#EXTENSIONLECTURE

Extension Lecture – JCD Engineering College, Sirsa

जेसीडी इंजी.कॉलेज में ‘भारतीय सेना में कैरियर की संभावनाएं’ विषय पर विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन
भारतीय सेना से रिटायर्ड कर्नल दीप डागर ने विद्यार्थियों को सेना में जाने के लिए मार्गदर्शित किया

District Sainik Board’s retired Indian Army Colonel Deep Dagar provided the information to the students and attended the program as the main speaker. Dr. Dinesh Kumar Gupta. The principal of the College, chaired the program.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित इंजीनियरिंग कॉलेज के विद्यार्थियों को भारतीय सेना में अपनी सेवाएं प्रदान करने हेतु मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए एक विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें जिला सैनिक बोर्ड के भारतीय सेना से रिटायर्ड कर्नल दीप डागर मुख्य वक्ता के रूप में शिरकत करके विद्यार्थियों को जानकारी उपलब्ध करवाई गई। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता द्वारा की गई। इस कार्यक्रम का आयोजन मैकेनिकल विभागाध्यक्ष इंजी.दिनेश शर्मा की देखरेख में किया गया। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के रजिस्ट्रार श्री सुधांशु गुप्ता, कॉलेज के डिप्टी रजिस्ट्रार श्री एस.एल.सैनी के अलावा अन्य विभागाध्यक्ष एवं गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे। इस विशेषज्ञ व्याख्यान कार्यक्रम में सभी विभागों से 200 से अधिक विद्यार्थियों ने हिस्सा लेकर महत्वपूर्ण जानकारी हासिल की।

सर्वप्रथम इंजी.कॉलेज के प्राचार्य डॉ.दिनेश कुमार गुप्ता ने मुख्यातिथि एवं अन्य वक्ताओं का स्वागत करते हुए उनकी उपलब्धियों से विद्यार्थियों को अवगत करवाया। वहीं उन्होंने कहा कि वे सदैव छात्रों को बेहतरीन मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए समय-समय पर ऐसे आयोजन करवाते रहते हैं ताकि विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास हो सके। डॉ. गुप्ता ने कहा कि हमारा उद्देश्य विद्यार्थियों को शिक्षा के पश्चात् बेहतर रोजगार मुहैया करवाना तथा सफलता प्रदान करना है, जिसके लिए हम सभी कृतसंकल्प है। उन्होंने कहा कि हमारा कार्य विद्यार्थियों को बेहतर रास्ता दिखाना है जिस पर चलकर वह कामयाबी हासिल कर सकते हैं, उसे चुनना या न चुनना यह तो विद्यार्थियों पर ही निर्भर करता है। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में भी हम ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करके विशेषज्ञों को आपसे मुखातिब करते रहेंगे ताकि आपको नवीनतम जानकारी हासिल हो सके और आप बेहतर विकल्प चयन करके सफलता हासिल कर सकें।

इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में अपने संबोधन में कर्नल दीप डागर ने सर्वप्रथम इस कार्यक्रम के माध्यम से उन्हें विद्यार्थियों से रूबरू करवाने के लिए जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला, शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक के अलावा अन्य अधिकारियों का भी आभार प्रकट करते हुए कहा कि भारतीय सेना में रोजगार की अपार संभावनाएं है तथा कोई भी विद्यार्थी ईमानदारीपूर्वक किसी भी स्तर पर अपनी प्रतिभा के बल पर इसका हिस्सा बनकर देशहित व देश सेवा में अपना अमूल्य योगदान प्रदान कर सकता है। उन्होंने कहा कि हमारी सेना अपने जवानों के देशप्रेम, शक्ति एवं अदम्य साहस के दम पर ही सम्पूर्ण विश्व में प्रसिद्ध है और देश की युवा पीढ़ी का पूरे दिल से स्वागत करती है। श्री डागर ने कहा कि विद्यार्थी पहले अपना लक्ष्य निर्धारण करें तथा उस पर ध्यान केन्द्रित करते हुए पूरी निष्ठा व ईमानदारी से उसे प्राप्त करने के लिए प्रयास करें तो वह अवश्य ही सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

इस अवसर पर इंजीनियरिंग कॉलेज के विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्षों के अलावा समस्त विद्यार्थीगण व स्टॉफ सदस्य उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम के अंत में मुख्य वक्ता को कॉलेज प्राचार्य एवं आयोजकों द्वारा स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया गया।

