Or 01666-238105
Mon - Sat: 9:00AM - 5:00PM All Holidays and Saturday - Open

Tree Plantation and Hawan ceremony for new Session Starting – JCD Memorial College, Sirsa

मंत्रोच्चारण तथा पौधारोपण उत्सव के साथ हुआ जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के सत्र का शुभारंभ
पर्यावरण को बचाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को लगाना चाहिए एक पेड़ – राम कुमार जांगड़ा

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित मैमोरियल कॉलेज के नए सत्र का शुभारंभ बुधवार को हवन-यज्ञ एवं पौधारोपण उत्सव के साथ हुआ, जिसमें सिरसा के जिला वन अधिकारी रामकुमार जांगड़ा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की तथा जेसीडी विद्यापीठ की प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मुख्य यजमान की भूमिका अदा की। इस अवसर पर जेसीडी मैमोरियल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश सहित विद्यापीठ के अन्य महाविद्यालयों के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह, डॉ.दिनेश गुप्ता, डॉ.राजेन्द्र कुमार, डॉ.अरिन्दम सरकार, डॉ.राजेश्वर चावला, डॉ.अनुपमा सेतिया सहित कॉलेज के सभी विद्यार्थियों सहित अनेक गणमान्य अतिथियों ने भी हवन में आहुति डाली। वहीं इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ द्वारा 1000 पौधे लगाने के लक्ष्य को प्रारंभ करते हुए पौधारोपण का भी शुभारंभ किया गया, जिसके तहत कैम्पस में विभिन्न स्थानों पर पौधे लगाए गए।

जेसीडी विद्यापीठ प्रबंध निदेशक डॉ.शमीम शर्मा ने समस्त नवांगन्तुक विद्यार्थियों को अपनी शुभकामनाएं एवं बधाई प्रेषित करते हुए यह विश्वास दिलाया कि संस्थान में हरसंभव सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास करेंगे ताकि आप सभी बेहतर शिक्षा हासिल कर सकें। उन्होंने कहा कि हमारा ध्येय है कि प्रत्येक विद्यार्थी के सर्वांगीण विकास हेतु प्रत्येक गतिविधियों को सुचारू रूप से चला सकें इसके लिए सभी विद्यार्थियों का सहयोग भी अनिवार्य है, इसलिए आप नियमित कॉलेज में आएं तथा उच्च एवं गुणवत्तायुक्त शिक्षा हासिल करने में अपना अमूल्य योगदान प्रदान करें। डॉ.शर्मा ने कहा कि चौ.देवीलाल जी का स्वप्र था कि शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़े हुए सिरसा को अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित संस्थान प्रदान किया जाए तथा इस जिले के विद्यार्थियों को उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा हासिल करने के लिए शहर से बाहर न जाना पड़े, जिसे पूर्ण करने में जेसीडी विद्यापीठ सदैव अग्रणी रहेगा। उन्होंने कहा कि जेसीडी विद्यापीठ के सभी संस्थान अनुशासित, संस्कारित एवं गुणवत्तायुक्त शिक्षा के लिए वचनबद्ध हैं और इसमें वे खरे भी उतर रहे हैं तथा हवन-यज्ञ एक धार्मिक अनुष्ठान है और इसमें बहुत ही सांस्कृतिक उद्देश्य छिपे हुए हैं जो हमारे संस्कार, रिश्तों, भावनाओं और सम्बन्धों को दर्शाता है। वहीं उन्होंने इस मौके पर जिला वन अधिकारी द्वारा 1000 पौधे संस्थान को भेंट करने के लिए उनका आभार प्रकट किया।

बतौर मुख्यातिथि अपने संबोधन में राम कुमार जांगड़ा विद्यार्थियों को नव सत्र प्रारंभ की बधाई देते हुए कहा कि सभी को एक-एक पेड़ अवश्य लगाकर उसकी देखभाल करनी चाहिए ताकि पर्यावरण को बचाया जा सकें। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा चलाई गई मुहिम ‘जल शक्ति अभियान’ के तहत आज जेसीडी ने एक बेहतर पहल की है जो काफी सराहनीय है जिसके तहत 1000 पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए हमें अधिक से अधिक पेड़ लगाने होंगे तथा उन्हें बड़ा होने तक उनकी बेहतर देखभाल भी करनी होगी तभी यह संभव हो पाएगा तथा इसमें केवल एक इंसान कुछ नहीं कर सकता सभी को मिलकर सहयोग करना होगा।

अपने धन्यवादी अभिभाषण में कॉलेज के प्राचार्य डॉ.जयप्रकाश ने कहा कि संस्थान में व्याप्त अत्याधुनिक प्रयोगशालाएं, वाई-फाई इंटरनेट सुविधा, स्वच्छ पेयजल सुविधा, ई-लाइब्रेरी, खुले एवं हवादार कक्षा-कक्ष, प्रशिक्षित स्टाफ सदस्य एवं हरा-भरा प्रांगण आदि सुविधाओं के कारण ही यह विद्यार्थियों की पहली पसंद बन चुका है क्योंकि शिक्षा में गुणवत्ता ही हमारा मुख्य ध्येय है। उन्होंने कहा कि पौधारोपण की मुहिम में सभी विद्यार्थी एवं स्टाफ सदस्य पूर्ण सहयोग करें ताकि यह सफल हो सकें। उन्होंने कहा कि हवन को धार्मिक एवं वैज्ञानिक दोनों कारणों से महत्वपूर्ण माना जाता है इसीलिए आज इस शुभकर्म से शैक्षणिक सत्र का शुभारंभ भी शुभ फलदायी साबित होगा।

इस मौके पर सभी नए विद्यार्थीयों सहित अन्य महाविद्यालयों के प्राचार्यों, जेसीडी विद्यापीठ के अधिकारीगण सहित कॉलेज के स्टाफ सदस्यों तथा अतिथियों के साथ हवन-यज्ञ में आहुति डालकर मंगलमय भविष्य एवं शैक्षिक प्रगति की कामना की गई।