्ठा, ईमानदारी, कर्मठता, लगन, सेवाभाव, सौहार्द इत्यादि गुणों को ध्यान में रखते हुए किया जाए तो उसमें सफलता अवश्य मिलती है। यह हम सभी का सौभाग्य है कि आज हम लोग एक साथ मिलकर अपनी स्वतन्त्रता का यह महान दिवस मना रहे हैं। उन्होंने इस कार्यक्रम के सफलतम आयोजन के लिए सभी अधिकारियों, कर्मचारियों तथा विद्यार्थियों व अन्य का आभार प्रकट किया। डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि बेटियों द्वारा ध्वजारोहण के कारण अनेक बेटियों को आगे बढऩे की प्रेरणा हासिल होगा जो कि एक सराहनीय कार्य होगा।

इस मौके पर कार्यक्रम का मंच संचालन जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्रोफेसर डॉ.राजेन्द्र कुमार द्वारा किया गया।

Mehndi competition organized on the occasion of Teej festival

जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में तीज पर्व पर इंटर कॉलेज मेहंदी प्रतियोगिता का आयोजन
हरियाली की शुरूआत का त्यौहार है तीज पर्व – डॉ.जयप्रकाश

An Inter-College Mehndi Competition held under the auspices of the College Women’s Cell at the holy festival of Hariyali Teej at the JCD Education College. Students and Staff members participate and performed well in the program.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित शिक्षण महाविद्यालय में हरियाली तीज के पावन पर्व पर कॉलेज की महिला सैल के तत्वावधान में इंटर कॉलेज मेहंदी प्रतियोगिता का आयोजन करवाया गया, जिसमें छात्राओं के अलावा स्टाफ सदस्यों एवं छात्रों द्वारा भी हिस्सा लेकर अपनी कला का बेहतर प्रदर्शन करते हुए अपनी सहयोगियों को सुंदर-सुंदर मेहंदी रचाई गई। इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने सभी को इस पावन त्यौहार की बधाई प्रदान की तथा निरीक्षण हेतु कार्यक्रम में उपस्थित हुए। इस कार्यक्रम का आयोजन महिला सैल की इंचार्ज श्रीमती निशा द्वारा किया गया। उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता में जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित अन्य कॉलेजों के विद्यार्थियों द्वारा भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया गया।

इस मौके पर विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि यूं तो भारत को त्यौहारों का देश कहा जाता है तथा इसमें प्रत्येक मौसम अपने साथ अनेक त्यौहारों को भी लेकर आता है,उसी प्रकार सावन के महीने में खास है हरियाली तीज,जैसा कि इस त्यौहार का नाम से ही जाहिर है कि इस मौसम में हरियाली की शुरूआत होती है। जब प्रकृति अपने पूरे शबाब में होती है तथा बरसात का मौसम अपने चरम पर होता है तथा प्रकृति में सभी ओर हरियाली होती है तो इस त्यौहार की खूबसूरती को दुगुना कर देती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा राज्य में तीज के पर्व का बहुत ही महत्व है तथा इसमें हरियाणवीं संस्कृति की झलक दिखलाई देती है।

इस प्रतियोगिता में निर्णायक मण्डल की भूमिका अदा करते हुए श्रीमती सुषमा हुड्डा एवं श्रीमती पुष्पा देवी द्वारा बेहतर कला का प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों में से छात्र रजत ने प्रथम तथा मैमोरियल कॉलेज की छात्रा आस्था जैन ने द्वितीय तथा जेसीडी डेन्टल कॉलेज की छात्रा नेहा बंसल ने तृतीय घोषित किया गया।

वहीं इस हरियाली तीज पर्व की शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने समस्त विद्यापीठ के विद्यार्थियों एवं स्टॉफ सदस्यों को बधाई प्रेषित करते हुए कहा कि हमारा उद्देश्य हमारे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ भारतीय संस्कृति में निहित तीज-त्यौहारों से अवगत करवाते हुए उनका महत्व बताना भी है, इसलिए समय-समय पर संस्थान में प्रत्येक त्यौहार को उत्सव की भांति मनाया जाता है ताकि हमारे विद्यार्थी हमारी संस्कृति में निहित संस्कारों को भी स्मरण रख सकें।

इस कार्यक्रम के समापन अवसर पर कॉलेज के प्राचार्य एवं निर्णायक मण्डल द्वारा विजेता रहने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कार प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस मौके पर कॉलेज का समूचा स्टॉफ, विद्यार्थीगणों सहित अनेक अन्य गणमान्य लोग तथा विभिन्न कॉलेजों के विद्यार्थीगण भी उपस्थित रहे।