Extension Lecture for BBA and MBA Students – JCD IBM College, Sirsa

जेसीडी बिजनेस मैनेजमेंट कॉलेज द्वारा विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित
भारतीय मूल्य एवं व्यक्तित्व विकास पर आधारित नवीन ज्ञान प्रदान किया गया इस व्याख्यान में

Past Day Expert Lecture was organized at Business Management College, JCD Vidyapeeth, in which Dr. Harbhjan Bansal of Guru Jambheshwar University, Hisar #GJUHISAR presented detailed information while giving his lecture. On this occasion, Dr. R. R. Malik, Educational Director of JCD Vidyapeeth attended especially. At the same time, it was chaired by the college’s Principal Dr. Kuldeep Singh.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित बिजनेस मैनेजमेंट कॉलेज में विगत दिवस विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में गुरू जम्भेश्वर विश्वविद्यालय हिसार के डॉ.हरभजन बांसल ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक विशेष रूप से उपस्थित हुए। वहीं इसकी अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह द्वारा की गई।

सर्वप्रथम मुख्य वक्ता एवं अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह ने बताया कि जेसीडी विद्यापीठ में समय-समय पर ऐसे आयोजनों को करवाया जाता है ताकि विशेषज्ञों के माध्यम से विद्यार्थियों को बेहतर ज्ञान प्रदान करवाया जा सके तथा उनको अपडेट रखा जा सके। उन्होंने कहा कि अलग-अलग विश्वविद्यालयों से विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों को हमारे संस्थान में बुलाकर विद्यार्थियों को बौद्धिक स्तर को बढ़ाने का प्रयास किया जाता है तथा यह इसमें काफी सहायक सिद्ध होते हैं। वहीं इन कार्यक्रमों से विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का भी विकास होता है। डॉ.सिंह ने कहा कि यहां हम भविष्य के प्रबंधक तैयार कर रहे हैं जो न केवल शैक्षणिक ज्ञान में अग्रणी होंगे बल्कि अनुभवनात्मक ज्ञान से भी परिपूर्ण होंगे।

इस विशेषज्ञ व्याख्यान में मुख्य वक्ता के तौर पर विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ.हरभजन बांसल ने संस्थान में व्याप्त हरियाली तथा शांत एवं अनुशासित माहौल की भूरि-भूरि प्रशंसा की। वहीं उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे भले ही पाश्चात्य सभ्यता को अपनाएं परंतु सदा याद रखे कि उनकी पौराणिक भारतीय संस्कृति सबसे बेहतर एवं महान है इसलिए उसे किसी के आगे झूकने न दें। उन्होंने अनेक उदाहरणों के माध्यम से यह साबित भी किया कि वर्तमान के बदले हमारी पौराणिक संस्कृति किस प्रकार महान थी। डॉ.बांसल ने अपने संबोधन में हनुमान जी एवं श्री कृष्ण जी द्वारा समाजहित तथा प्रकृति के लिए किए गए कार्यों का व्याख्यान करते हुए कहा कि आप भी भलाई के रास्ते पर अग्रसर हो। उन्होंने कहा कि शिक्षा केवल किताबों को पढ़कर डिग्रियां हासिल कर लेना नहीं बल्कि यह एक व्यावहारिक ज्ञान है जो इंसान को समाज, परिवार तथा हमारे कर्तव्य के प्रति सचेत करती है तथा जो ज्ञान हमें सभ्य इंसान नहीं बना सकता वह हमारे किसी काम का नहीं है।

इस अवसर पर जेसीडी के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने कहा कि वर्तमान की युवा पीढ़ी हमारी पौराणिक परंपरा तथा संस्कृति को भूलती जा रही है, जो कि महान है। उन्होंने इस मौके पर शिक्षकों से आह्वान किया कि अपने विद्यार्थियों को नैतिक, सामाजिक एवं मानवतावादी गुणों की शिक्षा प्रदान करें ताकि वो सामाजिक प्राणी बनकर देशहित में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकें।

इस मौके पर डॉ.आर.आर.मलिक एवं डॉ.कुलदीप सिंह ने मुख्य वक्ता को जेसीडी विद्यापीठ की ओर से स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया। इस अवसर पर जेसीडी आईबीएम के स्टाफ सदस्य के अलावा बीबीए तथा एमबीए के विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

Extension Lecture held in JCD IBM College, Sirsa

जेसीडी आईबीएम कॉलेज में विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित
जीजेयू के प्रोफेसर ने प्रदान की विद्यार्थियों को प्रबंधन में आए बदलावों तथा केस स्टडीज सम्बन्धी जानकारी

The expert lecture was organized at Business Management College, established at JCD Vidyapeeth #JCDIBM, in which Dr. NK Bishnoi, Professor of Guru Jambhaveshwar University, Hisar, gave detailed information while presenting his lecture. On this occasion, Dr. Kuldeep Singh, Principal JCD IBM College, welcomed the Chief Speaker and said that such programs are organized from time to time so that better knowledge can be provided to the students.

Dr. N.K. Bishnoi said that due to the various problems of management, companies had changed their style of work, which proves to be very profitable. Dr. Bishnoi described information about the most famous case study of General Motors changes and presented many other examples of evolution in management.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित बिजनेस मैनेजमेंट कॉलेज में विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में गुरू जम्भेश्वर विश्वविद्यालय हिसार के प्रोफेसर डॉ.एन.के.बिश्रोई ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। इस मौके पर जेसीडी विद्यापीठ के शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक विशेष रूप से उपस्थित हुए। वहीं इसकी अध्यक्षता कॉलेज के प्राचार्य डॉ.कुलदीप सिंह द्वारा की गई। कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ.एन.के.बिश्रोई, डॉ.आर.आर.मलिक एवं डॉ.कुलदीप सिंह एवं अन्य गणमान्य लोगों द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया।

इस मौके पर सर्वप्रथम डॉ.कुलदीप सिंह ने अपने संबोधन में मुख्य वक्ता का स्वागत करते हुए बताया कि जेसीडी विद्यापीठ में समय-समय पर ऐसे आयोजनों को करवाया जाता है ताकि विशेषज्ञों के माध्यम से विद्यार्थियों को बेहतर ज्ञान प्रदान किया जा सके तथा नवीन जानकारियां उपलबध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के विशेषज्ञ व्याख्यान जहां विद्यार्थियों को पाठ्यक्रम से हटकर व्यापार सम्बन्धी जानकारी देते हैं वहीं यह उन्हें उनके क्षेत्र में अग्रसर होने के लिए प्रेरित भी करते हैं। उन्होंने डॉ.बिश्रोई का इस व्याख्यान हेतु पधारने पर हार्दिक आभार प्रकट करते हुए उनका अभिनंदन किया।

इस अवसर पर अपने वक्तव्य में डॉ.एन.के.बिश्रोई ने इस कार्यक्रम में उपस्थित जेसीडी आईबीएम के बीबीए तथा एमबीए के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि यह आपका सौभाग्य है कि आपको एक हरा-भरा तथा बेहतर संस्थान में शिक्षण तथा शिक्षा अर्जित करने का अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने अपने व्याख्यान में वर्तमान में नवीन पद्धति के माध्यम से मैनेजमेंट में आए बदलाव से भी उपस्थितजनों को अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि प्रबंधन की विभिन्न समस्याओं से अवगत होकर विभिन्न कंपनियों ने अपनी कार्यशैली में बदलाव किया है, जो काफी लाभदायक साबित होता है। डॉ.बिश्रोई ने केस स्टडी के बारे में बताते हुए जनरल मोटर्स बहुचर्चित केस स्टडी के बारे में जानकारी प्रदान की तथा प्रबंधन में बदलाव के अनेक उदाहरण भी प्रस्तुत किए।

इस मौके पर डॉ.आर.आर.मलिक एवं डॉ. कुलदीप सिंह ने डॉ.एन.के.बिश्रोई को जेसीडी विद्यापीठ की ओर से स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया। इस अवसर पर जेसीडी आईबीएम के स्टाफ सदस्य के अलावा बीबीए तथा एमबीए के विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

Extension Lecture held in JCDM College of Pharmacy on the occasion of World Pharmacist Day

जेसीडी फार्मेसी कॉलेज में विश्व फार्मासिस्ट दिवस पर एक दिवसीय विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित
वर्तमान में फार्मेसी के क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाए, विद्यार्थी रहेंं अपडेट :राजीव शर्मा

On the occasion of World, Pharmacist Day, Mr. Rajiv Sharma, Director, Corporate, Skat Idel Famecia Limited, Chandigarh shared his experience as a special guest at the JCDM Pharmacy College, Sirsa. On this occasion, Management Coordinator of JCDV, Sirsa, Dr. Akash Chawla and Academic Director Dr.R.R.Malik and the program were also present. The program was presided over by Dr. Anupama Setia, the Principal of JCMD Pharmacy College. In this program, principals, officers & other staff of various colleges of JCD Vidyapeeth were also present.

Dr. R.R. Malik said that the student should keep in mind that his use of medicines in his or her home or around him should be used only after examining his quality and expiry date.

Dr. Rajiv Shrma also focused on several important points of the pharma industry, saying that within two decades the pharmacy has become amazing in the field in the education sector.

This special lecture was conducted under the supervision of Dr. Pradip Kamboja of JCDM Pharmacy College.

जेसीडी विद्यापीठ में स्थापित फार्मेसी कॉलेज में विश्व फार्मासिस्ट दिवस के उपलक्ष्य में स्काट इडील फामेशिया लिमिटेड चंडीगढ़ के निदेशक कापोरेट श्री राजीव शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित होकर कार्यक्रम में अपना अनुभव सांझा किया। वहीं इस कार्यक्रम में विशेष रूप से जेसीडी विद्यापीठ के प्रबंधन समन्वयक इंजी.आकाश चावला एवं शैक्षणिक निदेशक डॉ.आर.आर.मलिक ने शिरकत की तथा इस कार्यक्रम की अध्यक्षता फार्मेसी कॉलेज की प्राचार्या डॉ.अनुपमा सेतिया द्वारा की गई। इस कार्यक्रम में जेसीडी विद्यापीठ के विभिन्न कॉलेजों के प्राचार्यगण, अधिकारीगण एवं अन्य लोग भी मौजूद रहे।

इस अवसर पर सर्वप्रथम डॉ.आर.आर.मलिक ने मुख्यातिथि एवं अन्य वक्ताओं का स्वागत करते हुए उनकी उपलब्धियों से विद्यार्थियों एवं स्टाफ सदस्यों को अवगत करवाया। वहीं उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आज की पीढ़ी बिना दवा स्वस्थ नहीं है क्योंकि आज पौराणिक काल का खानपान एवं व्यवहार परिवर्तित हो गए हैं, जिसके चलते रोग बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी इस बात को ध्यान रखें कि उनके घरों में या उनके आसपास कहीं दवा का उपयोग उसकी गुणवत्ता एवं एक्सपायरी डेट की जांच करने उपरांत ही उसका प्रयोग हो। यह जरूरी है कि विद्यार्थी अपनी पढ़ाई के साथ-साथ ही नवीनतम तकनीकों का ज्ञान प्राप्त कर लें ताकि उन्हें ऐसी परेशानियों का सामना ना करना पड़े। डॉ.मलिक ने कहा कि हमारा उद्देश्य विद्यार्थियों को शिक्षा के पश्चात् बेहतर रोजगार मुहैया करवाना तथा सफलता प्रदान करना है, जिसके लिए हम सभी कृतसंकल्प है। उन्होंने अपने संबोधन में सभी अतिथियों एवं वक्ताओं का महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने के लिए आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में भी हम ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करके विशेषज्ञों को समस्त विद्यार्थीगण से मुखातिब करते रहेंगे ताकि उन्हें नवीनतम जानकारी हासिल हो सके और वह बेहतर विकल्प चयन करके सफलता हासिल कर सकें।

इस सेमिनार में मुख्यातिथि एवं वक्ता के रूप में श्री राजीव शर्मा ने भविष्य में दवाओं के विकास एवं वितरण का बदलता परिदृश्य विषय के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। उन्होंने फार्मा इंडस्ट्री के अनेक महत्वपूर्ण बिंदुओं पर भी ध्यान केन्द्रित करते हुए बताया कि दो दशक में ही फार्मेसी शिक्षा क्षेत्र में आश्चर्यजनक बन गया है। वहीं उन्होंने बताया कि किसी भी दवा के प्रयोग से पूर्व उसके इस्तेमाल की अवधि अवश्य जांच करें तथा उससे होने वाले हानि-लाभ की भी जानकारी हासिल करें तथा हो सके तो बेहतर चिकित्सक से सलाह करने उपरांत ही किसी दवा का उपयोग करें ताकि आपको उस रोग से निजात मिल सके। उन्होंने कहा कि वर्तमान में फार्मेसी का क्षेत्र रोजगार के लिए एक बेहतर विकल्प बन रहा है तथा प्रत्येक युवा इस ओर आकर्षित हो रहा है।

इस विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन जेसीडी फार्मेसी कॉलेज के डॉ.प्रदीप कम्बोज की देखरेख में किया गया। इस कार्यक्रम के अंत में मुख्यातिथि एवं अन्य को स्मृति चिह्न प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस मौके पर जेसीडी फार्मेसी कॉलेज के स्टाफ सदस्यो के अलावा समस्त विद्यार्थीगण एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Visit Us On TwitterVisit Us On FacebookVisit Us On Google PlusVisit Us On PinterestVisit Us On YoutubeVisit Us On LinkedinCheck Our FeedVisit Us On Instagram