New Session Started in JCD Vidyapeeth by Hawan Ceremony

The launch of New Session of JCD Vidyapeeth started with Mantra and Hawan. Dr. R.R. Malik, and Eg. Akash Chawla called students to uphold the disciplined and cultured environment prevailing in the Vidyapeeth.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित मैमोरियल कॉलेज सहित अन्य कॉलेजों के नए सत्र का शुभारंभ हवन-यज्ञ के साथ हुआ, जिसमें जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने मुख्य यजमान की भूमिका निभाते हुए बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए। वहीं इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.प्रदीप स्नेही द्वारा की गई। इस अवसर पर विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता सहित सभी महाविद्यालयों के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश, डॉ.राजेश्वर चावला, डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता, डॉ.कुलदीप सिंह, इंजी.आर.एस.बराड़ व श्रीमती अनुपमा सेतिया के अलावा अन्य अधिकारीगण तथा स्टाफ सदस्य एवं कॉलेज के सभी विद्यार्थियों के अलावा अन्य गणमान्य अतिथियों ने भी हवन-यज्ञ में अपने कर-कमलों द्वारा आहुति डालकर शुभफल की कामना की।

इस मौके पर इंजी.आकाश चावला एवं डॉ.आर.आर.मलिक ने सभी को अपने संबोधन में कहा कि चौ.देवीलाल जी ने यह सपना देखा था कि शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़े हुए सिरसा को अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित संस्थान प्रदान किया जाए तथा इस जिले के विद्यार्थियों को उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा हासिल करने के लिए शहर से बाहर न जाना पड़े,जिसे पूर्ण करने में जेसीडी विद्यापीठ सदैव अग्रणी रहेगा। उन्होंने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ के सभी संस्थान अनुशासित,संस्कारित एवं गुणवत्तायुक्त शिक्षा के लिए वचनबद्ध हैं और इसमें वे खरे भी उतर रहे हैं तथा हवन-यज्ञ भी उन्हीं संस्कारों में निहित एक परम्परा है,जिससे किसी भी कार्य का शुभारंभ सदैव शुभ फलदायी साबित होता है। उन्होंने सभी नए विद्यार्थियों से यह आह्वान किया कि जिस प्रकार विद्यापीठ में पूर्ववत् अनुशासन,संस्कारित शिक्षा एवं स्वच्छ वातावरण कायम है उसे आप लोग भी बखूबी कायम रखेंगे और नियमों का पालन करते हुए नियमित कक्षाएं लगाएंगे ताकि आपको बेहतर शिक्षा प्राप्ति में कोई परेशानी ना हो। उन्होंने कहा कि विद्यापीठ सदैव बेहतर शिक्षा,खेल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बेहतर प्रदर्शन करता आया है तथा इसमें आप भी अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें ताकि आपका,आपके संस्थान का तथा जिला का नाम रोशन हो सके। डॉ.आर.आर.मलिक ने कहा कि हवन-यज्ञ का केवल संस्कारों से ही नहीं अपितु साईंस से भी सम्बन्ध है तथा इस हवन में डाली जाने वाली सामग्री में अनेक औषधियां समाहित होती है जो वातावरण को पवित्र एवं शुद्ध बनाने में सहायक होती है इसलिए भी हवन को पवित्र तथा शुभफलदायी माना गया है।

इस मौके पर अपने संबोधन में डॉ.प्रदीप शर्मा स्नेही ने कहा कि किसी भी कार्य का प्रारंभ अगर हवन-यज्ञ से करने की पौराणिक परम्परा के अनुसार ही आज कॉलेज द्वारा पहला पड़ाव पार कर लिया गया है तथा आज से विद्यार्थियों की सुचारू कक्षाएं प्रारंभ हो गई हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणवत्ता ही हमारा मुख्य ध्येय है तथा हम केवल विद्यार्थियों को डिग्री ही नहीं प्रदान करते अपितु उनको आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के साथ समय-समय पर अन्य प्रशिक्षण भी प्रदान किए जाते हैं ताकि उनका सर्वांगीण विकास हो सके।

इस मौके पर सभी नए विद्यार्थीयों सहित अन्य महाविद्यालयों के प्राचार्यों, जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार सहित अनेक अधिकारियों व स्टाफ सदस्यों तथा अतिथियों के साथ हवन-यज्ञ में आहुति डालकर मंगलमय भविष्य एवं शैक्षिक प्रगति की कामना की।

Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On Google PlusVisit Us On PinterestVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram